पड़ोसन आंटी की रात मे चुदाई

Padosan Aunty Ki Raat Me Chudai हेलो एवेरिवन, ये मेरी पहली स्टोरी है, ये स्टोरी मेरे साथ हुई वास्तविक घटना पर आधारित है, सबसे पहले मैं आप सब को अपने बारे मे कुछ बता देता हू, मैं 24 साल का गुजराती लड़का हू, मैं 5’11” लंबा हू और रेग्युलर जिम जाता हू, अभी मैं अहमदाबाद मे रहता हू. सेक्स जोड़ी चुदाई की कहानी

ये कहानी मेरे और मेरी पड़ोस की आंटी रोहिणी के अफेर की शुरुआत कैसे हुई उस पर बेस्ड है, रोहिणी 39 साल की मॅरीड लेडी है, वो मेरे पड़ोस मे अपने दो बच्चे एक लड़का और लड़की, अपने हज़्बेंड, जेठानी और भतीजी, एंड ससुर के साथ रहती है.

उसका फिगर डीसेंट और अट्रॅक्टिव है, वो रंग से एकदम फेर तो नही बट उसका फेस बोहोत ही क्यूट है, उसकी लंबाई करीबन 5’2″ के आस पास होगी, उसके ब्रेस्ट की साइज़ भी 34सी या 34डी होगी, उसके चुचे काफ़ी बड़े है, उसका पेट हल्का सा बल्जिंग है और उसकी गॅंड काफ़ी फर्म है.

ये स्टोरी 5 साल पुरानी है, उस समय मैं कॉलेज के 2न्ड ईयर मे था, मैं अपने फ्री टाइम मे उनके घर पे काफ़ी टाइम स्पेंड करता था, रोहिणी के हज़्बेंड बंटी के साथ मेरे काफ़ी अच्छे रीलेशन थे, हम बंटी की अंकल और रोहिणी को आंटी बुलाते थे.

मेरे स्कूल के दीनो से ही मुझे उन पर क्रश था, मैं उसका क्लीवेज और उसकी गॅंड को कोई मुझे देख ना ले उस तरह से देखा करता था, वो जब सफाई करने के लिए झुकती थी तब उसके सलवार से क्लीवेज सॉफ दिखाई देता था, मैने अपने फोन मे उसके क्लीवेज और उसकी गॅंड की काफ़ी फोटोस निकाल रखी थी और उन्हे देखकर मैने काफ़ी बार मूठ मारी है.

अब सीधे स्टोरी पे आता हू, अंकल को काम के लिए कई बार बाहर जाना पड़ता है, और मोस्ट्ली उनकी ट्रेन रात को ही निकलती है, सो हर बार मैं उन्हे स्टेशन छोड़ने जाता था उन्ही की बाइक पे, ऐसेही एक बार मैं अंकल को छोड़कर बाइक वापिस उनके घर पे रखने जा रहा था, तब मैने सोच लिया था की आज रात तो कैसे भी कर के रोहिणी आंटी को चोद के रहूँगा.

More Sexy Stories  Meri garam bhabhi ki sex ki pyas bujhaye

जब मैने उन्हे बाइक की चाबी लौटाई तब उनसे पानी मागा, मैने सब कुछ प्लॅन कर के रखा था, करीब 3-3:15 बजे थे रात के उसके घर मे, वो अपनी हज़्बेंड और बच्चो के साथ हॉल मे सोती थी, उसका ससुर बेडरूम मे, और उसकी जेठानी अपनी बेटी के साथ दूसरे बेडरूम मे, सो किचन ही एसी जगह थी जहा पे मैं उसे अकेले मिल सकु.

जब वो किचन मे पानी लेने गयी तब मैं भी चुपके चुपके उसके पीछे किचन मे चला गया और बिना कोई आवाज़ करे किचन का दरवाज़ा बंद कर दिया और उसकी और मुड़ा, रोहिणी की पीठ मेरी और थी उसने हल्के ब्राउन कलर का सलवार कमीज़ पहना था, मैं चुपके से उसके पीछे गया और एकदम से उसके मूह को अपने राइट हॅंड से बंद कर दिया ताकि वो कोई आवाज़ ना निकाल सके.

फिर मैने उसके कन मे कहा की मुझे उसके साथ सेक्स करना है, मैं उसकी मर्ज़ी से या ज़बरदस्ती कैसे भी आज उसको चोदने वाला हू, तो अछा यही रहेगा की वो मेरा साथ दे और खुद भी मज़े ले. ये सुनकर वो घबरा गयी और झटपटाने लगी और अपने आप को छोड़ने की कोशिश करने लगी.

मैने उसका मूह ओर ज़ोर से पकड़ और मज़बूत की और उसे बोला की लास्ट चान्स दे रहा हू, अगर झटपटाना बंद नही करेगी तो ज़बरदस्ती करनी पड़ेगी मुझे, पर वो मानने को तैइय्यार ही नही थी.

फिर मैने अपने लेफ्ट हॅंड से उसके बूब्स मसलने लगा कमीज़ के उपर से ही, उसके बूब्स काफ़ी सॉफ्ट थे और बड़े भी, वो मुझसे छूटने की काफ़ी कोशिश कर रही थी पर कोई आवाज़ नही निकल पा रही थी और मैने धीरे से उसके सलवार के अंदर हाथ डाल दिया और उसके बूब्स दबाने लगा, उसने ब्रा नही पहनी थी.

More Sexy Stories  चाची की चुनमुनिया

अब उसने रोना शुरू कर दिया था, मेरे पास अब और कोई ऑप्षन भी नही था अगर मैं उसे ऐसेही छोड़ के चला जाता तो भी वो सब कुछ सबको बता देती, इसीलिए मैने सोचा की वैसे भी वाट तो लगने ही वाली है क्यू ना आछे से मज़े लेकर ही मारे.

फिर मैने अपने लेफ्ट हॅंड से उसके सलवार का नाडा खोला और निकाल दिया, ऐसा करते ही वो और घबरा गयी और मेरे लेफ्ट हॅंड को पकड़ने लगी, मैने बड़े मुश्किल से अपना हाथ छुड़वाया और उसकी पैंटीमे डाल के उसकी चुत में उंगली डाल दी, अब उसका पूरा बदन कापने लगा था, और थोड़ी ही देर मे मेरा लेफ्ट हॅंड गीला हो चुका था.

वो झड़ चुकी थी, और अब वो मुझसे छूटनेकी भी कोशिश नही कर रही थी, मैने धीरे से अपना हाथ उसके मूह से हटाया और उसको अपनी और टर्न किया, उसका फेस अपने दोनो हाथो से पकड़ कर उसके होट पर अपने होट रख दिए और रिप्लाइ मे उसने अपनी ज़ुबान मेरे मूह मे डालना शुरू कर दिया.

अब तो मेरी खुशी का कोई ठिकाना ही नही था, मैने थोड़ी देर तक उसे किस करने के बाद उसके सारे कपड़े निकाल दिए, वो मेरे सामने पूरी नंगी खड़ी थी, उसके बूब्स काफ़ी बड़े और भरे हुए थे.

मैने सीधा उन पर टूट पड़ा, एक के बाद एक उसके दोनो बूब को जी भर के चूस रहा था, थोड़ी देर बाद मैं भी पूरा नंगा हो गया, फिर कुर्सी पर बैठा और रोहिणी को अपनी गोद मे बिठाया, और फिर से उसके बूब्स चूसने लगा, उसके बूब्स से दूध निकल रहा था जो स्वाद मे हल्का सा मीठा और गाढ़ा था, जी भर के उसका दूध पीने के बाद मैने उसको किस किया फिर उसको मेरा लंड चूसने को बोला.

Pages: 1 2