मम्मी की फ्रेंड को चोदा

Mummy Ki Friend Ko Choda हेलो दोस्तो. आई’एम बॅक वित अनादर फ्री हिन्दी सेक्स स्टोरी देसी चुदाई. ये कहानी बिल्कुल सच्ची घटना पे है क्यूंकी यह 3 दिन पहले ही मेरे साथ हुई है. तो दोस्तो मैं पुणे में रहता हूँ और अभी घर आया हुआ हूँ. मैं एक सोसाइटी में रहता हूँ.

हमारे सोसाइटी में एक से बढ़कर एक अंटिया रहती है. कई एक दम न्यूली मॅरीड है तो कई मिल्फ (मोम्स आई लाइक टू फक) है. कई 40 साल की है लेकिन ज़्यादा तर सेक्सी है सारी.

तो अब कहानी पे आते है. मैं अपने दोस्तो के साथ बाहर जाने वाला था तो मैने अपनी एक जीन्स निकाली और वो पहनी जब पहनी तो देखा वो ढीली आ रही थी. मैने यह बात अपनी मा को बताई. उन्होने कहा “जा बाजार में जाके ठीक कारवाले” जैसे ही मैं जाने लगा उन्होने मुझे रोक कर कहा की धूप बोहोत हो रही है तो इसे अछा उनकी एक फ्रेंड है जो यह काम कर सकती है.

मैने कहा जल्दी बताओ क्यूंकी मुझे देर हो रही थी. तो मैं जीन्स लेके अलीशा आंटी के घर चला गया. मैने घर की बेल बजाई. एक 22 साल की लेडी ने गेट खोला. उन्होने घुटनो तक के शॉर्ट्स पह्न रखे थे और एक टॉप पह्न रखा था. टी शर्ट ढीली थी जिसे सॉफ पता लग रहा था की उन्होने ब्रा नही पह्न रखी है.(घर पे ब्रा पहनता भी कौन है).

आंटी का कलर मीडियम फेर था. मगर उनका फिगर पलंग तोड़ था. उन्होने गेट खोला और मैने उन्हे नमस्ते करके उन्होने मुझे अंदर बुलाया. मुझे उन्होने सोफा पे बैठने को कहा.

फिर वो किचेन में चली गई. क्या गॅंड थी आंटी की. मटक मटक के चल कर गई किचन तक. एक दम सॉफ्ट गॅंड थी. मन कर रहा था उन्हे वही उनकी गॅंड को किस करदु. फिर वो पानी लेकर आई और मेरे साथ बैठ गई.

फिर उन्होने पूछा की क्या करते हो. कब आए यहाँ. उन्हे सब बताके उन्होने कहा दो कौनसी जीन्स है जो टाइट करनी है. मैने उनसे बोला की आप लगती नही हो की सिलाई एंड स्टीचिंग भी करती होंगी. तो वो बोली यह तो बस उनकी हॉबी है. फिर मैने उनको जीन्स देदि.

More Sexy Stories  मेरी मा मेरे दोस्त से चुदाई

फिर वो एनर से इंची टेप लाई और मुझे सीधा खड़े होने को बोला. मैं सीधा खड़ा हो गया. वो मेरे एक दम सामने आके खड़ी हो गई. उनसे जो खुशबू आई वो मैं कभी नही भूल सकता. वो मेरे एक दम सामने आके खड़ी हो गई.

उन्होने वो इंची टेप लेके जैसे ही मेरे वेस्ट नापने के लिए आगे बढ़ी उनके बूब्स मेरी चेस्ट पे दब गये. क्या फीलिंग थी वो. एलेकट्रसिटी मेरे बदन में धौड़ पड़ी और मेरा लंड धीरे धीरे खड़ा होने लगा. वो नीचे झुकी और थाई नापने लगी. मेरा लंड अब तक खड़ा नही हुआ था मगर धीरे धीरे हिल कर खड़ा हो रहा था. आंटी ने शायद वो देख लिया था मगर कोई रिएक्शन नही दिया था.

फिर मेरा मासुरमेंट लेने के बाद आंटी ने कहा की यह शाम को ले जाना. तो मैने कहा ठीक है. फिर मैं शाम को उनके घर गया तो उन्होने वही ड्रेस पहनी हुई थी और मैं उनसे वो लेके आ गया. .

मुझे वो आंटी का नशा सा चढ़ गया था . 3 दिन तक लगातार मैने उनको सोच सोच कर मूठ मारी. मैने अपनी इमॅजिनेशन में उनको ऑलरेडी 3 बार चोद चुका था. मेरा मन वापिस हो रहा था उनके पास जाने का तो मैने मम्मी से वापिस बोला की मेरी जीन्स ढीली हो गई है तो उन्होने कहा की आंटी को देदे वो ठीक कर देंगी.

मैं फिर अगले दिन का वेट कर रहा था. मैं सुबह 9 बजे उनके घर पोहोच गया. मैने बेल बजाई और आंटी ने थोड़ी देर बाद गेट खोला आंटी के बाल गीले थे जिसे पता चल रहा था की वो नाहके आई. आंटी ने वाइट टी शर्ट पह्न रखी थी और पैजामा पह्न रखा था. टी शर्ट वाइट होने के कारण. उनके निप्पल्स बाहर शेप में दिख रहे थे.

More Sexy Stories  भाभी और उसकी छोटी बेहन की चुदाई

टी शर्ट हल्की सी बूब्स और स्टमक के साइड से गीली थी जिसे उनके अंदर का बदन दिख रहा था. मेरा लंड तभी ही खड़ा होना शुरू हो गया. आज मैं पूरा मान बनाके आया था की आंटी के साथ कम से कम किस तो करना है. मैने आंटी से कहा एक और जीन्स है उसे भी फिट करदो.

आंटी ने कहा ठीक है. आंटी ने कहा थोड़ी देर बैठो जब तक मैं टी बना लेती हूँ. मैने काहा ओके. आंटी की गॅंड मुझे वापिस देखने को मिली और में पागल हो गया. सेक्स का नशा मुझे तभी से शुरू हो गया. आंटी फिर इंची टेप लेकर आई और मुझे वापिस खड़े होने को बोला. मैं खड़ा हो गया और इस बार मेरा लंड भी पूरा खड़ा हुआ था.

आंटी पास में आई और मेरे चारो और हाथ कर के मेरी वेस्ट नापने लगी तभी उनके बड़े बड़े 36डी बूब्स मेरी चेस्ट पे टच हुए और मैने नीचे से अपने लंड को उनकी पुसी पे टच कर वा दिया.

आंटी ने कोई रिएक्शन नही दिया. आंटी फिर नीचे हुए और थाइस नापने लगी और फिर मैं थोड़ा आगे बढ़कर उनके हाथों पे अपना लंड लगा दिया.

उनकी क्लीवेज मुझे सॉफ दिख रही थी. मैने आंटी से कहा “आंटी मैं जीन्स वेस्ट के थोड़ा उपर पहनता हूँ तो आप वापिस मेज़रमेंट लेलो” आंटी समझ गई की मैं क्या करवाना चाह रहा था.
आंटी वापिस उपर हुए और नापने लगी. आंटी ने चारो तरफ हाथ करा और आंटी वापिस मेरी वेस्ट नापने लगी तो तभी मैने आंटी के वेस्ट के चारो और हाथ कर दिया. आंटी कुछ नही बोली और तभी मुझे पता चल गया की उन्हे भी मेरा लंड चाहिए.

Pages: 1 2