रंडी नीशी बनी जीजू की रखेल

जस्सी ने पूरी ताक़त से एक ही धक्के मे घुसा दिया लंड, आआहह मुमययी. इतना मोटा.

जस्सी – (थप्पड़ मार के) अब बोल वेश्या. बीसी, अब रोज़ यही होगा तेरा हाल. रंडी साली, प्रमोशन की बात चल रही है, अगर मिल गया ना तो गोआ मे हनिमून होगा हमारा, एमसी, रखेल साली, लंड लेने के अलावा कुछ करती है?

मैं – हाँ, आप जो कहोगे वो करूँगी.

जस्सी – ये हुई ना बात, इसे टिपिकल इंडियन वाइफ कहते है, पति के हर इशारे पे नचनी चाहिए, बीसी ये ले.

मैं -आअहह, उहह आमम्म मर गाइइ.

मैं – यअहह फक महह एम योअर स्लट, जल्दी, आहह एम अबौट टू कम.

जस्सी – बोल, रोज़ चुदेन्गि रंडी? तो ही अभी तेरी गर्मी शांत करू.

मैं – या हब्बी, अब मैं लीगल वाइफ बनने को भी तैयार हू, आप जो कहो, पर अभी चुत फाड़ दो मेरी, मा कसम, हेवेन सी फीलिंग आ रही है.

जस्सी – तो ये ले, छीनाल, भोसडिकी. वेश्या कही की, मादरचोद. पूरा लंड ले, अपनी गुफा मे, बीसी, तेरे जेसी वाइफ हो तो रंडी का क्या काम, आहह एम्म्म ये ली और ली.

मैं – आअहह उहह माआअ. मी डन हब्बी.

कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट सेक्षन मे ज़रूर लिखे, ताकि ड्सईकाहानी पर कहानियों का ये दौर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

फिर तो ये रोज़ होने लगा, आए मीन सुबह हॉस्पिटल मे, और शाम को जस्सी के साथ, रोज़ की चुदाई से सूजन होने लगी, जस्सी रोज़ अलग अलग स्टाइल से चोदने लगा, अभी तो 1ही वीक हुआ दी को हॉस्पिटल मे अड्मिट किए, और हमने 3बार चुदाई कर दी.

More Sexy Stories  घर के सामने वाली छकुलि की चुदाई

एक दिन, मुझे अपनी ऑफीस ले गया, और जस्सी ने सब के साथ मुझे अपनी वाइफ बनके इंट्रो किया, पर मुझे उससे ये उमीद नही थी की जस्सी इतना गिर जाएगा,

Pages: 1 2