पति और पत्नी का अनौखा रिश्ता

pati aur patni ka anaukha rishtaहेल्लो फ्रेंड्स, मुझे सेक्स की बहोत प्यास है। अगर कोई औरत मुझसे चूत चुदवाना चाहे तो प्लीज कमेंट में लिखे ! ये स्टोरी एक पति की जो आधा पागल था(पतला, लंबा, छोटे बालो वाला, गोरा)। एक बेटे की जो बिगड़ा हुआ था (काला, मोटा, लंबा, तोतला) और एक औरत सुमन की जो सावित्री के पल्लू के अंदर रंडी बाज़ी करती थी (गोरी, ऊची चुचि, कटीला बदन, लाल चूत, सुरीली आवाज़, लंबे बाल नरम नरम बदन)। सुमन जैसी औरते समाज मैं कम होती है लेकिन होती है। ऐसी औरतो की सेक्स करने के लिए पागल रहती है।सभी पात्र वास्तविक है, बस फ़र्क यही है की तीनो पात्र एक घर मैं एक साथ दिखना मुश्किल है।अगर आप कभी शहर के पिछड़े क्षेत्र मैं जाओगे तो आपको ऐसे लोग ज़रूर मिलेंगे।आप को तो परिस्थिति समझ मैं आ गयी होगी।

अब स्टोरी पर आते है…।पति (पंकज) एक दिन गुस्से मैं घर आता है। बेटा ( संकेत ) पी।सी पर गेम्स खेल रहा होता है, और माँ (सुमन ) किचन मैं खाना बना रही होती है। पति का पारा चढ़ा हुआ होता है, वो सुमन को गुस्से से पुकारता है, “रंडी , बाहर आजा, आज मैं तुझे नही छोड़ूँगा, तुने हमारी इज़्ज़त का कचरा कर दिया है, साली कुत्तों की औलाद, बाहर आ”। सुमन बाहर आकर कहती है, “डार्लिंग, क्या हुआ क्यों चिल्ला रहे हो”। और पति के हाथ मैं डंडा देख कर चौक जाती है। संकेत बाप का हाथ पकड़ कर कहता है, “बापू मत मारो माँ को”। बाप बेटे को धकेल कर कहता है, “आज मैं इस रंडी को छोड़ूँगा नही, । महोल्ले मैं हमारी नाक कटा दी है, सड़क पर लोग हमे देख कर हँसते है”। सुमन कहती है, “मैने किया क्या है? आप बताओ”। पति ये सवाल सुनकर और बौखला जाता है, डंडा ज़मीन पर पटक कर, सुमन के बाल खीचता हे और जमीन पर गिरा देता हे ।

सुमन रोते हुए डंडा दूर फेक देती है। बेटा बाप के पास जाकर कहता है क्या हुआ पापा, माँ ने और कोई नई ग़लती कर दी क्या।पंकज नीचे बैठ जाता है और रोते हुए अपना माथा फोड़ते हुए कहता है, मैने क्या पाप किया था की ऐसी पत्नी हमे मिली। पंकज अपनी पेन्ट से मोबाइल निकालता है और बेटे के हाथ मैं दे देता है, और कहता है, “इस में जो MMS हे उसे खोल कर देख”। बेटा विडियो मैं देखता है तो एक विडियो देखता है। बेटा ओपन करता है। MMS मैं एक औरत दो आदमी के साथ सेक्स कर रही थी, फेस छिपा हुआ था पर आवाज़ तो माँ की ही थी। बेटा कहता है, “बापू इस में जो औरत है वो माँ है आप कैसे बोल सकते हो?”।पंकज गुस्से में कहता है, “हमे कैसे पता !!!”। उठकर पागलो की तरह अपनी पत्नी को देखता है, और एक ज़ोरदार गाल पर मारता है। बेटा के मुहँ से माँ !! निकली। बेटे का माँ के प्रती फिक्र देख, वो कहता है, “जानना चाहता है हमे कैसे पता”। वो ज़ोर से सुमन के बाल खीचता है सुमन चिलाती है। पंकज कहता है, “आवाज़ सुनी, वही आवाज़ इस MMS मैं है ध्यान से सुन”। बेटा कुछ नही कहता। पंकज फिर जोश मैं सुमन को अपनी गोद मैं पेट के बल सुला देता है और सुमन की साड़ी को ऊपर कर देता है और चड्डी नीचे कर देता है। संकेत के सामने सुमन की गांड पर मस्सा दिखाकर कहता है, “देख ये है तेरी माँ की पहचान”।बेटा कुछ नही बोलता, चुप हो जाता है।पंकज कहता है, और देखना चाहता है?। संकेत की आँखों मैं सवाल था और क्या। पंकज सुमन की गांड और चूत फैला कर दिखा कर कहता है, “देख तेरी माँ की असली तस्वीर, देख !!!, गांड का छेद देख कितना बड़ा है, चूत का रंग देख लगता है की चूत मैं रोज़ कोई ना कोई हल जोतने आता है। इस MMS मैं औरत के गांड पर जो तिल है वो ही तिल तेरी माँ की गांड पर है, ध्यान से देख” पंकज कहते कहते चूत और गांड को दोनो हाथो से। फैला कर दिखा रहा था।

More Sexy Stories  बाय्फ्रेंड ने स्ट्रॉबेरी फ्लेवर से चोदा

सुमन रोते रोते कहती है, “बस कीजिए, में आपके सामने हाथ जोड़ती हूँ , हमारे बेटे के सामने हमे और ज़लील मत कीजिए”। पंकज कहता है, “तुम्हारे बेटे ने अभी देखा ही क्या है, अब इसे जानना चाहिए की ये किस किस के और कितने लंड के पानी से बना हुआ है”।संकेत कहता है, “माँ क्या ये सच है?”। सुमन वैसे हो पेट के बल, पंकज की गोद मैं थी और पंकज सुमन की गांड और चूत को फैला कर संकेत को दिखा रहा था।सुमन रोते रोते अपनी दास्तान बताने लगी। जेसे जेसे सुमन बोल रही थी चूत और गांड के लिप्स भी हिल रहे थे और सांस ले रहे थे।बाप बेटे का ध्यान उसी पर था, “सुमन हाँ बेटा मैं आज तुझे सब बताती हू,। मैं जब 16 साल की थी तब से रंडी बाजी करती थी, घर से 3-4 बार भाग चुकी थी, हमारे बाप ने हमे बहुत बार छोड़ा था, पर वो हमारा भला भी चाहते थे इसलिए हमारी शादी भले इंसान से कर दी पर सेक्स की भूख बढ़ती गयी, और बढ़ती गयी…हमारे महोल्ले मैं बनवारी चाचा हमे रोज़ चोदने घर आते थे, जब तो स्कूल जाता, तब उनके एक दो दोस्त हमे घर पर मिलते थे…।हमे डर था की घर की इज़्ज़त ख़तरे मैं ना पड़े इसलिए मैं उनके घर और कई लोगो के घर कामवाली बनकर काम करने जाती… पर असल कामवाली के काम कभी किये नही…वो लोग हमे रेस्टोरेंट मैं खाना खिलाते मूवी दिखाते…साड़ी खरीद के देते, बड़ा मज़ा आता था…।एक दिन तुम्हारे पापा ने हमे रंगे हाथ पकड़ लिया, मैं नंगी दो लोगो के साथ थ्रीसम कर रही थी तब…।। क्या था तुम्हारे पापा ने हमारा खर्चा पानी बंद कर दिया।।घर मैं ही क़ैद कर दिया…पर मैने हार नही मानी ।महोल्ले के अकरम चाचा, तेरा अमीर दोस्त घनश्याम और 3,4 लोगो के साथ हफ्ते मैं एक बार तो सेक्स करती हूँ …।हमारी भूख इतनी बढ़ गयी है की एक टाइम पर 2 लोग लगते है…तेरे बाप मैं दम नही है 2 मिनिट मैं ही लंड ढीला पड़ जाता है… आंखिर तुम ही कहो की मैं क्या करती…।एक दिन तुम्हारे बापू के दो दोस्त घर आए थे,, उनको ऐसा नज़ारा दिखाया की घर का रास्ता नही भूले…ये MMS उनका और हमारा है इसी बेड पर लिया है, हमे नही पता था की बात यहाँ तक पहुचं जाएगी”।पंकज निराशाजनक आवाज़ मैं बोला, “तुमने हमारे प्यार के साथ खेला है, इज़्ज़त के साथ खेला है, पता है ये MMS हमे किसने दिया है पता है?”।

More Sexy Stories  सीनियर के साथ सेक्स ओर प्यार

Pages: 1 2 3 4