वो कश्मीरी लड़की क्या मस्त थी

मैं अंकित हूँ और मेरा रंग गोरा है. मैं जम्मू का रहने वाला हूँ. मेरी हाइट 5’11 इंच है जो की काफ़ी अच्छी है और मैं अपनी इस हाइट से काफ़ी ज़्यादा सॅटिस्फाइड हूँ.

आपको मैने थोड़ा बहोत तो अपने बारे मे बता दिया है पर अभी भी बहोत कुछ बाकी है. जो की मैं आपको बताना चाहता हूँ

अब आप सोचेंगे की मैं ये सब शायद आपको कहानी के बीच मे ही बताऊंगा पर ऐसा नही है. क्योकि मेरा मानना ये है की जो भी कुछ हो पहले बता देना चाहिए जिससे उसके बारे मे पता होने पर सब काफ़ी अच्छा लगे और फिर कहानी पड़ने पर भी मज़ा आजाए.

मैने आपको अपना नाम तो बता ही दिया है पर कुछ ऐसी बाते है जो की मैं अब आपको बताने जा रहा हूँ. मैने आज तक बहोत सी लड़कियों साथ सेक्स किया है. जब मैं नया-नया जवान हुआ ही था तब मैं अपने हाथो से ही अपना पानी निकाल लेता था. जिसे हम हैंड-प्रॅक्टीस कहते है.

क्योकि ये हम सब लड़को के लिए नया एक्सपीरियेन्स होता है और इसे करने मे हमे बहोत ही ज़्यादा मज़ा भी आता है. पर ये सब मुझे ज़्यादा देर तक करने की ज़रूरत नही पड़ी. क्योकि मैने ऐसे ही एक लड़की से नयन- मटक्का करलिया जिसकी वजह से वो मुझ से सेट हो गई और फिर मैने उसकी अपनी ज़िंदगी मे पहली बार चुदाई कर डाली.

वैसे तो मैने बहोत सारी लड़कियो के साथ ये सब किया है और खूब मज़े भी लिए है. इसलिए अब मैं आपको अपनी इन्ही कहानी मे से एक कहानी बताने जा रहा हूँ जो की मेरे लिए बहोत ही याद गार कहानी साबित हुई है. और ये सब मैं ऐसे ही नही कह रहा बल्कि ये सब सच मे हुआ है.

तो चलिए अब मैं आपको अपनी कहानी पर ले चलता हूँ. ये बात आज से 2 साल पहले की है. जब मैं 11थ क्लास मे था और काफ़ी मस्ती भी करता था. उस समये की बात तो निराली थी. क्या स्कूल के मज़े आते थे.

More Sexy Stories  बुआ ने अपने दोस्त से मेरी चुदाई कराई

ये सब तो होता ही था पर मैं आपको एक बात बता दूँ की मेरा नाम पोज़िशन होल्डर मे स्टेट पर था. जो की मेरे लिए ये बहोत ही ज़्यादा बड़ी बात थी. और होती भी क्यो ना आख़िरकार ये था ही इतना बड़ा समान.

फिर क्या ताज़, फिर एक दिन मैं ऐसे ही घर पर बैठ कर टीवी पर एक मूवी देख रहा था और साथ ही साथ पॉपकॉर्न खा कर थियेटर वाली फीलिंग ले कर मूवी एंजाय कर रहा था. तभी घर की डोर बेल बजी और मैं पहले तो थोड़ा सोच मे पड़ गया की आख़िरकार अब मेरे घर कौन आया होगा. खैर फिर मैं उठा और डोर खोला तो देखा की एक पोस्टमैन मेरे लिए एक लेटर लिए खड़ा हुआ था.

मैं ये देख कर पहले तो थोड़ा हैरान हुआ की आख़िर कार ये लेटर है किसका वो भी मेरे लिए. पर फिर जब मैने लेटर लिया और फाड़ कर देखा तो जो मैने देखा और पड़ा वो पड़ कर मैं काफ़ी खुश हो गया.

उसमे लिखा था की गवर्नमेंट की तरफ से टॉप 10 पोज़िशन होल्डर को एजुकेशनल तौर पर ले कर जा रहे है. मैं ये जानकार काफ़ी खुश हुआ और पागलो की तरह उछलने लग गया. मुझे अपनी खुशी को कंट्रोल करना बहोत ही मुश्किल हो रहा था पर फिर भी मैने अपनी खुशी को कंट्रोल किया और फटाफट अपना एक बैग तैयार कर लिया.

फिर अगले दिन मैं कश्मीर की पहाड़ियो पर चला गया. जहा पर जाने को कहा था. वाहा पर बहोत सी लड़कियाँ भी आ रखी थी. जिसे देखते ही मेरा मन उन पर लट्टू हो गया था. मुझे उन मे से एक लड़की बहोत ही ज़्यादा पसंद आ गई थी. जिसे मैं अपना बनाना चाहता था.

More Sexy Stories  दीदी की चुदाई की घर पर 2

मैं हर समये उस लड़की को ही देखता रहता था और बस देखता ही रहेता था. पर हाँ दोस्तो अब मैं थोड़ा उस लड़की के बारे मे भी बता देता हूँ. क्योकि फिर आप ये सोचोगे की मैं बस ऐसे ही लड़की के बारे मे बोले जा रहा हूँ, उसके बारे मे कुछ बताने को तो नही रहा. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

उस लड़की का नाम उमा था और वो दिखने मे एक मस्त गोरी-चिकनी थी. जैसे कहते है ना की कश्मीरी लड़किया होती है वो भी बिल्कुल वैसी ही थी. मैं उसे पहली नज़र मे देखा तो वो मुझे तभी ही पसंद आ गई थी. .

मैं उससे बात करना चाहता था पर मेरी इतनी हिम्मत नही हो रही थी की मैं उससे बात कर पाऊ. फिर मैं ऐसे ही वो दिन उसे देख-देख कर निकाल रहा था और फिर एक दिन उसकी फ्रेंड मेरे पास आई और बोली की उमा कह रही है की एक रात के लिए आप होटेल मे ही रुक जाओ.

ये बात सुन कर मैं काफ़ी खुश हुआ और फिर मैने उसे हाँ करदी और होटेल मे रुक गया. रात हुई तो मैने उसका इंतेज़ार किया और करता ही रहा. फिर 1 बजे करीब दरवाजे पर नॉक हुआ तो मैने खोल कर देखा तो वाहा पर उमा थी और वो अपने नाइट सूट मे थी.

मैने उसे अंदर आने को कहा और फिर मैने उसके साथ बैठ कर मूवी देखी. पहले तो वो मेरे पास आने मे डर रही थी पर बाद मे वो मेरे पास रज़ाई मे आ ही गई. अब क्या था अब मैने धीरे से उसके होंठो पर हाथ रखा और वो कुछ नही बोली.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *