मम्मी की चुदाई का सीधा परसरण

हेलो मेरे सभी प्यारे दोस्तो, मैं ऋतु हरयाणा से अपनी मा की चुदाई की कहानी ले कर आई हूँ. इस कहानी मे मैने अपनी सग़ी मा को अपने सगे चाचा से चुदते हुए देखा है. आज वो सब कुछ मैं आपको बताने की कोशिश कर रही हूँ.

क्योकि किसी को ये बताना की मेरी मा कैसे किससे चुदि है, ये सच मे बहुत मुश्किल है. पर मैं भी क्या करूँ, ये बोझ मेरे सिर और दिल पर था. इसलिए आज मैं ये सब आपको एक कहानी के रूप मे बता कर. अपने सिर और दिल का वजन हल्का कर रही हूँ.
जे
मेरे घर मैं और मेरी मम्मी ही रहती है. क्योकि पापा की मृत्यु कार आक्सिडेंट मे पिछले साल ही हुई है. मेरी उम्र 16 साल है, और मेरी मम्मी की उम्र 36 साल है. पर उन्हे देख कर कोई नही कह सकता की वो 36 साल की है. वो देखने मे आज भी 27 साल से ज़्यादा नही लगती.

पापा के जाने के बाद हम दोनो एक दम अकेले से हो गये थे. पापा एक प्राइवेट जॉब करते थे. इसलिए अब उनकी सेविंग और कुछ क्लेम पर ही हम जी रहे थे. मेरे एक चाचा है, जो एक अची गवर्नमेंट जॉब करते है. जिसने अभी तक शादी नही करी थी.

जब पापा हमे छोड़ कर चले गये तो चाचा ने हमे बहुत सपोर्ट किया. वो हमारे घर कभी कभी आते थे, और मम्मी पर शायद वो फिदा हो गये थे. वो मम्मी को चोदते थे, इस बात का मुझे पता चल गया था. एक दिन मैने उनके रूम से आती आवाज़ को सुन लिया.

और मुझे समझते देर नही लगी, की चाचा अब क्यो हमारे घर ज़्यादा आते है. साथ ही वो मम्मी को इतने पैसे देते है. उन्होने आज रात भी घर पर आना था. इसलिए मैने पहले ही मम्मी के रूम की विंडो को अपने हिसाब सेट कर दिया था. ताकि मैं बाहर से सब कुछ देख सकु.

More Sexy Stories  दोस्त की माँ का दीवाली गिफ्ट

रात हो गयी और मेरे दिल मे कुछ अजीब सी घबराहट होने लग गयी. क्योकि मेरी मा कुछ ही देर मे चुदने वाली थी, और तो और आज मैं अपनी मा को लाइव चुदते हुए देखूँगी. इस बात की खुशी भी थी मुझे, मैं ये सोच सोच कर परेशान हो रही थी.

की केसे चाचा अपना लंड मम्मी की चूत मे डालेंगे. ये सब सोच सोच कर मेरी चूत अपनी पानी निकालने को मजबूर हो रही थी. कुछ ही देर मे रात हो गयी और मैं और मम्मी एक साथ बैठ कर डिन्नर कर रहे थे.

मैं – मम्मी चाचू कैसे है ?

मम्मी मुस्कुराते हुए बोली – वो तो बहुत अच्छे और बहुत प्यारे है.

मैं – प्यारे है, इसका मतलब आप उनसे प्यार करती है.

मम्मी – तू चुप हो कर डिन्नर नही कर सकती. चाचा इस लिए प्यारे है, देख वो इस घर को अपना घर ही समझते है. तेरे पापा के जाने के बाद पापा की कमी महसूस नही होने दी उन्होने.

मैं – हा मम्मी आप सही कह रही हो. अगर आप बुरा ना मानो तो मेरी एक बात मान लो.

मम्मी – हा बोल.

मैं – चाचू को हमारे घर मे ही रहने के लिए कह दो ना. वैसे भी वो अकेले रहते है. हमारे साथ रहेंगे तो हम खुश रहेंगे और वो भी.

मम्मी – ठीक है मैं बात करूँगी इस बारे. चल अब तूने डिन्नर कर लिया ना. उठ अपने रूम मे जा और आराम से सो जा.

मम्मी की बात सुन कर मैं अपने रूम मे चली गयी. कुछ ही देर मे घर मे चाचा जी आ गये. मम्मी मेरे रूम मे मुझे देखने आई, की मैं अभी तक सोई या नही. इस बात का मुझे अच्छे से पता था, इसलिए मैं जान बुझ कर सोने का नाटक कर रही थी.

More Sexy Stories  दोस्त की मम्मी को ब्लॅकमेल कर के पेला

मम्मी ने सोचा की मैं सो गयी हूँ. इसलिए वो चाचा को ले कर अपने रूम मे चली गयी और रूम को अंदर से बंद कर लिया. मैं दो मिनिट बाद बाहर निकली तो देखा मम्मी का रूम बंद था. मैं जल्दी से विंडो पर गयी तो अंदर लाइव सेक्स शुरू होने ही वाला था.

अंदर मम्मी धीरे से चाचू के पास आई और उन्हे देखने लग गयी. फिर चाचू को उन्होने अपनी बाहों मे भर लिया. चाचू ने भी मम्मी को अपनी बाहों मे भर लिया और अगले ही पल उनके होंठो को अपने होंठो मे ले कर चूसने लग गये. मम्मी भी किस्सिंग मे उनका पूरा साथ दे रही थी.

चाचू के हाथ मम्मी के चूतड़ पर थे, जिन्हे चाचू ज़ोर ज़ोर से मसल रहे थे. चाचू का लंड अब तक पूरा खड़ा हो चुका था, जो उनके पेंट मे दिख रहा था. चाचू ने मम्मी से कहा.

चाचा – मेरी जान क्या आज तुम मेरे लंड को प्यार करोगी ?

मम्मी कुछ नही बोली और नीचे बैठ कर चाचा का पेंट खोल दिया. अब उनके सामने चाचा का 7 इंच लंबा काला लंड था. जिसे मम्मी अपनी जीब बाहर निकाल कर चाटने लग गयी. इससे शायद चाचू को बहुत मज़ा आ रा था, उन्होने अपनी आँखें बंद कर ली.

फिर धीरे धीरे मम्मी ने उनका लंड अपने मूह मे लेना शुरू कर दिया. मम्मी को ऐसा करते देख मेरे मूह मे भी पानी आ रा था. मेरा मन कर रहा था, की मैं भी चाचू का लंड अपने मूह मे ले कर चूस लू.

चाचू शायद अब पूरे मस्त हो गये थे, इसलिए उन्होने मम्मी का सिर पकड़ा और ज़ोर ज़ोर से उनका मूह चोदने लग गये. मम्मी की हालत देखने वाली थी, उनके आँखो से पानी निकलने लग गया था. पर चाचू रुकने का नाम नही ले रहे थे.

Pages: 1 2