पड़ोसन भाभी के साथ मेरी सेक्स कहानी

bhabhi ki chudai kahani सभी लंड धारियों को मेरा लंडवत नमस्कार और चूत की मल्लिकाओं की चूत में उंगली करते हुए नमस्कार। नॉनवेज स्टोरी के माध्यम से आप सभी को अपनी स्टोरी सुना रहा हूँ। मुझे यकीन है की मेरी सेक्सी और कामुक स्टोरी पढकर सभी लड़को के लंड खड़े हो जाएगे और सभी चूतवालियों की गुलाबी चूत अपना रस जरुर छोड़ देगी।

दोस्तो मैं विक्रम आज फिर से आपके लिए अपनी एक और सच्ची कहानी ले कर आया हूँ. मुझे उमीद है आप मेरी ये कहानी पढ़ कर मुझे पहले की तरह अपना प्यार देंगे. ये कहानी एक दम सच्ची है तो चलिए अब मैं बिना टाइम वेस्ट किए अपनी कहानी शुरू करता हूँ.

दोस्तो ये बात आज से करीब एक साल पहले की है. जब मेरे घर के पास एक नया जोड़ा शादी करके यहा रहने आया था. उनसे पहले दिन ही हमारे घर वालो की बोल चाल शुरू हो गयी. और मेरी भी मैं उन्हने भाईया भाभी कहता था. भाईया का नाम निखिल था उनकी जॉब यहीन पर लगी हुई थी. इसलिए वो यहन पर रहने आए थे.

भाईया उस कंपनी मे एक मारकटिंग मॅनेजर थे. इस लिए वो हर दूसरे दिन घर से 4 या 5 दीनो के लिए निकल जाते थे. उनकी वाइफ यानी मेरी भाभी का नाम अंकु था. जो बहुत ही खूबसूरत और अच्छी थी. उसको पहले दिन ही देख कर मेरा दिल उस पर आ गया था. मैं ये ही सोच रा था काश ये खूबसूरत परी एक रात के लिए मेरे साथ बिस्तर पर आ जाए तो सच मे मज़ा ही आ जाएगा.

भाभी का फिगर 34-30-36 था. इतना मस्त फिगर जिस किसी का भी हो उसे तो लड़के खाने को पड़ते है. ऐसा ही कुछ हाल मेरा था मैं भाभी का दीवाना सा हो गया था. इसलिए मैं उनके नाम की हर रोज मुठ मारता था.

भाईया ने एक दिन मुझे कहा की मेरे पास इतना टाइम न्ही होता तो मैं अपनी भाभी को इंटरनेट पर चाट करना सिखा दूं. मैने झट से उन्हे हन कह दी क्योकि मैं अपनी जॉब पर सुबह 6 बजे जाता था और 2 बजे घर आ जाता था.

More Sexy Stories  भाभी को खुश करने के लिए

इसलिए मैने भाईया को कह दिया था. अगले दिन मैं भाईया के घर गया तो भाभी ने डोर ओपन किया. भाभी ने उस दिन नाइटी डाली हुई थी ब्लू कलर की. उसे देख कर मैं पागल सा हो गया. मेरा लंड भाभी के मस्त जिस्म को देख कर फन फानाने लग गया. इतना मस्त जिस्म मैने आज तक न्ही देखा था. फिर उसने मुझे अंदर लिया और सीधा मुझे अपने बेडरूम मे ले गयी.

क्योकि उसका पीसी उसके बेडरूम मे ही था. वो पीसी पर बैठ गयी और पीसी ऑन करने लग गयी. मैं भी उसके पास बैठ गया पर मेरी नज़र उसके मोटे मोटे बूब्स पर थी. जिसे मैं काफ़ी देर से देख रा था. जब उसने मुझे कहा की क्या देख रहे हो. मैं एक दम डर सा गया और कहा कुछ न्ही हन अपने पीसी ऑन कर लिया. फिर मैं उसे पीसी पर सब कुछ बताने लग गया.

बीच बीच मे मेरा हाथ उसके बूब्स पर लग रा था. मैने देख वो कुछ न्ही कह रही थी. मैं फिर अब जान कर थोड़ा सा ज़ोर से बूब्स को टच किया तो वो मुझे थोड़ा सा गुस्से मे देखने लग गयी. पर मुझे ना जाने क्यो उसके गुस्से मे भी हन लग रही थी. फिर उसने थोड़ी बाद पूछा तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड न्ही है क्या. मैं उसे सॉफ ही ना कह दिया.

फिर कुछ देर बाद मैने उसके बूब्स को छुआ और फिर से उसे पीसी मे कुछ बताने लग गया. फिर मैं अपने घर आ गया और पूरी रात उसके बारे मे सोचता रा. रात को मैने उसके नाम की मुठ मारी. अगले दिन मैं ऑफीस गया और फिर ऑफीस आते ही मैं फिर से भाभी के घर चला गया. जब भाभी ने दरवाजा खोला तो मैं भाभी को देखता ही रह गया.

आज भाभी ने पिंक कलर की नाइटी डाली हुई थी. जिसमे से उसकी ब्रा और पानटी सॉफ सॉफ नज़र आ रही थी. मैं नोटीस किया की नाइटी कल से भी छोटी थी. फिर मैं अंदर आ गया और भाभी खुद ही अपने बेडरूम मे चली गयी. मैं उनके पीछे आ रा था और उनके मटकते दोनो चूतड़ देख रा था.

More Sexy Stories  अर्चना भाभी की चुदास और चूत चुदाई -2

उनके चूतड़ देख कर मेरा मूड खराब हो गया था. फिर वो पीसी पर बैठ गयी और मैं उनके साथ बैठ गया. मेरा लंड अभी तक खड़ा था. मुझसे और कंट्रोल न्ही हुआ इसलिए मैं भाभी का बूब्स पकड़ लिया उसने मेरी तरफ देखा पर कुछ न्ही कहा. मैं समझ गया आज तो भाभी चुदने के लिए तैयार है. इतने मे उसके पति का फोन आया और उसने कहा की तुम ऑनलाइन आ जाओ और वीडियो कॉल करो.

मैने भाभी को सब कुछ बता दिया की केसे केसे करना है. फिर मैं बाहर आ गया और बाहर सोफे पर बैठ कर टीवी देखने लग गया. तभी मेरे माइंड मे एक ख़याल आया की भाईया इस टाइम वीडियो कॉल क्यो कर रहे है. मैं झट से भाभी के रूम की तरफ गया. और चुपके से अंदर देखने लग गया. मैने देखा अंदर भाभी पूरी नंगी हो रखी है. और अपने पति को वीडियो कॉल से अपने बूब्स और अपनी चूत दिखा रही है. मैं जल्दी से रूम के दूसरी साइड गया जहा पर मुझे भाभी की चूत सॉफ सॉफ दिख रही थी.

क्या कमाल की चूत थी भाभी की पूरी चूत चिकनी थी. और चूत गुलाबी थी पर साइड से पूरी गोरी हो रखी थी. चूत देखते ही मेरा लंड उसमे जाने के लिए तड़पने लग गया. मैने आपने आप कंट्रोल किया और फिर से सोफे पर बैठ गया. उन दोनो का कॉल करीब 1 घंटे तक चली. फिर भाभी ने मुझे अंदर से आवाज़ दी और मैं अंदर चला गया. अब तक भाभी ने अपने सारे कपड़े फिर से डाल लिए थे.

Pages: 1 2 3