विक्की मेरी पहली गर्लफ्रेंड

मैं हू आर्यन और हाडराबाद का रहने वाला जॉब करता हू स्लिम फेर और सिंपल हू. बात कुछ साल पहले की है मेरे लाइफ की फर्स्ट गर्लफ्रेंड उसको विक्की बुलाता था उसका फिगर 32-28-32 था 12 स्टॅंडर्ड की गर्ल थी (एज ओवर 18). मैं एक जॉब करता था वहाँ एक लड़का मेरा दोस्त बना उसकी 3 जीएफ़ थी वो मुझे बेस्ट फ्रेंड कहता और उसने मेरे रिक्वेस्ट पर एक गर्ल का नंबर दिया मैं दूसरो के गर्लफ्रेंड्स को पटाने मे माहिर हू पर कभी डिसअड्वॅंटेज नही लिया करता बस उन गर्ल्स को पताके समझता की ए ग़लत है और उनलॉवेर्स को मिलता. तो उस लड़के की गर्ल को मैने बोहोत मुश्किल से पटाया उसको देखा भी नही मैने . पर उसको ए भरोसा दिलाया की मैं उसको जानता हू एक दिन मैं चर्च गया उसके बुलाने पर वहाँ मैने उसको देखा वो सेक्स बॉम्ब थी मैने उससे बात की फिर ऐसी ही रोज बात होती और वो दोस्ती लास्ट मे चेंज हो गई वो हॉट थी बोहोत हॉट और कहती ओन्ली फ्रेंड्स कुछ भी करो बट नो लव नो मॅरेज फिर मैने एक दिन उसे मेरे गॉडाउन जो मेरे ऑफीस का स्टोर था वहाँ आने को कहा वो स्कूटी ले आई.

मॉर्निंग 12 बजरहेते मैने उसे एक कस्टमर की तरह गॉडाउन लेगया बोहोत लोगो ने देखा बट मेरी रेप्युटेशन बोहोत ज़्यादा अछी थी तो मैने उसे गॉडाउन के अंदर लेगेया और किस किया वो जाना चाहती थी डरी हुई थी मैं नाराज़ हो गया तभी उसने रोमॅन्स करने को बोला मैने उसका टॉप उतारा क्या बूब्स थे ब्राउन कोलॉर्ड निप्पल्स और स्टिफ बूब्स मस्त मेनटेन किया उसने बॉडी को तभी मैने उसके बूब को पकड़ा वो मेरा फर्स्ट टाइम था उसने एक पर्फ्यूम लगाई थी जिसकी वजह से इतना ज़्यादा टेंप्ट हो गया की मैं उसको मेरी और खींच के बूब्स को किस और सक कर रहा था फिर वो बोहोत एग्ज़ाइटेड हो गई उसे डर लग गया की कुछ ग़लत ना हो जाए तभी उस ने मुझे पीछे हटाया और जाने को कहा मैने फिर से उसके बूब्स दबाए वो बोली नो प्रेस्सिंग ओन्ली किस्सिंग फिर कुछ देर बाद वो चली गयी रात को उस ने बताया की इट वाज़ हर फर्स्ट टाइम और उसको कंट्रोल नही हो रहा था उसने दो दिन बाद घर बुलाया उसके पेरेंट्स चेन्नई गये थे 7 डेज़ के लिए उसके भाई के पास घर मे उसकी दीदी थी वो उसके दोस्त के घर गयी थी मैं दोपहर के 2 बजे उसके घर गया.

More Sexy Stories  ट्यूशन टीचर की बेटी की चुदाई

पहले मैने उसको नंगा किया फिर मैं भी न्यूड हो गया डाइरेक्ट्ली उसके वेजाइना पर अपना पेनिस रखा यार बोहोत दर्द हुआ मुझे और उसे भी फर्स्ट टाइम इतना ईज़ी नही होता फिर मैं उसको चोद रहा था वो आ आ आ आ किए जा रही थी फिर मैने उसके बूब्स चूसा और चोदता रहा मुझे बूब्स बोहोत पसंद है औरत की जिस्म की ब्यूटी उसी से मालूम पड़ती है मैं उसको चोदा 15 मिनट तक फिर उसने कहा की वो मुझसे हमेशा सेक्स करेगी पर शादी नही. फिर मैने उसको रोमॅन्स करके एक और बार चोदा इस बार तो जैसे मेरी जान ही निकल गयी वो तो फुल्ली एग्ज़ाइटेड मुझे रुखने बोल रही थी मुझे डर था कहीं पकड़े गये तो वाट लगजाएगी फिर मैं चला गया. फिर कुछ दिन बाद जब मैं ट्रेन मे जाराहा था तब मैने एक और सेक्स बॉम्ब देखा तो प्रिन्सेस थी मैने उसको देखता ही रहा उसके पेरेंट्स के रहने पर भी वो इंप्रेस हो गई जाते जाते चुपकेसे मैने उसके हाथ एक चिठ्ठी थमा दी जो मेरा नंबर था उससे मेरी चॅट होने लगी.

एक दिन मैने कहा की मुझे उसका हाथ पर किस करने को जीचहता है वो नाराज़ हो गई और हमारी कुट्टी कुछ दिन बाद उस ने मुझे कॉल किया पार्क मे हम मिले शाम को मैने उसके हाथ थामा उसने मेरे हाथ को उसके लेग पर रखके प्रेस करने लगी उस दिन मैने ज़्यादा कुछ नही किया वो मुझसे प्यार करने लगी मैने फिर उसको पार्क मे मिला उस दिन उसने सलवार पहन रखी टाइट फिर मैं उसके साइड मे बैठा उसके बूब पर हाथ रखा और दबाने लगा आहिस्ता आहिस्ता फिर उसके ब्रा साइज़ पीरियड्स सब कुछ पूछा 1 हफ्ते बाद हम मिले मेरे ही घर मे कोई नही था सब शादी मे गये थे मैं उसके साइड मे बैठा और बूब्स को पकड़ा दबाया फिर उसकी पर्मिशन लेके उसके घाग्रे मे हाथ डालके बूब्स दबाया वो सिसकी लेने लगी और बोली बोहोत दर्द होरा है दबाओ मत मैने उसको ड्रेस उतरनेको कहा फिर मैं भी नंगा हुआ मैने उसके बूब्स को बच्चो की तरह चूसा जा रहा था फिर मैने उसको लिटाया और फिर अपना लंड उनके चुत पर रखा वो भी वर्जिन थी.

More Sexy Stories  इल्मा की प्यारी चूत चुदाई कहानी

फिर शुरू हुई दास्तान 20 मिनट तक आहिस्ता कभी तेज़ फिर आहिस्ता फिर तेज़ उसे चोदा मैने क्यू की उसको सॅटिस्फाइ करना चाहता था वो मुझे पागल की तरह किस कर रही थी फिर मैं और वो दोनो झड़ गये उस ने कहा की उसकी शादी फिक्स हो गई वो मेरे साथ आना चाहती थी मैने कहा रूकने की कोशिश करो सेटल्ड होये बिना मैं तुम्हे कोई सुख नही दे सकाता फिर वो मान गई और चली गयी कुछ दिन बाद उसकी शादी हो गई और मुझे पता भी नही चला मैं सोचा धोका पर उसका प्यार सच्चा था उसके शादी के 8 मंथ बाद उसने मुझे कॉल किया हम मिले और मैं उसको फिर से सेक्स किया अब भी वो मुझसे खुश है पर कहती है शादी कारलो पर हमारा प्यार कभी नही टूटेगा. फिर मुझे हाडराबाद के एक एमएंसी मे जॉब मिली वहाँ मेरी एक लड़की से दोस्ती हो गई वो तो लस्ट का दूसरा नाम है मानो यार अफ़सरा कोई हीरोइन से कम नही. हमारी चॅट के दूसरे दिन ही मैने उसे सेक्स चॅट के लिए इनिशियियेट उसने की अब समझ गये होंगे की ऐसी भी लड़किया है.

Pages: 1 2