नौकरानी की चुदाई कहानी

Hindi Sexy Naukar Naukrani Ki Chudai kahani हेलो दोस्तो मेरा नाम शुषांत है और आज मैं आपको अपनी एक हिन्दी सेक्सी नौकर नौकरानी स्टोरी बताने जा रहा हूँ जो की अभी कुछ समय पहले की है. दोस्तो मेरी उमर 22 साल है और मेरे लंड का साइज़ 10 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है जिसको हर किसी प्यारी चूत का इंतेज़ार रहता है और चोदने के लिए बे-करार रहता है.

दोस्तो मेरे घर पर एक नौकरानी है जो घर का काम करती है और हमारे साथ ही रहती है. मेरे घर पर मैं और मम्मी ही है और पापा ऑस्ट्रेलिया मे रहते है. मेरे घर पर जो नौकरानी है वो बहोत सुंदर है उसको देख देख कर मेरा उसे चोदने का मन करता है.

उसका नाम रानी है और वो दिखने मे बहोत सुंदर है और उसके बूब्स बाहर की तरफ एक दम खड़े हुए बहोत मस्त लगते है और उसकी चिकनी गॅंड पीछे से बाहर की तरफ निकली हुई है जो की उसके मटकने से वो मटकती है और मेरे लंड को अपना दीवाना बना लेती है.

मेरी नौकरानी सच मे क्या आइटम है ये तो मानना ही पड़ेगा और मैं भी उसकी नाम की कई बार मूठ मार लेता हूँ क्योकि मम्मी के होते हुए मैं उसके साथ कुछ नही कर पता और बस उसकी चूत के लिए तरसता रहता हूँ.

पर सच मे एक दिन भगवान ने भी मेरी सुन ही ली और पापा ने मम्मी को ऑस्ट्रेलिया बुला लिया और फिर तो मैने ठान ही लिया की उसको चोद कर ही रहना है. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

अब मम्मी के जाने के बाद रानी घर का काम करने लग गई और मैं बाथरूम मे जा कर नंगा हो गया और वाहा अपना 10 इंच लंबा लंड निकाल कर बाहर रूम मे आ गया और रानी को आवाज़ लगाई तो वो जेसे ही आई तो मुझे एक तक देखती ही रह गई क्योकि मैं उसके सामने था और उसकी नज़र सीधा मेरे लंड पर जा गिरी और उसे देख मुस्कुरा कर किचन मे चली गई.

More Sexy Stories  मेरी भाभी लंड की प्यासी

मैं भी उसके पीछे पीछे वही पर चला गया और बोला – ये तुम्हारे लिए है पता भी है कबसे तरस रहा हूँ.

रानी – इतने मे इतनी देर क्यो लगा दी.

मैं अब समझ गया की उसे भी कोई प्राब्लम नही है इसलिए मैने उसके होंठो को अपने होंठो मे भर लिया और ज़ोर ज़ोर से चूसने लग गया जिससे वो भी पागल हो गई और बोली- साहब मैं तो कबसे इंतेज़ार कर रही थी.

अब मैने रानी को अपनी गोद मे उठाया और उसे बिस्तर पर ले जा कर उसकी साड़ी को उसके जिस्म से अलग कर दिया और जैसे ही उसके जिस्म से कपड़े अलग हुए तो उसका चिकना शरीर मेरे सामने आ गया और मैने उसके गोल-गोल बूब्स को देखते ही उसके बूब्स दबाने लग गया.

और अपने हाथ से उसकी चूत पर रख कर चूत के दाने पर उंगली रगड़ने लग गया जिससे वो आअह्ह्ह आअह्ह की सिसकारिया भरने लग गई और मैं अब उसके बूब के निप्पल को मूह मे ले कर चूसने लग गया जिससे वो पागल होती चली गई और मुझे अपनी बाहो मे भरती चली गई.

अब मैने उसकी चिकनी चूत पर से हाथ हटाया और उसकी टॅंगो को खोल कर उसके बीच मे आ कर अपना मूह उसकी चूत पर रख दिया और उसको अपनी जीब से चाटने लग गया और साथ ही साथ बूब्स भी दबाने लग गया जिससे वो बस उउउह्ह्ह्ह आआअह्ह्ह की आवाज़े निकालने लग गई और फिर मैने उसकी चूत को चाटते हुए जीब को अंदर डाल दिया और अपनी जीब से उसकी चूत को मारने लग गया और इसी बीच करीब 10 मीं बाद उसकी चूत का पानी निकल गया जिसको मैने चाट-चाट कर पी लिया.

अब रानी ने मेरे कपड़े भी उतार दिए और मेरे 10 इंच लंबे लंड को ले कर अपने मूह और जीब से चूसने और चाटने लग गई जिससे मेरा लंड और भी खड़ा हो गया और अब मेरे लंड से रुका भी नही जा रहा था इसलिए मैने उसके मूह से लंड निकाला और उसकी गॅंड के नीचे पिल्लो रख कर उसकी चूत पर थूक लगाने लग गया. मैने चूत को जैसेही देखा था तो मैं समझ गया था की चूत बहोत टाइट है यानी की चूत की सील अभी तक टूटी भी नही है और आज ये सील मेरे 10 इंच लंबे लंड से टूटेगी.

More Sexy Stories  पड़ोसन दीदी नेहा की चुदाई

मैं – रानी तुम्हारी चूत मे पहले काफ़ी दर्द होगा तो सहन करलेणा फिर देखना मज़े ही मज़े है.

रानी – ठीक है डालो मैं भी इंतेज़ार कर रही हूँ.

मैने लंड का धक्का धीरे से चूत पर लगाया तो लंड बिल्कुल हल्का सा अंदर गया जिससे वो थोड़ा छींख पड़ी पर मैने परवाह ना करते ही और थोड़ा धक्का लगाया तो वो और ज़ोर से चिल्लाई और फिर मैने सील तोड़ने के लिए उसके कंधो को ज़ोर से पकड़ लिया और एक दम सील तोड़ते हुए अपना 4 इंच लंबा लंड उसकी चूत मे उतार दिया जिससे वो रोने लग गई इसलिए मैं 10 मिनिट रुक गया और फिर मैने उसकी चूत मे धक्का लगाना शुरू कर दिया जिससे खून के साथ-साथ पानी भी निकलने लग गया.

मैं अब फिर 10 मिनिट रुक गया और फिर उसकी चूत को अपने लंड को पूरा अंदर डाल कर चोदने लग गया और चोदता ही चला गया जिससे वो एक बार और झड़ गई, अब आप सोच रहे होंगे की मेरा क्यो नही निकल रहा क्योकि मैने बाथरूम मे लंड का पानी देर से निकालने के लिए गोली खा ली थी जिसका असर अब हो रहा था.
मुझे अपना फीडबॅक देने के लिए कृपया कहानी को ‘लाइक’ ज़रूर करे, ताकि कहानियों का ये दौर देसी कहानी पर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

Pages: 1 2