कामुकता दोस्त की बीवी की

Hindi Porn Stories Desi Kamukta Dost ki Biwi ki हेलो दोस्तो, मेरा नाम राहुल है और मैं हर किसी की चूत का प्यासा आज फिर से आपके लिए और मेरी प्यारी सहेलियो के लिए फिर से कहानी ले कर पधार रहा हूँ. ये हिन्दी पॉर्न स्टोरीस देसी चुदाई मेरी ही है जो की कुछ समय पहले ही बीती है.

दोस्तो मेरी उमर 30 साल है और मेरी बीवी की उमर 28 साल है पर कहते है ना लड़कियो मे ज़्यादा चस्का होता है सेक्स का पर यहा तो ये हिसाब ही नही है क्योकि मेरी पत्नी मे तो सेक्स की बहोत कम प्यास है जिसके चलते मैं बीच मे ही लटक जाता हूँ यानी की मैं उसे चोद भी नही पता हूँ और अगर चोदत भी हूँ तो मेरी बीवी गरम ही नही होती और अगर होती है तो बहोत ही जल्दी ठंडी पड़ जाती है.

दोस्तो, आप सब तो मेरी इस हालत को पहचान गये होगे इसलिए मेरे प्यासे लंड को बिना चूत के ही मूठ मार कर सोना पड़ता है. पर कहते है ना भगवान के घर देर है अंधेर नही, और यही बात मेरे साथ हुई. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

हुआ कुछ ऐसे की मेरा एक दोस्त अपनी बीवी और बच्चे के साथ मेरे घर आ गये और उसकी बीवी का नाम पूजा है और वो यहा इसलिए आए क्योकि उन्हे कोलकाता जाना था और रास्ते मे ही उनके बच्चे की तबीयत कराब हो गई जिसकी वजह से उन्होने मेरे घर पर आ के रुकने का फ़ैसला किया. वैसे ये अछा ही हुआ क्योकि मेरा दोस्त शराब बहोत पिता है और ज़्यादा शराब पीने से वो बेहोश हो जाता है और उसे संभालना बहोत मुश्किल होजाता है.

उस रात जब वो आया तो मेरे साथ बैठ कर शराब पीने लग गया पर 4 पेग के बाद ही वो बेहोश हो गया तो मैने अपनी बीवी को बच्चो के साथ अंदर जा कर सोने को कहा और दोस्त को उसकी बीवी के साथ हेल्प करवा कर अंदर ले जाने की कोशिश करी और साथ ही साथ हम बात करने लग गये.

More Sexy Stories  इंग्लिश टीचर कॉलेज स्टोर रूम में मेरा लंड चूसने लगी

मैं – जब इतनी नही हजम होती तो साला पिता ही क्यो है.

दोस्त की बीवी- सही कहा आपने इनका तो बहोत बुरा हाल है, अब जब ये आते है ऐसे तो समझ नही आता की इन्हे संभालू या बच्चे को.

मैं – तो आप तो फिर रात को काम भी नही कर पाती होगी.

पूजा – हंजी ऐसा ही है बस.

अब मैं उसकी जवानी पर बात करते हुए बोला – आपकी तो प्यास भी भुज नही पति होगी.

ये बात सुनकर वो मुस्कुरा पड़ी और मैने उसकी आँखो मे अलग सी ही एक चमक देखी तो मैं समझ गया की अपना हाथ आगे रखना ही सही होगा. इसलिए मैं उसके पास आकर बैठ गया और फिर उसके मूह के पास अपना मूह करके उसके गुलाबी, नशीले होंठो को अपने होंठो मे लेते हुए धीरे से चूसने लग गया और उसके होंठो का रस्स अपने अंदर भरने लग गया जिससे वो गरम होती चली गई और फिर मैने धीरे से अपना हाथ उसकी गर्दन से लेजाते हुए उसके बूब्स पर ले गया.

बूब्स पर आते ही मैं उसके बूब्स उपर से जैसेही दबाए उसके मूह से आआहह निकल गई और फिर तो बस मैने भी देर ना करते हुए अपना हाथ नीचे ले जाते हुए उसकी चूत मे डाल दिया. चूत मे हाथ जाते ही उसकी चिकनी चूत का पानी जो की पहले से ही निकला हुआ था वो मेरे हाथो पर लग गया और जब मैने अपनी उंगली अंदर डाली तो उसकी आआहह निकल गई और मैने अपना लोड्ा उसके हाथ मे थमा दिया और जैसे ही लोड्ा उसने पकड़ा तो वो देख कर डर गई और बोली – इतने बड़े लॅंड को कैसे लूँगी.

More Sexy Stories  अंजान शादीशुदा लड़के से चुदाई करी

अब क्या था मैने उसके कपड़े उतार दिए और उसके उपर आकर उसकी गरम और तड़पति चूत मे लंड डाल दिया और जैसे ही लंड अंदर गया तो उसके मूह से चीख निकल गई और फिर मैने उसके मूह पर हाथ रख दिया और वो आह्ह्ह आहह भरती रही.

फिर करीब 5 मिनिट बाद वो भी मज़े लेते हुए अपनी गॅंड हिला हिला कर लंड लेने लग गई और जैसे ही उसकी चूत मे आग लगी तो उसकी चूत ने पानी की पिचकारी निकाल दी और साथ ही साथ मेरे लंड ने भी उसकी चूत मे पानी निकाल दिया.

फिर करीब 15 मिनिट बाद उसने मेरे लंड को फिर से पकड़ लिया तो मैं बोला – क्या बात हैं प्यास नही भुजी क्या?

पूजा- नही अभी कहा.

फिर मैने उसकी चूत पर अपना सिर रख दिया तो वो बोली – ये क्या कर रहे हो?

मैं समझ गया की पूजा के साथ मेरे दोस्त ने आज तक आछेसे सेक्स नही किया था और इसकी वजह से मैं उसकी चूत पर अपनी जीब फेरने लग गया और जैसे ही जीब फेरी तो उसकी आआहह आआहह, और करो आआहह आअहह जैसी आवाज़े निकलनी शुरू हो गई.

पूजा बड़े मज़े से मेरे सिर को पकड़कर अपनी चूत मे घुसा रही थी जिसकी वजह से लंड तो खड़ा हो ही गया पर मेरे भी 12 बज गये. फिर मैने उसकी चूत से अपना मूह हटाया और उसे अपने लंड को चूसने को कहा क्योकि मैं इतना तो जान ही गया था की मेरे दोस्त ने जब उसकी चूत नही चाटी तो कभी लंड भी नही चुस्वाया होगा.
मुझे अपना फीडबॅक देने के लिए कृपया कहानी को ‘लाइक’ ज़रूर करे, ताकि कहानियों का ये दौर देसीकाहानी पर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

Pages: 1 2