पड़ोस की रंडी भाभी को चोदा

हेलो फ्रेंड्स मेरा नाम श्रवण हैं और मैं 21 का हू ये मेरी पहली देसी सेक्स स्टोरीस हैं होप की आप सबको अछी लगेगी अब ज़्यादा देर ना करते हुए स्टोरी पे आता हूँ..

ये बात कुछ 3 साल पुरानी हैं जब मैं 12 एग्ज़ॅम के बाद घर पे था, तभी एक नयी फॅमिली हमारे बगल के घर मे रहने आए आज़ पेयिंग गेस्ट उसी दिन मैने उसे देखा क्या फिगर था उसका एज 28 पूरा गोरा बदन साइज़ 34-28-36 ब्लू कलर के साड़ी मे एकदम माल लग रहिति वो मैं हमारे छत के उपर से देख रहा था उपर से उसके बूब्स आचेसे दिख रहे थे. उसका पति रेलवे मे जॉब करता था और उसके दो छोटे बच्चे थे.

कुछ दिन बाद उनका हमारा घर आना जाना चालू हुआ तब मुझे उसका नाम पता चला उसका नाम रानी था, उसका पति ज़्यादातर बाहर ही रहता था, वो जब भी हमारे घर आती मैं उसको देखते रहता ओर चोदने का सोचता.

एक दिन मैं घर से अपना बाइक लेके घूमने निकल रहा था तो देखा थोड़ी आगे रानी चल चल के जा रही थी मैं पास जाके पूछा की कहाँ जा रही हो तो वो बोली की उसे कुछ कपड़े खरीदने हैं तो वो मार्केट जा रही हैं . तो मैने कहा चलिए मैं ड्रॉप कर देता हूँ वो मान गई आरू मेरे पीछे बैठ गई ट्रफ़िक बोहोत था उस्दीन तो बार बार मुझे ब्रेक लगाना पड़ रहा था और उसकी वजसे वो मेरे से और चिपक राहिती सिर्फ़ उसके टच सेहि मेरा लंड खड़ा हो गया था, मैने उसे मार्केट मे ड्रॉप किया तो उसने कहा की थोड़ा रुक जाओ हेल्प करदेना तो मैं मान गया.

हमलोग कपड़ेके दुकान मे गये और वो वहान ब्रा देखने लगी मैं उसे बस देखता जा रहा था और उसने भी मुझे नोटीस करलिया था की मैं उसे घूर रहा हूँ, उसके बाद वो बोली चलो कुछ खा लेते हैं ओर हम पास के होटेल मे गये . जब वो खाना खा रही थी मैं बस उसके बूब्स को देख रहा था और उसे भी ये पता चल गया था. फिर हम घर के लिए निकले रास्ते मे वो मुझसे मेरे बारे मे पूछने लगी.

More Sexy Stories  नैना की कुँवारी चूत

रानी- तुम्हारा कोई जीएफ़ हैं…?

मैं- नही जी

रानी- क्यूँ

मैं- आज तक कोई मिली नही…

रानी- ठीक हैं बोलो कैसी लड़की चाहिए मैं हेल्प करूँगी

मैं- बिल्कुल आपके जैसी

रानी- सच मे मुझमे ऐसा क्या हैं जो

मैं – आप बुरा तो नही मनोगी

रानी- नही बोलो

मैं- आप काफ़ी सुंदर और सेक्सी हो

रानी- सच मे तुम्हे सेक्सी लगती हूँ

मैं – हाँ

इतनेमे हम घर पोहच गये उसने मेरा नं. माँगा और बोली फिर जब बाहर जाना होगा तो बुलाउन्गि मैं अपना नं. देके चला गया.

कुछ दिन के बाद सुबह करीब 11 बजे उसने कॉल किया और बोली बाहर जाना हैं चलोगे मैं फट से राज़ी हो गया और उसके घर पोहोच गया. मैं जब उसके घर पोहचा कोई नही था और डोर भी खुला था मैने आवाज़ लगाई तो अंदर से वो बोलिकी मैं नहा रहीं हूँ रूको थोड़ा मैने सोचा उसे नंगा देखनेका आछा मौका हैं और मैं धीरे धीरे बाथरूम के तरफ गया और की होल से झाकने लगा कसम से दोस्तों क्या फिगर था

उसे देखते ही मेरा लंड सलामी देने लगा फिर उसने टॉवेल लपेटा जोकि उसके चेस्ट से घुटने के उपर तक था फिर मैं जल्दिसे वहाँसे हट गया और वो बाहर आई टॉवेल मे उसका फिगर पूरा पता चल रहा था और उसके खुले बॉल मुझे और पागल कर रहे थे उसने मुझे देख के एक स्माइल पास की और बेड रूम मे चली गयी.

मैं उसके रूम के बाहर खड़ा होके उसे देखने की कोशिश कर रहा था, शायद उसे पता चल गया उसने मुझे आवाज़ दी और रूम मे आने को बोली मैं सर नीचे करके रूम के अंदर गया तो देखा वो सिर्फ़ पैंटी मे हैं और ब्रा पहन रही हैं उसने मुझसे कहा की प्लीज़ ब्रा के हुक्स लगा दो मैं धीरे धीरे उसके पास गया और हुक्स लगाने लगा मेरा खड़ा लॅंड उसके बड़े गॅंड मे टच हो गया जैसे ही उसे पता चला वो जरासी हसी और अचानक घूम गयी ओर मेरे हातोसे ब्रा गिर गयी.

More Sexy Stories  भाभी को खुश करने के लिए

अब वो मेरे सामने आधी नंगी खड़ी थी सिर्फ़ पैंटी मे गर्मिका टाइम था तो मैं हाफ पैंट मे ही निकला था जिससे उसे मेरा खड़ा लॅंड साफ पता चल रहा था और वो उसे देख रही थी और मैं उसके बूब्स देख रहा था. तभी वो अचानक बोली कैसी लग रही हूँ मैं, मैं कहा भाबी काफ़ी सेक्शी लग रहे हो आप. फिर उसने जो कहा वो सुनके मे शॉक्ड हो गया …. उसने कहा सिर्फ़ देखेगा या कुछ करेगा भी, ये सुनते ही मैने उसे कसके गले लगा लिया और मेरा लॅंड उसके जिस्म से टच होनेलागा और उसके बूब्स मेरे चेस्ट से चिपके हुए थे.

मैं पागलों की तरह उसे किस करने लगा उसे चाटने लगा और एक हात से उसके बूब्स दबाने लगा अब वो भी पूरा गरम हो चुकी थी और ज़ोर ज़ोर्से साँसे ले रही थी, मैं उसे धक्का देके बेड पे गिरा दिया और उसके बूब्स को चूसने लगा वो मेरे सारको पकड़ के अपने बूब्स के उपर प्रेस कर रही थी और मैं बीच बीच मे उसके निप्पल्स को काट रहा था, और एक हात से उसके चुत को सहला रहा था.

थोड़ी देर बाद मैने उसकी पैंटी निकाल्दि और उसके चुत को चाटना स्टार्ट किया उसका चुत पूरी तरह से साफ था एक भी बाल नही था वो मेरे बलों को पकड़ के दबा रही थी और उम्म्म्मम…. आहह… और चाटो मेरे राजा मैं आजसे से तेरी जीएफ़ हूँ चाटो..उूउउम्म्म्मम थोड़ी देर बाद वो झड़ गयी और मैं उसका सारा रस पी गया.

Pages: 1 2