स्टूडेंट के पापा ने की चुदाई

हेलो फ्रेंड्स, कैसे है आप सब, आज मैं आपको जो स्टोरी बताने वाला हू वो मेरी एक फ्रेंड की देसी सेक्स स्टोरी है जिनका नाम सुजाता है, तो सुनिए उनकी कहानी उनकी ज़ुबानी.

मैं 42 की हूँ, डाइवोर्स, अपनी पेरेंट्स के साथ रहती हूँ,जबलपुर मे,पर मेरी जो इन्सिडेंट हुई थी, तब मैं बिहार मे रह रही थी,वहाँ एक विलेज के गवर्नमेंट स्कूल मे पढ़ाती थी, बिहार मे मैं बिल्कुल अकेली रहती थी, वही के एक बच्चे के पापा ने मेरी एक महीने तक मेरी साथ यॉन संबंध बनाए क्यूकी उसकी बीवी प्रेग्नेंट थी और अपनी मयके गई हुई थी.

मैं एक प्राइवेट स्कूल मे पढ़ाती थी, वो मेरी स्कूल के एक बच्ची के पिता थे जिसका नाम आकाँशा था, वो 6 साल की बच्ची थी, मैं ज़्यादा गोरी नही हूँ, लंबी हूँ, और थोड़ी मोटी हूँ, मेरी हाइट 5फुट सेवेन इंच है, मेरी फिगर 38-36-42 है, मेरे बूब्स इतने बड़े हैं की कोई भी उन्हे देखे तो लट्तू हो जायगा और दबाने को देखेंगा, वो आदमी बिल्कुल सांवला था और गंजा भी, पर बिल्कुल फिट था क्यूकी वो एक किसान था जो दिन भर खेत मे काम करता था.

मैं जहाँ पढ़ाती थी वो बिल्कुल देहाती जगह थी, गाओं था, वो एक प्राइवेट स्कूल मैं.

स्कूल की छुट्टी शाम को 6 बजे होती थी, मैं जिस रास्ते से घर जाती थी वो एक कच्ची सड़क थी, उस रास्ते से बोह्त कम लोग जाते थे क्यू की सरकार ने एक नयी सड़क बना दी थी.

शाम को उस कच्चे सड़क से कोई भी नही जाता था,रास्ते के दोनो,तरफ बस घने जंगल और बड़ी बड़ी घनी झाड़िया थी, वो जंगल काफ़ी बड़ा था और दोनो तरफ फैला हुआ था, वो किसान रोज अपनी बेटी को स्कूल से लेने आता था और उसी कच्चे सड़क से जाता था.

मेरे पीछे पीछे, वो रोज मुझे मिलने लगा वाहा, धीरे धीरे फिर वो मुझसे बाते करने लगा, अपनी बेटी के पढ़ाई की और इधर उधर की.उसने बताया था की उसकी बीवी प्रेग्नेंट है.

More Sexy Stories  अंजू भाभी की चूत का दीवाना

वो काई बार मेरी तारीफ करता था, कहता था की मैं बोह्त सुंदर हूँ, मैं ये सब सुनकर खुश हो जाती थी, क्यूकी इससे पहले किसी मर्द ने मेरी इतनी तारीफ नही की, फिर एक दिन उसकी बेटी स्कूल नही आई थी.

फिर जब शाम को मैं घर जा रही थी तब वो उसी रास्ते से आ रहा था, मैने उससे पूछा उसकी बेटी के बारे मे तो वो बताया की उसकी बेटी उसकी बीवी के साथ अपने नाना नानी के यहाँ गई हुई है.

उस समय नवेंबर मंथ चल रहा था इसलिए अंधेरा भी बोह्त जल्दी हो जाता था, उपर से जंगल जैसी जगह, वो मेरे साथ ही चल रहा था, जब हम उस कच्ची सड़क से जा रहे थे तो मेरी फाइल मेरे हाथो से गिर गई, मैं उसे उठाने के लिए झुकी, मैं फाइल से गिरे पेपर उठा रही थी तभी उसने मेरी आस को पकड़ के दबा दिया, मैं जल्दी से खड़ी हो गई, और देख रही थी की कोई आ तो नही रहा, फिर मैं उसे बोली की ये आपने क्या किया.

तो वो बोले की माफ़ करना मैं आपको बोहोत पसंद करता हू, आप बोहोत सुंदर लगती हो तो मैं कंट्रोल नही कर पाया, मैं बोली की मैं मना नही कर रही पर अगर कोई देख लेता तो, ये सुनके वो खुश हो गया और उसकी हिम्मत और बढ़ गई और फिर वो मेरा हाथ पकड़ के मुझे जंगल के काफ़ी अंदर ले गया,और वाहा उगी लंबी घनी घास और झाड़ियो के पीछे ले गया.

वाहा पहुच कर उसने मेरी साड़ी उतारी और उसे घास के उपर बिछा दी, फिर वो मुझे पागलो की तरह चूमने लगा, और अपनी धोती कुर्ता उतार के साइड मे रख दिया और मुझे घास के उपर लेटा दिया, और मेरी उपर चड़के मुझे पागलो की तरह चूमने लगा,10 मिनट तक चूमने के बाद उसने मेरी ब्लाउस और ब्रा भी उतार दी और ज़ोर ज़ोर से दूध चूसने लगा और दबाने लगा, फिर उसने मेरा पेटिकोट उतारा, उन दीनो मैं पैंटी नही पहनती थी.

More Sexy Stories  सुप्रिया की चुदाई की दास्तान हिंदी में

फिर उसने भी अपनी कच्छा उतार दिया, मैं तो उसके लॅंड को देख के खुश हो गई थी, उसका लॅंड 8इंच लंबा और 2.5 इंच मोटा था, फिर उसने मेरी पूरी जिस्म को अपने चुम्बणो से धक दिया फिर मेरी चूत को पागलो की तरह चूसने और खाने लगा, मैं सिसकिया भरने लगी और उसको अपनी टाँगो के बीच दबा लिया, मुझे इतना मज़ा कभी नही आया था.

फिर वो मेरी टाँगो को फैला के मेरे उपर लेट गया और अपना लन्ड़ मेरी चूत पर रगड़ने लगा, मैं तो जैसे पागल ही होये जा रही थी, फिर उसने एकदम पुश करा और उसका पूरा लॅंड मेरी चुत मे समा गया, पहले वो धीरे धीरे चोद रहा था, फिर एकदम से वो मुझे बोहोत तेज चोदने लगा, फिर उसने मुझे अपनी गोद मे उठाया और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा था.

15 मिनट बाद उसने मुझे घोड़ी बना के पीछे से चोदा, हम दोनो, उन उँची झाड़ियो के बीच मे थे, इस लिए कोई भी हमे नही देख सकता था,25-30 मिनट तक चोदने के बाद उसने अपनी पानी की बौछार मेरे अंदर ही छोड़ दी, मैं भी थक गई थी और वही लेट गयी, पर वो नही थका था 5 मिनट उसका लंड फिर से खड़ा हो गया उसने फिर अपना लंड मुझे मूह मे दिया और चुस्वाया.

5 मिनट तक लंड चूसने के बाद उसने मुझे उल्टा घुमाया और मेरी गॅंड मे उंगली डालने लगा, फिर उसने थोड़ा थूक मेरी गॅंड पर लगाया और अपना लॅंड मेरी गॅंड पर सेट करा और पुश करा, मैं दर्द से चिल्ला उठी क्यो की मैने पहले कभी अपनी गॅंड नही मरवाई थी, वो मुझे बे रहमी से चोदने लगा.

Pages: 1 2