बस से रीना भाभी को बेड तक का सफ़र

Desi Hindi Porn Stories reena bhabhi ka bed tak ka safar हेय गाइस दिस इस फर्स्ट देसी हिन्दी पॉर्न स्टोरीस पड़ोस की भाभी ऑन दिस साइट.. मैं आपको अपने बारे मे बताता हू. मेरा नाम रेयंश है मैं मीरूत का रहने वाला हू मेरी हाइट 5’9″ है मैं एवरेज बॉडी का हू मेरे लंड का साइज़ 7 इंच और मोटाई 4 इंच है मैं किसी को भी सॅटिस्फाइ कर सकता हू.

तो बोर ना करते हुए मैं आपको अपनी स्टोरी बताता हू. ये कहानी तब की है जब मैं अपने ऑफीस के काम से देल्ही जा रहा था जिस बस मे बैठा था उस बस मे काफ़ी भीड़ थी कुछ दूर चलने के बाद एक स्टॉप से एक भाभी बस मे चड़ी जो मेरे पास आकर बैठ गई.

उनका नाम रीना था वो दिखने मे बहुत ज़्यादा खूबसूरत थी और बिल्कुल यंग थी उनकी एज 32 ईयर्स थी और फिगर साइज़ 34-28-36 था. क्या बताउ यारो वो इतनी मस्त आइटम थी की जब वो मेरे पास आकर बैठी मेरा उन्हे देखते ही खड़ा हो गया था. मैने अपना लंड छुपाने के लिए उपर बॅग रख लिया था लेकिन उन्होने ये नोटीस कर लिया था.

थोड़ी दूर चलने के बाद मैने भाभी से हाय कहा उन्होने भी हेलो कहा उसके बाद हमारी बातो का सिलसिला चलता रहा मुझसे रहा नही गया तो मैने भाभी से कहा की भाभी आप बहुत सुंदर हो भाभी ने कहा की थॅंक यू सो मच फिर मैने कहा की भाभी एक बात बताओ आपके हब्बी बहुत लकी है की उन्हे आप मिले हो उन्होने कहा ऐसा क्यू..

मैने मौका देखते ही कहा की भाभी हर एक लड़के को उसकी वाइफ सुंदर और मस्त फिगर वाली चाहिए जो आप हो मेरे तो मु से ही वॉवव निकल गया था आपको देखते ही उन्होने नॉटी स्माइल दी और कहा तभी आपने बॅग रखा हुआ है.

More Sexy Stories  मौसा मौसी के साथ ग्रूप चुदाई

मैं समझ गया की भाभी भी शरारती हैं मैने कहा की बॅग तो इसलिए रखा हुआ हैं कही ये निकल कर आपके अंदर ना चला जाए इसलिए इसको आपको नही दिखना चाहता उन्होने कहा की अछा जी चलो अब तो इसे हमको दिखा ही दो हम भी तो देखे की कब तक अपने आप को रोक पाएगा. मैने अपना बॅग हटाया तो पैंट के उपर से तंबू बना हुआ था भाभी देखकर स्माइल करने लगी की हा जी अपने कहा तो ठीक था बड़ा बेचैन हो रहा हैं ये तो. मैने कहा भाभी ये आपसे हॅंड शेक करना चाहता हैं.

भाभी ने मेरा लंड पकड़ के ही बोला. मुझे एक दम 440 वोल्टेज का करेंट लगा उनके इस स्पर्श से मैने भाभी के चिक्स पे एक किस देदि भाभी ने कहा की यहा भीड़ हैं यहा ठीक नही है.. मैने कहा भाभी देल्ही आने वाला है वाहा किसी होटेल मे चले. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

उन्होने ओके कहा और एक स्माइल देदि. तभी उनके हब्बी का कॉल आया उन्होने पिक किया तो उन्होने अपने हब्बी से कहा की वो जाम मे फस गई है आने मे टाइम लगेगा और स्माइल करदी.. थोड़ी दूर बाद देल्ही आ गया हम वाहा एक होटेल मे गये होटेल वाले ने पूछा की यहा सिफ्र मॅरीड कपल के लिए ही रूम है भाभी ने कहा की हम मॅरीड ही है.

तो हमे रूम मिल गया. जैसे ही हम रूम मे गये मैने भाभी को हग करलिया हमने थोड़ी देर हग किया उसके बाद हम अलग हुए एक दूसरे की आँखो मे देखते रहे फिर धीरे धीरे क्लोज़ आए और किस करने लगे. वॉवव क्या लिप्स थे उनके बिल्कुल सॉफ्ट सॉफ्ट वेट वेट.. हमने 15 मिनट तक किस किया. भाभी ने बताया की उनके हब्बी मे वो दम नही है बस 2-3 मे निकल जाता है और वो प्यासी रह जाती है.

More Sexy Stories  हॉट आंटी की चूत मारी

मैने उनको गले लगाया और कहा की मेरी प्यार रानी आज मैं आपको पूरी तरह सॅटिस्फाइ करके ही जाने दूँगा. हम दोबारा किस्सिंग करने लगे मैने उनका हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखा भाभी मेरा लंड पैंट के उपर से ही सहलाने लगी मैने अपना हाथ उनके बूब्स पर रखा और दूसरा हाथ उनके गले पर.

भाभी आआ आआह्ह सस्सस्स ईईस्स्स्स करने लगी थी मैने अपना हाथ बूब्स से हटाकर उनकी सलवार के उपर से ही उनकी चूत पर ले गया वो एक दम से सिहर उठी और कसके मेरे लंड को पकड़ लिया फिर उन्होने मेरी पैंट खोली और मेरे अंडरवेर नीचे करके मेरा लंड बाहर निकाल लिया और देख कर बोली मेरे हब्बी का तो इससे बहुत छोटासा है. और मुझे दोबारा किस करने लगी गले लगाकर.

फिर मैने उन्हे बेड पर लेटाया और उन्हे अपने उपर लेटकर उनके गॅंड को स्ट्रेच करने लगा फिर मैने उनका सूट निकाला और सलवार भी निकाल दी अब वो सिर्फ़ ब्रा पैंटी मे थी.. फिर मेरे उपर से उठी मुझे भी उठाया और मेरे कपड़े उतारने लगी मैने भी उनकी ब्रा पैंटी उतारी..

उसके बाद हम दोबारा उसी पोज़िशन मे आ गये मैं उनकी गंद और चूत मे उंगली करने लगा और वो मुझे पागलो की तरह किस्सिंग कर रही थी और एक हाथ से लंड आगे पीछे कर रही थी.. फिर मैने उन्हे अपने उपर से उठाया उनके मु मे अपना लंड दे दिया..

यार ये फीलिंग्स वही जान सकता हैं जिसने कभी किसी के मु मे लंड दिया हो. स्पेशली किसी आंटी या भाभी के मुह मे वो एक्सपर्ट होती है इन चीज़ो मे.. वो मुझे देखकर लंड चूस रही थी और ज़ोर ज़ोर से आगे पीछे कर रही थी कभी कभी मेरी गोटियो से भी खेलती थी..

Pages: 1 2