कॉलेज गर्ल सविता की हॉट चुदाई

हेलो दोस्तो, केसे हो आप सब! आज कल के समय मे सेक्स के इलावा कुछ ओर नही है. हर जगह बस सेक्स का भूत सवार है. हर जगह कोई लड़की देखी नही की बस चोदने के ख्याल मन मे उमड़ने लग जाते है. और ये ग़लत भी नही है और काई जगह ग़लत भी है.

ग़लत इसलिए नही है की आज कल हमारा टाइम ही ऐसा है जिससे हम खुद को रोक नही पाते है. और दूसरा ग़लत इसलिए है क्योकि इसके चलते काफ़ी रेप केसस आ रहे थे. जिससे आने वाले समये मे लड़कियों को फिर से डर डर के जीना पड़ेगा.

दोस्तो, ये तो थी सेक्स के बारे बात. अब मैं आपको अपनी एक सच्ची घटना बताने जा रा हूँ. जो की बहोत मस्त है और हर लड़के की दिल की चाहत होती है. वैसे तो चाहहते बहोत सारी होती है पर इन सारी चाहततो मे से सिर्फ़ और सिर्फ़ सेक्स की चाहत ही पूरी होती है.
अब मैं आपका ज़्यादा समये ना लेते हुए सीधा कहानी पर आता हूँ. पर उससे पहले मैं आपको अपने बारे मे बता देता हूँ. मेरा नाम रवि है और मेरी हाइट 6 फुट है. मैं दिखने मे काफ़ी स्मार्ट हूँ और मेरे लंड का साइज़ भी 8 इंच लंबा है.

वैसे दोस्तो मेरी शादी हो रखी है. और मेरी शादी को हुए भी 2 साल हो चुके है. पर मेरी बीवी इतनी सुंदर नही है की मेरा मान उसे देखते ही पागल हो जाए.

बेशक मेरी शादी को अभी 2 साल ही हुए है पर मेरा अभी भी उसे छोड़ने का बिल्कुल मान नही करता है. वो है ही दिखने मे ऐसी की मेरा लंड खड़ा ही नही हो पता है. मैने उससे शादी भी प्रेशर मे आ कर करी थी वरना आज मेरी बीवी मैं आपको अपने काम के बारे मे बताना तो भूल ही गया. आक्च्युयली मैं एक कॉलेज मे प्रोफेसर हूँ. और बच्चों को पड़ाता हूँ. मेरी पढ़ाई चीज सबको अच्छे से समज आता है. और अब तक मेरा कॉलेज मे स्टडी के मॅटर मे यही रिज़ल्ट रा है की आज तक मेरा रेकॉर्ड सबसे उपर है.

More Sexy Stories  फ़ेसबुक से फार्महाउस मे चुदाई

कॉलेज मे एक क्लास मे एक बहोत ही सुंदर लड़की है. जिसका नाम सविता है. और वो दिखने मे इतनी ज़्यादा खूबसूरत है की हर कोई लड़का उस पर मरता है. वो ब्यूटी कॉंपिटेशन मे 3 बार जीत चुकी है. और उसका हुसान और फिगर देख कर कोई ये नही कह सकता की मैं इसे चोदना नही चाहता हूँ.

मैं भी बीवी से तो अपनी प्यास नही भुजा सका इसलिए मैने सविता को चोदने का प्लान बनाया. सविता 20 साल की है और खूबसूरती मे तो किसी अप्सरा से कम नही है. एक दम सुंदर और सेक्सी होती.

मैं जब उसे पड़ाता तो जान बुज कर पेन नीचे गिरा देता जिसे वो उठती तो मैं उसके बूब्स की एक नज़र मार लेता. वैसे सविता पड़ायी मे कमजोर थी तो मैने अपना हुकुम का इक्का यही पर चलाने का सोचा.

मैने सबको कह दिया की जो जिस मे वीक है उसका मैं एग्ज़ॅम लूँगा. सविता खुद को फेल नही होता देख सकती थी. इसलिए उसने प्लान बनाया की क्यो ना एग्ज़ॅम की ही चोरी करलिया जाए.

सविता 4 बजे मेरे कॅबिन मे आ कर फोटोस लेने लग गई. तब मैं बाहर था पर जेसे ही वो पीछे मूडी तो वो मुझे देख कर घबरा गई.

मैं – तुम यही सब करने आती हो. रूको प्रिन्सिपल को दिखता हूँ ये वीडियो क्लिप.

सविता – नही सर प्लीज़.
मैं– ठीक है पर तुम्हे मुझे खुद को देना पड़ेगा.

ये सुन वो दरवाजे तक गई है पर वापिस चली भी आई .

मेरा लंड पूरा खड़ा हो चुका था. वो अब पैंट मे भी नही समा रा था. जेसे ही सविता मेरे पास आई मैने झट से उसकी कमर मे हाथ डाला और उससे अपनी बाहो मे जाकड़ लिया. सविता पूरी तरह से काँप रही थी. क्योकि उसकी ये नाज़ुक सी जवानी अब लूटने वाली थी.

तभी मैने उसे घुमा दिया और मै उसकी कमर से चिपक गया. अब मेर दोनो हाथ सविता के मोटे मुलायम बूब्स पर थे. मै ज़ोर ज़ोर से उसके बूब्स को मसलने लग गया. सविता के मूह से मस्ती से भारी हुई आहह आ की आवाज़े आने लग गई.
तभी मैने उसे पलटा दिया और उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए. और ज़ोर ज़ोर से उसके गुलाबी होंठो को चूसने लग गया. मैने उसके लिप्स की सारी लिपस्टिक चूस चूस कर निकल दी.

More Sexy Stories  भाभी और उसकी छोटी बेहन की चुदाई

अब मैने अपनी जीब सविता के मुह मे डाली और अंदर से उसके मुह को चूसने लग गया. कुछ ही देर मे जैसे ही सविता की जीब थोड़ी सी बाहर आई तो मैने झट से उसकी जीब पकड़ ली. और अपने मुह मे डाल कर ज़ोर ज़ोर से उसकी जीब का रस्स पीने लग गया..
अब मेरे हाथ धीरे धीरे उसके सारे कपड़े उतार रहे थे. सबसे पहले मैने उसकी चुनी उतार साइड मे फेंक दी. और फिर उसको एक टेबल पर बिठा दिया और फिर उसका कुर्ता उतार दिया. और फिर उसकी सलवार का नडा खोल कर उसकी सलवार भी उतार दी.

अब मेरे सामने सेक्स की देवी बैठी हुई थी. जोकि सिर्फ़ और सिर्फ़ ब्रा और पैंटी मे थी. उसकी आँखों मे एक अलग सी चमक आ गई. उसने फिर पीछे हाथ डाल कर अपनी ब्रा खोल दी. और उसके दोनो बूब्स उछाल कर मेरे सामने आ गये. गोरे गोरे बूब्स देख कर मै पागल सा हो गया.

मै ज़ोर ज़ोर से उसके दोनो बूब्स बारी बारी से चूसने लग गया. उसके निप्लेस को अपने दातो से काट रा था. फिर मैने उसकी पैंटी भी उतार और उसकी दोनो टाँगे खोल दी.
मै नीचे ज़मीन पर बैठ गया और अपना मुह उसकी चूत पर रख कर उसकी चूत चाटने लग गया. मेरी जीब जेसे ही सविता की गुलाबी चूत के अंदर गई. तभी सविता का पूरा जिस्म कांप उठा
और कुछ ही देर मे सविता की चूत ने, अपनी छूट मे से ढेर सारा पानी निकल कर मेर मुह पर छोड दिया.

Pages: 1 2