राधिका की चुदाई की मजेदार कहानी

Radhika ki chudia ki majedar kahaniहेल्लो भाइयो और सेक्सी गर्ल्स कैसे है आप सब ? आज मैं आप लोगो को मेरी और राधिका की सेक्स कहानी बताने जा रहा हु। मैं 4 साल पहले राधिका से मिला था। देखते ही हम दोनों की सेटिंग हो गयी थी। हम दोनों ही जवान थे। हम मिलने लगे और चुदाई भी शूरू हो गयी। जब मैंने उसे पहली बार चोदा था, रो दी थी वो। उसकी छाती खूब बड़ी 2 थी। दूध खूब बड़ा बड़ा थे। मैंने खूब दबाया। फिर उसको चोदा।
राधिका जादा सुंदर नही थी। सावली थी पर बदन भरा हुआ था। हट्टी कट्टी थी। रविवार की साम को मेरे घरवाले शौपिंग पर जाते है। फिर रात में डिनर करके रात 12 बजे तक आते है। मैंने सोचा राधिका को चोदने का इससे बढ़िया मौका नही मिलेगा। मैंने उसे काल किया..राधिका तैयार होकर आईटीआई चौराहे पर 4 बजे आजा। मैंने तुझे पिक कर लूंगा। मैं मन ही मन उसे चोदने के सपने देखने लगा। मेरे घर वाले 4 बजे बाहर निकल गए। मैं कपड़े पड़ने और उसे ले आया।आज खेला जाए? मैंने उससे पूछा। वो जान गयी की मैं उसे चोदने की बात कर रहा हूँ।वो कुछ नही बोली और थोडा मुस्काई। मैं जान गया की आज उसकी डुग्गी मिल जाएगी। एक चूत मारना कोई बड़ी बात नही होती है। मैं उसे बाँहों में भर लिया और उसके बड़े 2 मम्मे दबाने लगा। वो सी की आवाज निकाल देती। मैंने 3 महीने तक उसके पीछे चक्कर लगाया था और और उसकी बुर मिलने वाली थी। मैं यह सोचकर बड़ा खुश था।राधिका दोगी? मैंने धीरे से पूछा।वो फिर सरमयी और मुस्काई। मैं जान गया की आज इसे जी भरकर चोद लो।आज तुमको चोदूंगा!! मैं उसके कान में कहा धिरे से। राधिका पक्का कुवारी थी। मैं जानता थी। उसे आजतक किसी से नही पटाया था। वो फ्रेश मॉल थी। मैं उसे सोफे पर ले गयी और उसके पिले रंग के टॉप को उतार दिया। माँ कसम उसके 36 साइज़ के मम्मे, चुचे उछलकर सामने आ गये।अरे मादरचोद, क्या मॉल है यार। मैं अब तक क्यों नही उसकी लाइन ले रहा था। कम से कम 1 साल से मुझे ये लाइन दे रही थी, और मैं नल्ला दूसरी मॉल के पीछे पड़ा था। मैंने खुद से कहा और खुद को कोसने लगा।साली को आज 4 5 बार चोदूंगा मैंने खुद से कहा।ये सच था की राधिका मुझे 1 साल से लाइन दे रही थी, पर मैं ही नही ले रहा था। उसकी नाक जरा थी तिरछी थी। बस यही बात थी। पर आज राधिका के बड़े 2 चुचे देखकर मैं स्वर्ग में पहुच गया था। और खुद को इंद्र महसूस कर रहा था। नाक वाक से क्या होता है। मजा तो बड़े 2 चुचों में और एक मस्त फ्रेश बुर में आता है। मैं खुद से कहा।

मैंने राधिका के बाल खोल दिए। उसने चोटी बना रखी थी। मैंने उसके बाल खोलना सुरु किये तो बोली रहने दो, बड़ी देर लगती है बन्धने में। मैंने कहा मंदाकनी जब तक तुझको खुले बाल में नही देखूंगा, लवड़े पर ताव नही आयेगा। बढ़िया चुदाई के लिए तुझे बाल खोलना ही पढ़ेगा। मैं उसके ओंठ पीता जा रहा था और उसके मम्मो को ब्रा के ऊपर से कस 2 कर दबाता जा रहा था।आज इसे कस के चोद ना पाया तो लानत होगी मेरे मर्द होने पर। दसो लड़कियों को चोदा है। पर ऐसा करारा मॉल का शिकार आज कर रहा हूँ।मैं मनदकिनी के मामी जोर 2 से दबाता जा रहा था। वही दूसरी ओर मेरे लौड़े पर ताव आता जा रहा था। मेरी और राधिका की साँसे धौकनी की तरह दौड़ रही थी। हम दोनों की गरम हो रहे थे। तभी मैंने उसके बड़े से चुत्तड़ पर एक जोर की चपट लगायी। फिर उसकी जुस्फों से मैं उसके जिस्म की खुसबू लेने लगा।
राशिद आई लव यु राधिका बोली
राधिका आई लव यू टू बेबी मैंने कहा।
प्यार में तो बहुत बढ़िया चुदाई होती है। मैंने सोचा। इससे पहले मैंने कई धंधेवालियों को भी चोदा था, पर साली रंडियाँ ओठ पर चुम्मा नही देती है। मादरचोद, पतथर की तरह लेट जाती है और 10 मिनट का टाइम देती है । अब 400 500 रुपए खर्च करके ओठ पिने को न मिले तो क्या मजा है ऐसे चुदाई में। इससे अच्छा मॉल पटाओ और प्यार भरी चुदाई का मजा लो।रंडिया चोदना तो चुतियापा है। पैसा भी खर्च हो, मजा भी ना मिले। ऊपर से मादरचोद एड्स होने का रिस्क। लात मारो ऐसे चूत को। मैंने सोचा की राधिका को अपने बेडरूम में चोदना सही होगा। बहार हाल में कोई मुझे खिड़की से देख सकता है। मैंने अपना एक हाथ उसके जांघ में डाला और उठा लिया उसी दोनों हाथ में। जैसे ही मैं उसे मैं लेकर बेडरूम की तरफ चला वो बोली की बाथरूम जाना है।चलो तुमको मुतवा देता हूँ। मैं उसे उठाकर बाथरूम ले गया। और लाइट जलायी। मैंने उसकी कमर में हाथ डाला और उसकी जीन्स की बेल्ट खोली। मेरी ऊँगलियाँ उसकी चूत पर दौड़ गयी। पाया की उसकी चूत कबसे बह रही थी। उसने लाल रंग की लेस वाली महँगी पेंटी पहन रखी थी। पेंटी की जाली से ही मैंने उसकी चूत पर उँगलियाँ दौड़ाई। वो चिहुक उठी।

More Sexy Stories  भाई बहन की रोमांटिक सेक्स स्टोरी

ये बात तो क्लियर थी की राधिका 18 पार कर चुकी थी। वो बिलकुल जवान थी और जवान के मजे लेने के लिए बिलकुल तैयार थी। 17 18 में ही लड़कियां पहली बार चुदाई का मजा लेती है। कोई 2 तो 15 16 साल में चुदवाना शूरू कर देती है। एक बार किसी लड़की को पता कर चोद दो तो बार 2 उसकी बुर मिलने लगती है। जरुरत होती है बस एक बात उसकी सील तोड़ने की। मैंने अपनी लाइफ में ऐसे ही कई लड़कियों को सील तोड़ी थी। उसके बाद तो बुर ही बुर मिलने लगी। एक 2 दिन में 3 3 4 4 बुर मिल जाटी थी।
मैंने उसकी पेंटी में उसकी बुर पर ऊँगली फिराई और राधिका के रस को ऊँगली पर लगाया और चाट गया। ओह कितना नमकीन पानी था उसकी बुर का। मैंने उसकी जीन्स पैन्ट उतारी, पैंटी नीचे की और बोलो..लो मूत लो!!
अरे ऐसे थोड़ी ही ना। मैं लड़की हूँ। कोई लड़का नही मंदाकिनी बोली
ओह धत तेरी की मैं तो भूल ही गया।
मैंने उसकी गोल्डन कलर की सैंडल उतरवाई, उसकी पूरी पैंट उतरवाई, फिर उसकी पैंटी। उसे नंगा किया और मैंने उसे अपनी गोद में उठा लिया। मैंने टॉयलेट की और उसके दोनों पैर और चिकनी जांघों को खोल दिया। अब उसकी बुर टॉयलेट के सामने थी।
मूत लो जितना मूतना है, बाद में मौका नही दूंगा मैंने कहा
राधिका खिलखिला दी। फिर वो मूतने लगी।
उफ़्फ़ क्या चिकनी जांघ थी। इसको चोदूंगा तो जन्नत मिल जाएगी। मैं मन ही मन खुश था।
राधिका मूतने लगी। पेशाब की एक लम्बी धार सिधे टॉयलेट में जा रही थी। फिर धीरे 2 उसने खत्म किया। खुश बूँद मेरी ऊँगली पर लग गयी। मैंने वो ऊँगली उसके मुह में डाल थी। ये कहानी आप नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है
छी!! वो मना करने लगी
पागल हो, इसका भी टेस्ट लो मैंने राधिका से कहा
फिर उसे गॉड में लिए ही मैं उसे अपने बेडरूम में ले आया। अभी भी मेरे पास 7 8 घंटे थे उसे चोदने के लिए। मैंने अपने को नंगा किया। मेरा लंबा चौड़ा लौड़ा देखकर वो थोडा नर्वस हो गयी। मैंने उसे बिस्तर पर लेता दिया। उसने अपने हाथ पीछे किये और ब्रा निकाल दी।
अरे मादरचोद, आज तो ये मुझे अपने हुस्न ने मार ही डालेगी। खूब बड़े 2 गोल 2 मम्मे थे। निपल्स पर बड़े 2 घेरे थे। ये देखकर तो मेरे लण्ड से पानी टपकने लगा। मैं उसे अब जल्द से जल्द चोदना चाहता था। मैंने आज तक जितनी भी लौंडियों को बजाया था सब निपल पर छोटे घेरे थे। पर आज किस्मत से नयी वैरायटी की लौंडिया चोदने को मिली थी, इसलिए मैं आज बड़ा खुश था। मैं ही वो पहला इंसान था जो पहली बार उसके मम्मे मींज रहा था। राधिका सी 2 की आवाज कर रही थी।मैंने जब खूब उसके बड़े 2 चुच्चों को मींज लिया तब उसे पिने लगा। मैं उसकी छातियों को दोनों हाथों से दबाकर पी रहा था। वही दूसरी ओर राधिका की बुर बही जा रही थी। उधर मेरे बड़ा था काला लण्ड भी फनफना रहा था। जब मैंने खूब उसके मम्मे पी लिए तो मैं बोला
राधिका कभी लौड़ा चूसा है?
नही वो बोली
अरे बड़ा मजा आता है। मैंने एक पोर्न डीवीडी निकली और लगा दी। देख ऐसे ही लौड़ा चूस्ते है, मैंने राधिका को समझाया।
मैंने उसे बेड पर बैठाया और अपना बड़ा सा लौड़ा उसके मुह में पेल दिया।
रानी, तुझको तो आज रंडियों की तरह चोदूंगा। कोई कांड नही बचेगा। मैंने मन ही मन कहा। साली तेरी गांड भी मारूँगा, बस एक बार तुझे मेरा लौड़ा पसंद आ जाए। फिर देख मैं क्या 2 करता हूँ। मैं रावण की तरह हसा। तुझे मैं अपने यारों से भी लंड खिलवाऊंगा। बस एक बार तू मेरा परफॉर्मेन्स देख ले। फिर देख मैं क्या 2 करता हूँ। मैं एक खलनायक की तरह मुस्काया। तुझे तो मैं भंडारे में चलवाऊंगा। एक साथ तुझे 3 4 लण्ड खाने को मिलेंगे। रानी मेरे साथ रहेगी तो जिंदगी के हर मजे लेगी। मैं एक विलन की तरह मुस्काया।
मैंने अपना लैंड निकला। बड़ा सा काला मोटा लन्ड काले नाग की तरह फनफना रहा था। मेरा सुपाड़ा लाल लाल था। जैसे ही मैंने अपने सुपाड़े को राधिका के मुँह में डाला, उसका मुँह छोटा सा था। गुलाबी लाल सुपाड़ा मुँह में फस गया।
नहीं राधिका मना करने लगी!
अरे जानम लड़की होकर अगर लण्ड ना चूसा तो क्या चूसा। मैंने कहा।
मैंने डीवीडी फॉरवर्ड की और लैंड चूस्नेवाला सीन लगाया। एक अमेरिकन लड़की बड़ी ततपरता से बड़ा सा लौड़ा चूस रही थी। वो अपने मुलायम हाथों से लौड़े पर गोल 2 मसाज भी दे रही थी। अपने गले की आखरी दीवाल तक वो लौड़ा मुह में अंदर तक ले रही थी।
मैं जोश में आ गया। मैं उसका सर दोनों हाथों से पकड़ा और राधिका के मुँह में अंदर गले तक पेल दिया और उसके मुँह को चोदने लगा। एक मिनट भी नही हुआ की उसे सास फास गयी। वो हांफने लगी। उसका गला चोक गया। मैंने तुरन्त अपना 9 इंच का लौड़ा बाहर निकाला। राधिका सास भरने लगी।
अब फ्री का कड़क मॉल चोदने को मिल गया है तो क्या जान ही ले ले लोगे मैंने खुद से कहा।
अबे चोदो मगर प्यार से!

More Sexy Stories  गर्लफ्रेंड डिम्पल को कार में चोदा

Pages: 1 2 3 4