नटखट साली पूजा की मस्त चुदाई

हेल्लो दोस्तो. मेरा नाम रमण है .आप सब के लिए एक मस्त कहानी ले कर आया हूँ. ये कहानी मेरे और मेरी साली के बीच उसके साथ मेरे पहले सेक्स की है. आप सब को पता ही है, की जीजू और साली मे कितनी मस्त मस्ती होती है.

तो ज़रा सोचिए दोनो के बीच कितना मस्त सेक्स होगा. तो चलिए फिर टाइम क्यो खराब करते है. सीधा अपनी कहानी पर आते है.

आज मेरी शादी को 13 साल हो चुके है. मेरी शादी 24 साल की उम्र मे अंकिता से हुई थी. उस टाइम उसकी उम्र 19 साल की थी. सच मे मैं उससे शादी करके अपने आप को काफ़ी लकी समझ रहा था. क्योकि 19 की अंकिता एक कवली लड़की थी.

मैने ही उसकी सील को तोड़ा था. वो बहुत ही सेक्सी और मस्त माल है. पर आज मैं अपनी वाइफ की न्ही अपनी साली की बात करने जा रा हूँ. मैं लकी इस लिए भी था, क्योकि मेरी एक साली भी थी. उसका नाम पूजा है, जब मेरी शादी हुई तो उसकी उम्र सिर्फ़ 16 साल थी. वो उस टाइम 10त क्लास मे थी.

जैसे की साली जीजू मे मस्ती होती है. वैसे ही मस्ती हम दोनो मे भी खूब होती थी. सच कहूँ तो मैं अपनी साली का पहले दिन से दीवाना था. क्योकि उसका 18 साल की उम्र मे जो फिगर उभर कर बाहर आया था. वैसा फिगर आज तक मैने कभी किसी लड़की का न्ही देखा.

उसका फिगर कुछ ऐसा था 33-26-28 था. अब आप खुद ही सोच सकते हो, की अगर किसी लड़की का इतना मस्त फिगर हो तो वो कितनी मस्त दिखती होगी. इसलिए मैं उसका शुरू से ही दीवाना तो था पर जब वो 18 साल की हुई तो मुझे उससे प्यार हो गया था.

मैं उससे मिलने के लिए तड़पता रहता था. मैं और मेरा लंड ये ही चाहता था की मैं ही उसकी सील को तोड़ूं. इसलिए मैं उसके पास ज़्यादातर टाइम बिताता था. जब वो उसने 12वी पास करी तो वो मेरे घर के पास वाले कॉलेज मे स्टडी के लिए वाहा अड्मिशन ले लिया.

More Sexy Stories  छत पे मिली वर्जिन चूत

अब वो मेरे घर अब काफ़ी आने जाने लग गई थी. उसके आने पर घर का माहोल ही कुछ और बन जाता था. उसको देख कर मैं काफ़ी खुश हो जाता था और पूजा भी मुझे देख कर खुश हो जाती थी.

हम दोनो अकसर एक खेल खेलते थे. वो है गुद-गुद्दि वाला खेल, मैं अकसर पूजा के पेट, बाजू के बीच उसकी गरदन और बूब्स के आस पास उसे गुद-गुद्दि करता था. जिससे वो हस हस कर पागल हो जाती थी.

पर मुझे इसमे बहुत मज़ा आता था. क्योकि इसी बहाने उसके कोमल जिस्म को छू लेता था. मुझे सच मे इसमे बहुत मज़ा आता था. मुझे इस बात का पता चल गया था. की मुझे पूजा लाइक करती है, क्योकि जब मैं उसे इधर उधर छूता था, तो वो मुझे कुछ न्ही कहती थी.

फिर मेरा एक लड़का हो गया, इसी बीच पूजा कुछ दिन मेरे घर काम करने के लिए आई थी. कसम उन दीनो मैने उसके साथ बहुत मस्ती करी. मैने उसके गालो को अच्छे से चूमा.

थोड़े टाइम बाद मुझे अपने ससुराल जाना पड़ा . उस दिन पूजा मुझे देख कर काफ़ी खुश हो रही थी. उसे देख कर मैं भी काफ़ी खुश होरा था. रात को सब टीवी देखते थे, और पूजा किचन मे सबके लिए डिन्नर बना रही थी.

मैं पानी पीने के लिए किचन मे गया, मैने देखा पूजा ने येल्लो कलर का टाइट सूट डाला हुआ था. कसम से साली कयामत लग रही थी. उसके बूब्स बाहर आने को मानो मचल रहे थे. मैं धीरे से उसके पास गया, और उसके पीछे खड़ा हो कर उसके दोनो बूब्स अपने हाथ मे लेने लग गया.

More Sexy Stories  लीना के साथ मेरी पहली चुदाई

उसके बूब्स सच मे काफ़ी सॉफ्ट थे, मैं धीरे धीरे उसके बूब्स को मसलने लग गया. पूजा ने मुझे कुछ न्ही खा, मैने महसूस किया की उसकी साँसे ज़ोर ज़ोर से उपर नीचे हो रही थी. मैं समझ गया की पूजा गरम हो रही है, मुझे अब इसे और गरम करना चाहिए.

इसलिए मैं पीछे से उसे अच्छे से चिपक गया. मेरा लंड उसकी मोटी सी गांड की दरार मे जा कर फस गया. मैं अपने होंठो से धीरे धीरे उसकी गरदन को धीरे धीरे चूमने लग गया. इससे पूजा और ज़्यादा मेरे काबू मे आने लग गई.

फिर मैने अपने होंठो से उसके कान पकड़े और धीरे धीरे उसके कान को अपने होंठो से चबाने लग गया. अब तो पूजा पागल हो गई थी, उसने अपना काम वही छोड़ दिया. उसकी साँसे अचानक से बहुत तेज़ होने लग गई. और ज़ोर ज़ोर से उसके मूह से मस्ती से भरी सिसकारियाँ निकलने लग गई.

तभी मुझे एहसास हुआ की कोई आ रहा है. इसलिए मैं पूजा से दुर हो कर उससे बातें करने लग गया. अगले ही पल मेरी सासू मा किचन मे आ गई. मेरी जान मे जान आई, मैने सोचा अगर आज फस जाता तो लेने के देने पड जाते.

इसलिए उसके बाद मैं पूजा के करीब न्ही गया. अगले दिन जब मैं अपने घर वापिस जाने लगा तो पूजा भाग मेरे पास आई और मुझे अपनी बाहों मे भर लिया. उसने मेरे कान मे धीरे से कहा.

पूजा – जीजू आप बहुत अच्छे हो.

मैं – सच मे ?

पूजा – हा जीजू आई लव यू सो मच.

मैं – आई लव यू टू मेरी प्यारी साली.

पूजा – मैं जल्दी ही घर आउंगी अब.

मैं – मुझे तेरा इंतज़ार रहेगा.

Pages: 1 2 3