स्कूल गर्ल प्रियंका की कहानी

School Girl Priyanka Ki Kahani हेलो दोस्तो तो फिर हम मिल गये पिछली कहानी की तरह ये कहानी भी पसन्द आए एसी ही आशा है खैर पिछली स्टोरी के बाद बहोत मेल्स आए और कुछ आछे लोगो के कुछ बुरे आछे लोगो से बात करके अछा लगा बुरे लोगो को ब्लॉक करके सुकून मिला ये कहानी एक ऐसेही रीडर की है.. सेक्सी स्कूल गर्ल

उसका नाम प्रियंका है और उसकी शादी को 2 साल हो गये है वो हरियाणा की रहने वाली है ये उसके पहले सेक्स अड्वेंचर के बारे मे है जो एक लेज़्बीयन एक्सपिरियन्स था कुछ लोग लेज़्बीयन को बुरा मानते है और कुछ लोग अछा मैं बस इतना बोलुगी अछा बुरा सोचे बिना भी इस स्टोरी को पढ़कर मज़े लीजिए और अपने मैल और मेसेज ज़रूर भेजे.

बात 2 साल पहले की है जब प्रियंका 12थ मे थी और उसने पर्सनल ट्यूशन के लिए एक भाभी के पास जाना स्टार्ट किया भाभी की शादी को 5 साल हो गये थे और उनका पति दूसरे शहर मे जॉब करता था वो अकेली वडोदरा मे रहती थी शुरू मे तो प्रियंका को बहोत अछा लगा उनसे पढ़ना धीरे धीरे वो दोनो आछे दोस्त बन गये प्रियंका दिखने मे गोरी थी.

पर उसकी चब्बी बॉडी थी इसलिए कोई लड़का उसके आस पास भी नही घूमता था उसके ज़्यादा तर फ्रेंड्स के जिएफ्/बीएफ थे इसलिए मन उसका भी था और शायद इसी उदासी को उसकी ट्यूशन वाली भाभी ने देख लिए वो खुद थी तो पति से दूर रहकर एसा ही महसूस कर रही थी उन्होने सोचा क्यू ना इसके ही साथ थोड़ी शरारत की जाए.

भाभी का नाम प्रीति था उनकी उमर 27 साल थी सावला रंग 32-28-36 का फिगर 5’6” हाइट नेक्स्ट जब प्रियंका आई तो उन्होने साड़ी पहन रखी थी बॅकलेस एंड डीप नेक ब्लाउस उसमे से उनका क्लीवेज दिख रहा था थोड़ी देर पढ़ने के बाद उन्होने प्रियंका से पूछा वो कैसी लग रही है.

More Sexy Stories  चुदाई की कहानी फिल्म थियेटर मे

तो प्रियंका ने उदास मन से ही कहा अछी लग रही हो इस पर प्रीति ने बोला आछे से देख यार फिर बता प्रियंका ने बोला सच्ची अछी लग रही हो प्रीति ने दुखी मन से रेप्लाय किया सेक्सी लग रही होती तो कोई बात भी थी क्या पता कोई लड़का उनकी तरफ भी देख लेता.

प्रियंका – इतनी अछी तो हो सब देखते ही होगे मेरी तरह नही

प्रीति – क्या खराबी है तुम मे इतनी अछी तो हो

प्रियंका – रहने दो आज कल किसी को मोटी लड़की नही पसंद सबको ज़ीरो फिगर पसंद है

प्रीति – मुझे तो पसंद है इतनी अछी तो लगती हो सब कुछ तो है तुम्हारे पास जो एक लड़के को चाहिए होता है वो सब करने के लिए

प्रियंका – क्या सब करने के लिए

प्रीति – वही सब जिसके लिए सब बीएफ बनाती हैं

प्रियंका – मुझे नही पता क्या बोल रही हो

प्रीति – अरे सेक्स सब सेक्स के लिए ही तो बीएफ बनाती है

प्रियंका – नही मैने एसा कभी नही सोचा मुझे सेक्स के लिए नही चाहिए

प्रीति – एसा सबको लगता है पर लास्ट मे सेक्स हो ही जाता है कितना भी खुद को रोक लो.

प्रियंका – आपका शादी से पहले कोई बीएफ था

प्रीति – हा एक था हमने सेक्स भी किया था

प्रियंका का मूह खुला रह गया वो तो उन्हे बहोत संस्कारी समझ रही थी ऐसे ही थोड़ी देर बाद ट्यूशन का टाइम ख़त्म हो गया और वो चली गयी ऐसे ही नेक्स्ट डे फिर प्रीति ने सेक्स की बात छेड़ दी और प्रियंका से उसके ब्रेस्ट का साइज़ पूछ लिया इस पर पहले तो प्रियंका शर्मा गयी पर प्रीति के बार बार छेड़ने पे वो बोली

प्रियंका – मेरे कहा ब्रेस्ट देखो देखती ही नही

More Sexy Stories  बुआ ने अपने दोस्त से मेरी चुदाई कराई

प्रीति – अछा दिखो तो कहा नही दिखती.. आज प्रीति ने सोच लिया था सेक्स का आगाज़ कर ही देगी

प्रियंका – क्या बोलती हो भाभी दिखाओ मतलब्

प्रीति अंदर से एक मेषरिंग टेप ले आई और उसने प्रियंका को खड़ा होने को बोला और मेजर करने लगी 35.2 के बूब्स थे प्रियंका के पर शायद उसने इस बात पे कभी ध्यान नही दिया उसे बस अपना मोटापन ही दिखता था.

प्रीति ने सलवार के अप्पर से ही हाथ लगा के उसके दूध को थोड़ा अप्पर करके बोली देखा कितनी बड़ी है प्रीति शर्मा के पीछे हट गयी और अपनी बुक्स लेकर वाहा से चली गयी शायद किसी और का उसके दूध को छूना पसंद नही आया पर कही ना कही उसके दिल मे आज एक अजीब सी एग्ज़ाइट्मेंट हो ही गयी थी.

वो नही जानती थी उसके साथ अब क्या होने वाला है नेक्स्ट डे वो जब वाहा पहुचि तो प्रीति ने बस पढ़ाई की बाते की और उसे घर भेज दिया प्रियंका उसके बदले रूप से परेशान हो गयी आख़िर एक वही तो थी जिससे वो खुल के बाते कर सकती थी ऐसे ही 3-4 दिन बाद प्रियंका ने बोल ही दिया एसा क्यू कर रही हो मुझसे बात क्यू नही करती.

प्रीति – तुम यहा पढ़ने आती हो इसलिए सिर्फ़ पढ़ने की बाते

प्रियंका – ऐसा मत बोलो एक तुम ही तो हो जिससे मैं खुल के बाते कर सकती हू

प्रीति – फिर उस दिन भाग क्यू गयी थी

प्रियंका – किसी ने कभी मुझे ऐसे टच नही किया था इसलिए

प्रीति – तो फिर जाओ अब रुक के क्या करना है

प्रियंका – आप क्या चाहती हो बताओ वैसा ही होगा पर ऐसे मत भेजो

प्रीति – तो फिर जैसा मैं बोलू वैसा ही करना कल एक घंटे जल्दी आ जाना

Pages: 1 2 3