पंजाबी मॉं की जमकर चुदाई की

punjabi maa ki hot chudaiहेलो फ्रेंड्स मेरा नाम कमल है. मैं पंजाब के इक गाओं मे रहता हू हमारे घर मे हम तीन लोग रहते है मैं मेरे पापा ओर मेरी मा पापा आर्मी ऑफीसर होने की वजह से साल मे सिर्फ़ 2 बार घर आते है मेरी मा की उमर 36 साल की है वो इक हाउस वाइफ है. पंजाबी मा बेटा सेक्स स्टोरीस

मा घर मे पतली सी सलवार ओर डीप नेक कुर्ता पहनती है जिस मे मा के 60% बूब साफ दिखाई देते है मेरी मा सेक्स की बहुत प्यासी है सेक्स के लिए वो कुछ भी कर सकती है मा हमेशा मुझे सिड्यूस करने मे लगी रहती है पहले तो मुझे यह सब नॉर्मल लगता था पर जब मैं 18 साल का हुआ मुझे सेक्स के बारे मैं सब मालूम चल गया.

तब मैं भी मा को चोदने के बारे मे सोचने लगा मा भी जानभुज कर मेरे सामने कपड़े चेंज करती थी मा ब्रा पैंटी नही पहनती थी जिस वजह से मा रोज कपड़े बदलते टाइम मुझे नंगी दिख जाती थी मा मुझसे बहुत फ्रॅंक थी इक दिन मैं अपने रूम मे नंगा मूठ मार रहा था की मा अंदर आगायी ओर मुझे इस हालत मे देख हेस्ट हुए सॉरी बोल कर वापस चली गई.

मैं मूठ मारने के बाद मा के रूम मे गया और मा से माफी माँगने लगा मा ने मुझे प्यार करते हुए बोली कोई बात नही बेटा इस उमर मे यह सब नॉर्मल है मुझे तुमसे कोई प्राब्लम नही है तुम्हारा जब दिल करता है तुम मूठ मार सकते हो मा के मूह से मूठ शब्द सुन कर मैं हैरान रह गया और मैं अपने रूम मे वापस आ गया.

तभी थोड़ी देर बाद मा मेरे रूम मे आई और मुझसे कार सीखने के लिए बोली दोस्तो हमने इस महीने न्यू कार ली थी मैं बोला मा आप तैयार हो जाए फिर चलते है मा तैयार होने के लिए चली गई मेरे दिमाग़ मे आइडिया आया की आज मा को सिड्यूस किया जाए मैने अपना अंडरवेर उतारा सिर्फ़ इक पतलासा पेजामा पहन लिया और हम कार सीखने चले गये.

More Sexy Stories  प्रोफेसर के साथ मेरी सुहागरात

हमारे गाओं के पास ही इक न्यू रोड बना है हम वाहा चले गये आफ्टरनून के टाइम वाहा कोई नही आता मैने मा को बोला की आप ड्राइविंग सीट पर बैठ जाए मैं आपके साथ वाली सीट पर बैठ जाता हूँ मा बोली नही मुझे डर लगता है ऐसा करते है मैं तुमहरि गोद मे बैठ जाती हू मैं समझ गया मा क्या चाहती है कार सीखना तो सिर्फ़ इक बहाना है मा मेरी गोद मे आकर बैठने लगी.

मा के बैठनेसे पहले ही मैने अपना लंड पूरा खड़ा कर लिया मा ने इक बार मेरे लंड की तरफ देखा ओर हस्ते हुए अपनी गॅंड को इस तरह से अड्जस्ट कर मेरे लंड पर बैठ गई की मेरा लंड उनकी गॅंड की दरार मे घुस गया मा ने ब्रा पैंटी नही पहनी थी फिर मैने कार स्टार्ट की ओर फर्स्ट गियर डाल दिया और मा को बोला की अब धीरे से क्लट्च पे से पैर हटाइए.

पर मा ने जल्दी से पैर हटा दिया जिस वजह से कार झटका दे कर रुक गई जटके की वजह से मेरा लंड मा की गॅंड मे और घूस गया मा के मूह से अवव की आवाज़ आई ओर फिर मैने कार को स्टार्ट किया अब मा स्टेआरिंग संभाल रही थी और मेरे दोनो हाथ मा के बूब्स पर थे मा जानभुज कर अंजान बन रही थी मैं धीरे धीरे मा के बूब्स मसलने लगा.

मा पूरी गरम हो चुकी थी ओर धीरे धीरे मोनिंग कर रही थी करीब दस मिनट तक मैं मा के बूब्स को दबाता रहा फिर जब मुझे पॉजिटिव रेस्पोने मिला तो मैने धीरे से मा की कुर्ते मे हाथ डाल कर निप्पल से खेलने लगा मा अब अपनी गॅंड को मेरे लंड पर धीरे धीरे उप्पर नीचे कर रही थी तभी मैं बोला मा कार सीखने मे मज़ा आ राहा है की नही. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

मा बोली बेटा बहुत मज़ा आ रहा है मेरे दोनो हाथ मा के कुर्ते के अंदर थे तभी आगे स्पीड ब्रकेर आ गये जिस वजह से झटके लगने लगे मैने भी स्पीड ब्रकेर का फ़ायदा उठाते हुए ज़ोर ज़ोर से मा की गॅंड को झटके मारने लगा मा भी अपनी गॅंड हिलाने लगी स्पीड ब्रकेर निकलने के बाद भी हम नहि रुके मा अपनी गॅंड को ज़ोर ज़ोर से मेरे लंड पर हिलाने लगी.

More Sexy Stories  सेक्सी मॉडेल स्नेहा की चुदाई

मैने मा के दोनो बूब कुर्ते से बाहर निकाल दिए मैं इक बार झड़ चुका था तभी मा का फोन बजने लगा और हम दोनो को होश आया मैने कार साइड पर पार्क की मा उतर कर बॅक सीट पर बैठ गई मा के दोनो बूब्स अभी भी कुर्ते से बाहर ही थे मेरा पैजामा कम की वजह से गीला हो चुका था और लंड अभी भी खड़ा था मा ने फोन पिक किया फोन पापा का था.

मा ने पापा से बात की ओर फोन कट कर दिया मा ने बूब्स को कुर्ते के अंदर नही किया बस दुपट्टे से कवर कर लिया दुपट्टा ट्रॅन्स्परेंट होने की वजह से बूब साफ दिख रहे थे मा अंजान बन रही थी मैं कार ड्राइव करते टाइम पैजामा नीचे कर मूठ मारने लगा मा बॅक सीट पर बैठी थी मा ने अपनी सलवार घुटनो तक उतार दी और केले को चुत..

तभी मैने पीछे देखे बिना ही आगे देखते हुए मा से कहा मा ज़रा खाने के लिए कुछ देना मा ने वोही केला मुझे दे दिया मैने केला खाते हुए कहा मा केला तो बहुत मीठा है कहा से लाई मा बोली बेटा यह केला मेरी फॅक्टरी से निकला हुआ है इस लिए मीठा है मैं अंजान बनते हुए आपकी फॅक्टरी से मा सूर्य बेटा मेरा मतलब मेरी इक दोस्त है उसकी फ्रूट फॅक्टरी से लिया था.

Pages: 1 2

Comments 1

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *