सीनियर के साथ सेक्स ओर प्यार

हेलो आदाब नमश्कार टू  रीडर्स, ये देसी सेक्स स्टोरीस मेरे सेकेंड टाइम सेक्स की स्टोरी है, पिछली स्टोरी पर ज़्यादा मैल नही आए मुझे जिस रीडर ने मुझे मैल किया मैने सब का आन्सर दिया, रीडर्स से रिक्वेस्ट है की मुझे ज़्यादा मैल करे.

इस स्टोरी मे मैने थोड़ी वैसी लॅंग्वेज यूज़ करी जैसी आप चाहते हो पिच्छली स्टोरी मे एक रीडर ने बोला था मुझे, ऐसा लिखते हुए अजीब सा लग रा है बट आपके मज़े के लिए ज़रूर लिखूँगी.

हमारा रीलेशन अच्छा चल रा था जितना टाइम सर के साथ गुज़रता उतना ही मज़ा आता उनके साथ.सर इतने साधारण और अच्छे इंसान है की बस उनका साथ छोडने का मन ही नही होता कभी, खैर अब स्टोरी पर आती हू.

बात उस टाइम की हैं जब सेकेंड ईयर स्टार्ट हुआ था क्लासेस ठीक से चल नही रही थी तो काफ़ी टाइम साथ रहने का मौका मिलता, फिर सर मुझे अपने रूम पर ले गये, हम दोनो बेड पर लेट गये, कुछ देर साथ मे लेटने के बाद मैं सर के उपर लेट गई फिर बतो का दौर शुरू हुआ ये वक़्त जिंदगी मे सबसे ज़्यादा याद आने वाला वक़्त था क्यूंकी मेरा पहला प्यार और उनके साथ गुज़रता इस तरह का वक़्त हक़ीकत मे दिल को सुकून देने वाला था.

मैं एक मिड्ल क्लास फॅमिली से हू फिर भी सर के आने से जिंदगी से सॅटिस्फाइ हो गई हू कुछ ज़्यादा की चाह अब बाकी नही, बतो के बीच मे सर को किस करती कुछ टाइम ऐसे ही चलता रा, अब मुझे खुद पर काबू पाना मुश्किल हो रा था शायद ये बात सर भी समझ गये थे.

अब एक दम से सर ने मुझे अपने नीचे ले लिया और मेरी गर्दन से होते हुए क्लीवेज तक किस कर रहे थे बड़े प्यार और इतमीनान से सर मुझे किस कर रहे थे उनकी ये हरकत मुझे खुद पर कंट्रोल खोने को मजबूर कर रही थी.

More Sexy Stories  साली को छोड़ना सिखाया और रात भर चोदा

अब सर ने मेरा टॉप उतार दिया नीचे से ब्रा भी उतार दी अब मैं सिर्फ़ जीन्स मे थी, मैने सर से बोला

मैं-आप भी उतारो ना.

सर ने हा मे सिर हिलाते हुए शर्ट उतार दी…

अब हम बेड से उठे और चैर पर बैठ गये मैं सर के उपर बैठ गई थी सर मेरे बूब्स को चूस रहे थे और उनका एक हाथ मेरी पीठ को सहला रा था, सर की हर एक मूव्मेंट मुझे पागल कर रही थी कुछ देर सर ने बारी बारी मेरे बूब्स चूसे फिर सर ने मुझे खड़ा किया और नीचे बैठ कर मेरी जीन्स उतारी और मेरी थाइस को किस करने लगे मेरे बेल्ली और फिर सर ने मुझे उल्टा घुमा दिया मेरी पीठ उनकी तरफ़ थी अब.

और मैने उनके नर्म होंटो को अपने हिप्स के उपर महसूस किया सर वाहा किस नही कर रहे थे बस अपने होंटो को मेरी बॅक पर घुमा रहे थे हर पल सुकून और मज़ा दुगना होता जा रा था ये सब के साथ होता हैं या मेरे साथ ही हो रा था पता नही या ये सिर्फ़ सर का कमाल था.

फिर सर ने अपनी पैंट उतार दी उनका लंड सांड की तरह उनके अंडरवेर मे दिख रा था सर ने अपना लंड निकाला और मेरे हाथ मे दे कर चूसने के लिए बोले मुझे अजीब सा लगा बट सर ने कुछ पहली बार ही बोला था तो भी मैने नही लिया था इसलिए मर्ज़ी ना मर्ज़ी इस बार करना था.

तो पहले थोड़ा देर उसे सहलाया फिर मूह मे लेने की कोशिश की मोटा होने की वजा से ठीक से अंदर नही जा रा था उनुसुअल लग रा था सब कुछ, लेकिन मुझे ये सब करना पड़ा सर की खुशी के लिए फिर सर ने मेरा सिर हाथ मे पकड़ा और लंड को अंदर बाहर करने लगे.

More Sexy Stories  फर्स्ट सेक्स पहले प्यार के साथ

लंड अंदर तक पूरा डालते फिर निकालते कुछ टाइम मे मेरी हालत खराब हो गई मुझे सांस लेने मे प्राब्लम होने लगी थी मेरी आँखो से पानी निकलने लगा था, उसके बाद सर ने मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरे पिछे लेट गये हम दोनो करवट लेकर लेटे हुए थे.

फिर सर ने मेरी टाँग उठाई और लंड को मेरी वर्जिन पर रखा और धीरे धीरे अंदर कर दिया एक अजीब सा दर्द हुआ मुझे लेकिन मज़ा था फिर सर ने आहिस्ता आहिस्ता लंड आगे पिछे करना शुरू किया हल्के दर्द के साथ मज़ा भी आ रा था.

थोड़ी देर इसी पोज़िशन मे सेक्स करने के बाद सर ने मुझे डॉगी स्टाइल मे सेक्स किया इस स्टाइल मे दर्द हो रा था मुझे, मैने सर से बोला की पहले वाली पोज़िशन मे सेक्स करे अभी तक ट्राइ की हुई 3 पोज़िशन मे वही मज़ेदार थी क्यूंकी एक तो उस पोज़िशन मे लंड पूरा अंदर नही जाता और दर्द भी थोड़ा कम होता हैं, सेक्स करते हुए 30 मिनट हो गये सर का इजेकुलेशन नही हो रा था

मैने पुछा
मैं- कितनी देर और लगेगी

सर- ये मेरे उपर डिपेंड हैं, मैं जब चाहू झड़ जाउ

मैं- पिल तो नही खाई आपने

सर- इतना भी भरोसा नही है

मैं-अगर ऐसा है तो अभी इज़ेक्ट करो

मेरे कहने के 2 मिनट बाद ही सिर का इजेकुलेशन हो गया पिच्छली बार से ज़्यादा मज़ा आया मुझे लेकिन सर का लंड बोहोत बड़ा है और उपर से उनका उनकी मर्ज़ी से इजेकुलेशन होना ये थोड़ा अजीब लगा मुझे मैने अपनी फ्रेंड से इस बारे मे बात की तो सबसे बड़ा लंड सर का और ये ऐसा पहला केस हम सुन रहे थे की कोई लड़का अपनी मर्ज़ी से एजेक्ट हो.

Pages: 1 2