पूर्णिमा की गॅंड राँची मे मारी

New Sex Story Purnima Ki Gand Ranchi Me Mari हाय दोस्तो मैं कुंमार राँची का रहने वाला हूँ यहा पर मैं बीएससी. कर रहा हूँ राँची कॉलेज से.

मेरी एज 20 साल है मैं बहोत हॅंडसम एंड स्ट्रॉंग बॉडी वाला लड़का हूँ मुझे बड़ी आंटी’स या कुँवारी लड़की को चोदना बहुत पसंद है चाहे वो कैसी भी क्यू ना हो.

जब मैं 2न्ड ईयर मे गया तभी मेरी दोस्ती एक लड़की से हुई उसका नाम था पूर्णिमा सिंग. वो बला की खूबसूरत थी वो उसके बूब्स नॉर्मल थे बट जो मुझे सबसे ज़्यादा पसंद है उसकी बड़ी गॅंड जो बहुत निकली हुई थी बाहर की तरफ.

मैने जब पहली बार उसे देखा मैं फ़ैसला कर लिए कुछ भी हो जाए इस लड़की को अपने लंड पे बिठाना है एक दिन.

तो मैं लग गया काम मे उससे बात करने की कोशिश करता था अक्सर वो स्माइल करती थी मुझे धेक के इससे मुझे ग्रीन सिग्नल मिल गया.

एक दिन बहुत बारिश हो रही थी सभी लोग कॉलेज से जा चुके थे बट तेज़ बारिश के कारण पूर्णिमा रुकी हुए थी. मुझे अकाउंट क्लास के बाद मे जब बाहर निकला तो मैने देखा वो आधा भीगी हुए है उसके गॅंड उसके ल्यागिंग मे साफ धिक रहे थे मेरा तो लंड ही खड़ा हो गया.

तभी मुझे एक आइडिया आया मैने सोचा क्यू ना इसको लिफ्ट देने के बहाने इससे दोस्ती की जाए. तो मैं अपनी बाइक लेके उसके सामने आया और उसको आवाज़ लगाई पूर्णिमा तुमको लिफ्ट चाहिए क्या चलो मैं तुम्हे छोड़ देता हूँ हॉस्टिल तक. वो कुछ सोची फिर आके मेरे बाइक मे बैठ गई.

उसके कुरते के भीगने के कारण उसकी ब्लॅक ब्रा सॉफ दिखाई दे रही थी. जिसको देख के मेरा लंड और टाइट हो गया उसको ये बात पता चल गई और स्माइल करते हुए उसने कहा अब चलो भी मुझे ठंड लग रही है.

More Sexy Stories  ऑफीस के सेक्सी मेडम को घर पर चोदा

मैं जान कर बार बार ब्रेक मार रहा था और उसके बूब्स मेरे पीठ से रगड़ रहे थे. मेरे लिए ये बहुत अछा एक्सपीरियेन्स था.

हम उसके हॉस्टिल पहुच गये मैने उसे बाइ बोला और अपने रूम चला गया वो कुछ दिन कॉलेज नही आई मैं थोड़ा परेशान था तभी एक लड़की ने मुझे रोका और मेरे से पूछा की तुम कुंमार हो ना मैं बोला हान तो वो मेरे से बोली हाय मैं पूर्णिमा की फ्रेंड हूँ वो उस दिन बारिश मे. भीग जाने के कारण वो बीमार है इसीलिए कॉलेज नही आ रही है उसने तुम्हारा नं. माँगा है.

मैं इतना सुनते ही खुश हो गया और अपना नं. उसको दे दिया.

उसके बाद मेरी पूर्णिमा से रेग्युलर बात होने लगी ह्म आछे फ्रेंड्स बन गये थे उसने मुझे बताया की उसका कोई बाय्फ्रेंड नि बना है मुझे शॉक हुआ इतनी सुंदर लड़की और कोई बीएफ नि पर मैं. अंदर से बहुत खुश था.

मैने भी अपने बारे मे उसको सब कुछ बताया. ऐसेही हमारी कुछ दीनो तक बात चली पर मैं इससे खुश नही था मुझे कैसे भी कर के उसकी गॅंड मारनी थी तो मैं.

लग गया तैय्यारि मे मैने उसे मूवी के लिए पूछा वो चलने के लिए तैय्यार हो गई हम पीवीआर सिनिमा पहुचे उस दिन उसने ब्लॅक सूट पहना था बला की खूबसूरत लग रही थी वो उसके गंद हमेशा की तरहा बड़ी और अट्रॅक्टिव लग रही थी. हमने टिकेट ली और कॉर्नर सीट मे बैठ गये मूवी रोमॅंटिक वाली थी तो सेक्स सीन काफ़ी थे एक बार मैने नोटीस किया वो मुझे देख रही है सेक्स सीन के दौरान.

फिर इंट्र्व्ल मे उसने मुझसे कहा कुंमार ये तो कपल्स मूवी है ना तुम मुझे ले के क्यू आए.

मैं भी मज़ाक मे बोल दिया हान हम दोनो कपल्स है तो है वो हसने लगी और हम वापस से अंदर चले गये इसबार उसने मेरा हात अपने हात मे रख के मूवी देखने लगी.

More Sexy Stories  ऑफीस बॉय से गांड चुदाई

मैं भी चान्स का फ़ायदा उठा के उसके कंधे पे सर रखकर के सो गया.

फिर पता नही चला कब हमारे लिप्स मिल गये और मैं उसको स्मूच लेने लगा वो भी मेरे लिप्स बाइट करने लगी.

मूवी ओवर हो गई वो मेरे से बात नही कर रही थी मैं हिम्मत कर के पूछा क्या हुआ पूर्णिमा तुम गुस्सा हो क्या मेरे से वो बोली नही. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

मैं तुमसे कुछ कहना चाहती हूँ कुंमार आई लव यू.

मैं तो इतना खुश हुआ जैसे मुझे जन्नत नसीब हो गई हो मैं उसको हग कर के बोला पूर्णिमा बेबी आई लव यू टू.

उसके बाद हम सिनिमा हॉल से निकल कर रातु पार्क मे गये वाहा सभी कपल्स थे और साथ मे बैठे हुए थे हम भी वही कॉर्नर मे बैठ गये और बात करने लगे और बात करते करते हम एक दूसरे के बहुत करीब आ गये और मैं फिर से उसको किस करने लगा वाहा कोई नि था इसलिए मौका देखके मैने उसके बूब्स भी प्रेस करने लगा.

वो पहले थोड़ा अनकंफर्टबल हुई फिर फ्रीली सब कुछ करवाने लगी.

और धीरे धीरे आवाज़ भी निकालने लगी आ कुंमार आराम से करोना दर्द हो रहा है. ह्म्म्म्म ऑश.

मैं उसके कुरती मे हात डाल के ब्रा के उपर से उसके चुचि दबाने लगा इतना मज़ा आ रहा था मैं वो आपको बता नि सकता.

ऐसे किस्सिंग एंड लिकिंग मे कब शाम हो गई पता ही नि चला फिर मैं उसको हॉस्टिल छोड़ा और मैं भी हॉस्टिल आ गया.
फिर हम अक्सर पार्क या मूवी देखने जाने लगे और फोन सेक्स हम लोग के लिए कॉमन हो गया था पर मैं ज़्यादा कुछ नि कर पा रहा था.

Pages: 1 2 3