पड़ोसन भाभी की चूत मारी

हेल्लो दोस्तो मैं रवि आज फिर से आप के लिए अपनी मस्त कहानी ले कर आया हूँ. जिसे पढ़ कर आप ज़रूर मूठ मरेगे.

कहानी शुरू करने से पहले मैं ज़रा अपने बारे मे बता दूं. मेरी उम्र 23 साल है और मैने अभी अभी दिल्ली मे फिपकार्ट मे जॉब ली है. कंपनी ने मुझे एक फ़्लैट् रहने के लिए दिया हुआ है. मेरी जॉब मस्त है मैं सारा दिन अपने फ़्लैट् पर ही रहता हूँ. और अपना सारा काम फोन और लॅपटॉप पर करता हूँ.
जब मेरा दिल करता है तब मैं अपने ऑफीस चला जाता हूँ. वरना नही. मुझे दिल्ली मे रहते हुए 2 साल से ज़्यादा हो चुके है. आज से करीब 1 साल पहले मेरी मुलाकात मेरे पड़ोस मे रहने वाली टीना भाभी से हुई थी. क्योकि वो तभी यही पर शिफ्ट हो कर आए थे. और हम दोनो के फ़्लैट् सेम फ्लोर पर थे. और तो और हम दोनो की बेडरूम की बाल्कनी भी साथ मे ही थी.
उनके पति यानी सुरेश भैया एक कंपनी मे लगे हुए थे. उनका कम कुछ ऐसा था की वो देर रात को की घर पर आते थे. और महीने के एंड मे तो वो 2 या 4 दिन तक घर पर ही नही आते थे. भाभी से मेरी मुलाकात हमारे पास वाले जिम मे हुई थी. हम दोनो एक साथ वर्काउट करते थे. इसलिए हम दोनो की बात-चीत हो गई थी.

टीना भाभी का जिस्म कुछ इस तरह है 34-28-36. गोरा रंग कातिल भरे नैन नकश और पतले पतले गुलाबी होंठ. जिससे देखते ही चूसने का दिल करता है. शुरू शुरू मे भाभी ने मुझे स्माइल दी और मैने भी उन्हे स्माइल दी. फिर धीरे धीरे हम दोनो बात होने लग गई
मैने भाभी को उनके जन्मदिन पर बहोत सेक्सी ड्रेस गिफ्ट करी थी. जिसे उन्होने खुश होकर लिया था. और वो ही ड्रेस डाल कर वो मेरे साथ डिन्नर पर भी गयी थी.

लोग हम दोनो को देख कर हज़्बेंड वाइफ समज रहे थे. ये बात भाभी को भी पता था पर वो चुप रही और मुझे देख कर बार बार स्माइल करती रही.

खैर उस दिन के बाद हम दोनो अपनी अपनी बाल्कनी मे खड़े हो कर घंटो बातें करने लग गये थे. हम दोनो तभी बातें करते थे जब भैया घर पर नही होते थे. क्योकि भैया थोड़े शकी टाइप के थे. इसलिए मैं नही चाहता था की मेरी वजह से भाभी को उनसे डांट पड़े.
एक दिन मैं आराम से सो रा था. की मुझे भाभी के रूम से आवाज़ आई तो मुझे पता चला की अब भैया आए है. कुछ ही देर मे उन्होने सेक्स करना शुरू कर दिया. भाभी की मस्त आवाज़ें मेरे रूम तक आ रही थी. जिसे सुन कर मेरा लंड खड़ा हो गया. फिर उसके बाद करीब 5 मिनिट ही भाभी की आवाज़ आई और फिर सब कुछ शांत हो गया.

More Sexy Stories  डोली भाभी ने चुदाई का खूब मजा दिया

भैया रूम से बाहर आकर सिगरेट पीने लग गये. मैं भी बाहर आ गया और उनके साथ सिगरेट पीने लग गया. फिर हम दोनो ने कुछ देर बातें करी और फिर हम दोनो सो गये. अगले दिन भाभी मुझे जिम मे मिली तो मैने उन्हे ऐसे ही कह दिया. की भाभी आप तो डबल वर्काउट करती है. एक बार यहा जिम मे और एक बार रात मे बेड पर. मेरी ये बात सुन कर वो कुछ नही बोली और जिम से बाहर निकल गई.
मुझे ये देख कर बहोत दु:ख हुआ मुझे लगा शायद मैने कुछ उन्हे ग़लत कह दिया है. इसलिए मैने जल्दी से जिम से निकाला और नहा धो कर उनके घर पर चला गया. भाभी ने जेसे ही मुझे दरवाजे पर देखा तो मुझे देख कर उन्होने मुझे अपने गले से लगा लिया. और ज़ोर ज़ोर से रोने लग गई. मैं झट से उन्हे रूम के अंदर लिया और दरवाजा अंदर से बंद कर लिया.

इससे पहले मैं भाभी से कुछ पूछता की क्या हुआ है क्या बात है. उन्होने मुझे अपनी बहाओं मे कर मुझे किस करना शुरू कर दिया. मेरे होंठो को इस तरह खा रही थी मानो भाभी बहोत भूखी हो. उसके बाद मैने भी उनके होंठो को चूसना शुरू कर दिया..
हम दोनो एक दूसरे के होंठो को करीब 20 मिनिट तक चुस्ते रहे. फिर भाभी मुझसे अलग हो कर किचन मे चली गई. मेरा 8 इंच का लंड खड़ा हो चुका था. इसलिए मैं उनके पीछे गया और पीछे से उनकी गर्दन और उनके कानो की चूसने लग गया. भाभी गरम होना शुरू हो गई. मैने पीछे से हाथ डाले और उनके बूब्स को दबाना शुरू कर दिया.

More Sexy Stories  Sex With Married Auntie In Delhi

भाभी पूरी तरह से मस्त हो चुकी थी. उसके बाद मैने भाभी को सीधा किया और उन्हे चूसने लग गया. भाभी ने मेरे कान मे धीरे से कहा. रवि प्लीज़ फक मी हार्ड. ये सुनते ही मैने उन्हे अपनी गोदी मे उठाया और बेड पर ले गया.
बेड पर ले जाते ही मैने उनके सारे कपड़े निकाल दीए और उन्हे पूरा नंगा कर दिया. मैने उनके बूब्स को चूसना और काटना शुरू कर दिया. भाभी के मुह से आहह आहह की आवाज़ें आना शुरू हो गई. वो मेरे सिर को दबा दबा कर अपने बूब्स चुस्वा रही थी.

बूब्स चूसने के बाद मैं उनकी चूत के पास गया. और जेसे मैने उनकी चूत पर अपना मुह रखा. तभी उन्होने मेरा मुह अपनी चूत मे पूरा दबा दिया. मुझे सांस तक लेना बहोत मुश्किल हो रहा था. मेरी जीब अब उनकी चूत मे घुस चुकी थी जिससे भाभी पागल होने लग गई. और करीब 5 मिनिट मे ही मेरी जीब के उपर गरम लावा गिर गया. उसका टेस्ट काफ़ी नमकीन था पर बहोत ही टेस्टी था जिसे मैं बड़े मज़े मे चूस चूस कर पी गया.
मैने भाभी से पूछा की आप को सॉफ्ट सेक्स करवाना है या वाइल्ड और हार्ड. भाभी ने कहा जो मर्ज़ी करो पर जो करना है जल्दी करो अब मुझसे और नही रुका जाता. मैं समज चुका था की भाभी को सब कुछ करवाना है. इसलिए मैने अपने लंड पर थूक लगाया और उन्हे चोदने लग गया. मेरा 8 इंच का लंड 3 धके मे पूरा उनकी चूत मे घुसा.
और फिर भाभी ने अपनी गांड उठा उठा कर मेरा लंड अपनी चूत मे लिया. और फिर मैने 30 मिनिट ऐसे भाभी को चोद कर उन्हे घोड़ी बना दिया. और 45 मिनिट तक घोड़ी स्टाइल मे चोदने के बाद मैने भाभी के बूब्स और फेस पर अपना सारा पानी निकल दिया.

तभी हमें नीचे से भैया की कार की आवाज़ आई. हम दोनो जल्दी से अपने कपड़े डाले और बाहर सोफे पर बैठ गये. उस दिन हम दोनो बाल बाल बचे. और उस दिन के बाद हम महीने मे 20 बार कम से कम सेक्स करते है.