सेक्सी एयर होस्टेस्स की कामुकता

सभी लंड धारियों को मेरा लंडवत नमस्कार और चूत की मल्लिकाओं की चूत में उंगली करते हुए नमस्कार। के माध्यम से आप सभी को अपनी स्टोरी सुना रहा हूँ। मुझे यकीन है की मेरी सेक्सी और कामुक स्टोरी पढकर सभी लड़को के लंड खड़े हो जाएगे और सभी चूतवालियों की गुलाबी चूत अपना रस जरुर छोड़ देगी। हेलो दोस्तो, मेरा नाम पुनीत है और आज मैं आपको अपनी एक पहली चुदाई सेक्सी स्टोरी बताने जा रा हूँ जो की मेरी ही कहानी है जिसको पढ़ कर आपको बहोत मज़ा आएगा और मैं ये पक्के दावे से कह सकता हूँ की लंड का तो आज बॅंड बज जाएगा.

दोस्तो, मेरा नाम पुनीत है और मैं देल्ही शहर का रहने वाला हूँ, मेरी हाइट 5’8 इंच है और मैं दिखने मे गुड-लुकिंग हूँ और लंड की बात करो तो मेरा लंड 6 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है.

दोस्तो, मेरी ये कहानी आज से कुछ समय पहले की है जब मैं साउथ देल्ही से कोर्स कर रा हूँ और डेली वाहा पर जाता हूँ.

एक दिन की बात है, मैं आराम से अपने मज़े मे इयरफोन्स कानो मे लगा कर सॉंग्स सुनते हुए, फोन चलाते हुए रास्ते से निकल रा था की मुझसे अचानक कोई जा टकराया तो मैने देखा की वो एक लड़की थी जिसने जीन्स टॉप डाल रखी थी और उसको देखते ही मेरी आँखे उस पर लट्तू हो गई की तभी मैने देखा की मेरे टकरा जाने से उसकी सारी बुक्स नीचे गिर गई है.

अब मैने भी उसकी हेल्प करने की सोची और उसे देखते हुए मैं भी नीचे बैठ कर उसकी बुक्स उठाने मे हेल्प करने लग गया और धीरे-धीरे उसको सारी बुक्स पकड़ा दी. फिर हम दोनो खड़े हुए और फिर मैने उससे सॉरी कहा तो उसने भी मुझे सॉरी कह दिया और फिर हम एक दूसरे को देख कर मुस्कुराते हुए आगे चल दिए.

फिर उस दिन जब मैने उसे देखा तो उसकी तस्वीर मेरी आँखो मे समा गई और फिर मेरा मन उसे मिलने को दुबारा किया तो मैं सुबह उसी रास्ते से ही चल पड़ा. आज फिर वो मुझे दिखी तो मैने उसे देख कर स्माइल दी तो उसने भी मुझे देख कर स्माइल देदि और फिर कुछ दिन ऐसे ही मैं उसे ऐसे देख-देख कर स्माइल देता रा और फिर वो भी मुझे देख कर ऐसे ही स्माइल करती रही.

More Sexy Stories  बड़ा सा लंड इंटरनेट से मिला

मैं उसे जब भी देखता तो मेरा मन उसकी तरफ अट्रॅक्ट होने लग जाता और फिर मैने एक दिन हार कर उसे रोकते हुए हेलो कहा तो वो भी रुक गई और मुझसे भी हेलो बोली. मैने जैसे ही उसकी आवाज़ सुनी तो मैं तो उसकी आवाज़ का दीवाना हो गया क्योकि उसकी आवाज़ तो शहद से भी ज़्यादा रसीली थी.

फिर मैने उसे ऐसे ही पूछा तो उसने अपना नाम रेखा बताया और फिर उसने बताया की वो साउथ देल्ही से एयर होस्टेस्स की कोचैंग ले रहि है और वही पर जॉब करती है. इसी तरह मैने भी उन्हे बताया की मैं साउत देल्ही से कोचैंग ले रा हूँ और फिर ऐसे ही हमारी बात शुरू हो गई.

धीरे धीरे मैने उसको नंबर भी देदिया और हुमारी बात फोन पर भी होने लग गई और फिर हम एक दूसरे से मिलने भी लग गये और खूब बाते करने लग गये और फिर एक दिन रेखा का फोन आया की आज मेरी कंपनी से जल्दी छुट्टी होज़ायगी तो मुझे लेने आजाना हम कही घूमने जाएँगे तो मैने उसकी बात मान ली और फिर मैं अपनी बाइक ले कर उसकी कंपनी के यहा बाहर पहुच गया और उसका वेट करने लग गया.

मैं कुछ देर ऐसे ही वेट करता रा की तभी रेखा बाहर आई तो मैं उसे देखता ही रह गया क्योकि वो एयर होस्टेस्स की ड्रेस मे थी और उसकी पतली गोरी- गोरी टाँगे खूब अछि लग रही थी और फिर मैने उसे बाइक पर बिठाया और हम वाहा से चल पड़े. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

More Sexy Stories  बाय्फ्रेंड के बड़े भाई ने चोदा

रास्ते मे मैने उसे पूछा तो उसने कहा की मॉल चलते है तो मैं उसे मॉल मे ले गया और फिर मैं वाहा पर इसके साथ घूमने लग गया और उसको वाहा पर सारे देख रहे थे और देखे भी क्यो ना आख़िर वो एयर होस्टेस की ड्रेस मे थी और ये सब देख कर फिर मैं उसे पार्क मे ले गया जहा पर बहोत सारे कपल्स थे और फिर हम दोनो ऐसे ही उनके बीच मे से निकलते हुए बाते करते हुए जा रहे थे की वाहा एक कपल एक दूसरे को किस कर रहे थे तो रेखा ने मुझसे पूछा तो मैने कहा की ये सब प्यार कर रहे है.

अब मुझे ऐसे ही उसे देखते ही मोके पर चोका मरते हुए उसे प्रापोज़ कर दिया तो वो चुप रही और फिर कुछ देर बाद बोली की घर चलो तो मैं और रेखा चुप चाप घर आ गये और मुझे तब ऐसे लगा की मैने कुछ ग़लत कह दिया है तो मैने उससे सॉरी कहा और फिर मैं भी घर को आ गया.

उसी रात करीब 1:30 बजे रेखा का फोन आया तो मैने उसे आज के लिए सॉरी कहा तो वो बोली की अगर मैं नाराज़ होती तो फोन ही क्यो करती.

अब मैं समझ गया की वो भी प्यार के लिए तैयार है और फिर उस रात मैने 2 घंटे उससे बात करी और फिर हमने अगले दिन मिलने का प्लान बनाया
अगले दिन जब वो मिली तो मुस्कुराते हुए आँखे नीचे करके खड़ी रही और फिर मेरे साथ बाइक पर बैठ गई तो हमने एक दूसरे से खूब बात करी और फिर हम उसी मॉल मे चले गये और फिर वाहा काफ़ी देर घूम कर हम उसी पार्क मे चले गये.

Pages: 1 2