वंध्या की सील जीजा और मकान मालिक ने मिलकर तोड़ी

मुझे मत करो बहुत दर्द हो रहा है। मेरी आंखों से आंसू निकलने लगे, अंकल नहीं माने, इधर सुरेंद्र जीजा भी गान्ड फैला कर जोर से 2-3 धक्का मारे मैं बस रोए जा रही थी, तो सुरेंद्र जीजा मेरा मुंह दबा लिए ताकि चिल्लाऊं या रोऊं तो आवाज बाहर ना जाये, और बोले बंध्या बस 2 मिनट और उनका भी लन्ड पीछे पूरा गान्ड में घुस गया है, तभी सुरेंद्र जीजा बोलें अंकल आप बंध्या की चूंत में लन्ड अंदर बाहर करना शुरू कर दो और मैं इसकी गांड में करता हूं, और फिर दोनों अंदर बाहर एक साथ गांड में और चूंत में अपना लन्ड करने लगे, मुझे बहुत तकलीफ हो रही थी। इतने में अंकल मेरे नीचे चूंत तरफ देखे बोले अरे यार सुरेंद्र मैं कितना लकी हूं, यह बंध्या तो सच बोल रही थी उसको आज तक किसी ने नहीं चोदा, मैं बहुत भाग्यशाली हूं जो आज मैंने बंध्या की सील तोड़ दी,

बंध्या तो सील पैक माल थी, इतनी बदनाम होकर भी आज तक इसकी सील बची रही चूत में गजब की बात है, इसे आज अपनी रंडी बना दिया अब आज से यह फुल रंडी बनने लायक हो गई, इसकी चूत का उदघाटन मैंने कर दिया है। अब यह किसी से भी चुदाई करवा सकती है, आज सुरेंद्र मैंने बंध्या की सील तोड़ दी। और जम के जोश में आकर अपना लन्ड अंदर बाहर करने लगे। करीब 5 से 10 मिनट तक मुझे लगा मैं मर गई मैं बेहोश तक होने लगी, पर करीब 10 मिनट बाद जब सुरेंद्र जीजा और अंकल दोनों मेरे अंदर बाहर अपना लन्ड गांड में और चूंत में करते रहे, तब जाकर पता नहीं कैसे एकदम से पूरा का पूरा दर्द दोनों तरफ चूंत और गांड़ से गायब सा हो गया। यह जादू कैसे हो गया मुझे कुछ समझ नहीं आया, मुझे एकदम से फुल जोश अंदर से आ गया, और मैं आकाश में उड़ने से लगी।

और अंकल को पकड़कर उनके होठों को चूमने लगी और कमर अपने आप उछालने लगी, अपने आप ही पता नहीं यह कैसे हो गया, तभी जीजा बोले बंध्या बता साली और डालूं तेरी गांड में, मैं बोली हां जीजा और घुसा दो, पूरा का पूरा लन्ड मेरी गांड में अपना डालो और जोर जोर से अंदर बाहर करो, तभी अंकल को मैं बिल्कुल कस के पकड़ ली और उनके होंठों को चूसने लगी और शिव शंकर अंकल को बोली,अंकल आज मुझे जमके करो पूरा का पूरा लन्ड डालो अंदर तक, आप की रंडी बन गयी हूं, मैं आज बहुत चुदासी हूं और ज्यादा जोर जोर से चोदो, और अपने आप मेरे मुंह से बहुत गंदी गंदी बातें निकलने लगी , वो सब बातें जो मैंने सेक्स की किताब में पढ़ी थी वही सब बोलने लगी। अंकल और सुरेंद्र जीजा जोश में पूरा लन्ड अंदर करते और फिर बाहर निकालते मेरी चूत और गांड में से फच फच फच फच की आवाज निकलने लगी पूरा रूम में फच फच गुंजने लगी।

More Sexy Stories  बीवी की हॉट साली की हॉट चुदाई

तभी अंकल दोनों हाथों से दूध पकड़ कर पूरी ताकत से दबाते हुए बोले साली बंध्या रंडी तू पागल पन है तेरी चूत तो कयामत है और जन्नत भी है। बोल साली कुतिया कितना बड़ा लन्ड चाहिए तेरी चूंत को लगता है हम दोनों के लौड़े छोटे पड़ गये। मेरे मुंह से अपने आप निकल गया कि अंकल जितने बड़े लन्ड डलवा सकता हो डलवा ले सब घुसवा लूंगी सच में तुम दोनों के लन्ड मुझे छोटे लग रहे हैं। फिर भी जोर से चोदो तुम दोनों कुत्ते पूरा का पूरा अपना अपना लन्ड मेरी गान्ड और चूंत में घुसा दो फाड़ दो मेरी चूंत और गांड़ दोनों अगर दम है, मैंने जो भी सेक्सी कहानियों में पढ़ा था वो सब अपने आप मेरे मुंह से निकलने लगा, अब मैंने जीजा को बोला साले जीजा गांडू और डाल अपना पूरा लन्ड मेरी गांड में बहुत मर्द बनता था कि तेरी चीख निकाल दूंगा मैं यही बोलता था तू कहां गया वो तेरा चीख निकालने वाला लन्ड फाड़ अब मेरी गान्ड कमीना कुत्ता जीजा, बहुत तड़पता था मुझे चोदने के लिए अब तेरे साथ बिस्तर में लेटी हूं निकाल ले अपने सब अरमान देख तेरी बंध्या हूं। इतना सुनते ही सुरेंद्र जीजा एक हांथ से मेरी गर्दन पकड़ कर दूसरे हाथ से मेरे बाल पकड़ कर पूरे जोर से मेरी गांड में अपना लन्ड अन्दर घुसाने लगे, अपनी कमर को मेरी गान्ड में जोर से पूरी ताकत से जीजा जोर देकर धक्का देने लगे, जिससे अब हर झटके में मेरे मुंह से उंहहह ऊंहहह आहहहह वोहहहह निकल जाता था,

More Sexy Stories  Hot Indian Aunty ko maa banaya

अब सुरेंद्र जीजा गजब की चुदाई मेरे गांड की करने लगे। सुरेंद्र जीजा और मकान मालिक शिव शंकर अंकल दोनों के द्वारा करीब 20 मिनट लगातार दोनों तरफ गांड और चूंत में एक साथ चोदने के बाद अचानक जीजा बहुत तेजी से अपना लन्ड मेरी गांड में अंदर बाहर करने जमकर रगड़ने लगे लगे, और बोले बंध्या मेरी सेक्सी रंडी तूने तो जन्नत से भी ज्यादा मजा दिया क्या सेक्सी हाट माल है रे बहुत ही गरम लड़की है तू, है मेरी बंध्या रंडी मेरी सेक्सी जान अब झड़ने वाला हूं मेरे लन्ड का रस कहां लोगी? मुंह में लोगी या गांड में, मैं बोली मुझे कुछ नहीं पता जीजा यह मेरी लाइफ की पहली चुदाई है, मुझे कुछ भी नहीं पता कि कहां लन्ड रस लेना चाहिए, इसलिए आप बोलो, जीजा बोले बंध्या तुम इसे अपनी गांड में ही लो बहुत मजा आएगा, मैं बोली ठीक है जीजा तुम इस लन्ड रस को मेरी गांड में ही डाल दो भर दो, तभी जीजा बहुत जोर से अकड़ गए और मुझे कस के पकड़ लिए मेरे बालों को खींच कर बोले, ले साली कुत्तिया मेरे लन्ड का रस और बहुत तेजी से गरम-गरम उनके लन्ड का रस मेरी गांड में उन्होंने भर दिया।

Pages: 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14