मुझे अपनी बीवी बना कर चोदो

मेरा नाम राजन है, और मैं अमृतसर से हूँ. मेरी उम्र 19 साल है, और मुझे 18 साल की उम्र मे ही एक लड़की से बहुत प्यार हो गया था. जिसे मैने अपनी वाइफ बना कर जम कर चोदा. तो चलिए अब कहानी को मैं शुरू करता हूँ.

ये बात तब की है जब मैं 10+2 क्लास मे था. हमारे स्कूल मे एक बड़ा बहुत बड़ा साइन्स का प्रॉजेक्ट सेमिनार रखा था. हमारे स्कूल मे आस पास के काफ़ी सारे स्टूडेंट उसमे हिस्सा लेने के लिए आए हुए थे.

वाहा मुझे एक लड़की दिखी, जिसे देखते ही मेरा दिल उस पर आ गया. मैं पूरा दिन सिर्फ़ उसे ही देखता राहा. मुझे उससे प्यार सा हो गया था, मैने उसका नाम पता किया. तो मुझे पता चला की उसका नाम रूपा है.

कसम से जैसा उसका नाम था, खुद भी वो ऐसी ही थी. मतलब की रूप की मालिका, उसका रंग एक दम गोरा, होंठ गुलाबी इतने की कभी लिपस्टिक लगाने की ज़रूरत ही ना पड़े. उसका फिगर कुछ ऐसा था 30-28-32. उसके बूब्स और गांड, ज़्यादा बड़े न्ही थे.

पर जैसे भी थे, बहुत ही ज़्यादा अच्छे थे. मुझे पूरा विश्वास था, की मैं उसके बूब्स चूस चूस कर बड़े कर दूँगा. मेरा उससे बात करने का बहुत मन था, पर ना जाने उससे उस दिन मैं बात न्ही कर पाया.

वो दिन ऐसे ही निकल गया, फिर करीब एक महीने बाद वो मेरे स्कूल के बाहर मुझे मिली. उसके साथ एक लड़की थी, जो उस दिन उसके साथ ही थी. उस दिन मैने पहली बार उससे बात करी. उससे बात करते हुए, मैने सोचा आज क्यो ना इसे अपने दिल की बात बता दू.

पर मैने उससे उस दिन कुछ न्ही काहा, हम दोनो मे सिर्फ़ दोस्ती हो गई. थोड़े दिन बाद हम फिर से मिले, और उस दिन मैने हिम्मत करके उसे सब कुछ बता दिया. की मैं उससे बहुत प्यार करता हूँ. पर रूपा ने मेरी बात सुनते ही, मुझे मना कर दिया.

More Sexy Stories  बहन की कुवारि चूत की चुदाई

उसने मुझसे कहा की, वो अपने घर वालो के खिलाफ न्ही जा सकती. उसकी शादी उसके घर वालो की मर्ज़ी से ही होगी. इसलिए वो अभी प्यार के चक्कर मे न्ही पड़ना चाहती. उसकी बात को मैं समझ गया, और उसे सिर्फ़ दोस्ती के लिए काहा. ये बात रूपा ने मान ली.

अब हम दोनो सिर्फ़ एक अच्छे दोस्त बन चुके थे. पर धीरे धीरे उसके उपर मेरे प्यार का रंग चड़ने लग गया. अब वो मुझसे प्यार करने लग गयइ थी. अब वो मेरे बिना न्ही रह सकती थी. हम दोनो एक दूसरे के बहुत करीब आ गये थे.

एक दिन की बात है, मैं और वो पार्क मे थे. मैने मौका देख कर, उसका चेहरे अपने हाथो मे पकड़ा और उसके होंठो को अपने होंठो मे ले कर ज़ोर ज़ोर से चूसने लग गया. उसके होंठो का रस्स मुझे दीवाना बनारा था.

रूपा भी किस मे मेरा पूरा साथ दे रही थी. उसके होंठो के रस्स का नशा अब मेरे रस्स मे चढ़ रहा था. उसके होंठो को चूमता हुआ, मैं नीचे उसकी गरदन और छाती पर आ गया.

रूपा ने टॉप डाला हुआ था, मैने उसका टॉप उपर किया, और उसके बूब्स बाहर निकाल लिए. उसके गोरे गोरे बूब्स देख कर, मेरे मूह मे पानी आ गया. मैं एक पागल की तरह उसके बूब्स पर टूट पड़ा. मैं ज़ोर ज़ोर से उसके बूब्स चूसने लग गया.

रूपा भी अपनी आँखें बंद करके, पूरा मज़ा ले रही थी. फिर तभी हमे किसी के आने की आवाज़ आई. और हम दोनो एक दूसरे से अलग हो कर नॉर्मल हो कर बैठ गये. उस दिन हम दोनो बहुत गरम हो गये थे.

अगले ही दिन मेरे घर वाले थोड़ी देर के लिए बाहर गये हुए थे. मैने रूपा को फोन किया, तो वो मेरे घर के पास वाली मार्केट मे ही थी. मैने उसे अपने घर बुला लिया. घर के अंदर आते ही मैने उसे अपनी बाहों मे भर लिया. और फिर उसे ज़ोर ज़ोर से चूमने और चाटने लग गया.

More Sexy Stories  Enjoyed With Staff’s Roommate

उस दिन हम दोनो ने एक दूसरे को पहली बार पूरा नंगा देखा, रूपा मेरे लंड को देख रही थी. और मैं उसकी चूत को देख रा था. उसकी चूत पर बहुत सारे बाल थे.

मेरा मन कर रा था, की उसे अभी चोद दु. पर मेरे घर वाले किसी भी टाइम आ सकते थे. इसलिए मैने उसे घर से थोड़ी देर बाद निकाल दिया. फिर हम दोनो मूवी देखने के लिए गये.

सिनिमा हॉल मे मैने उसे उपर से पूरा नंगा कर दिया, और उसके बूब्स को काफ़ी अच्छे से चूसा. मैने अपना लंड निकाल कर उसके हाथ मे दे दिया, और मैने भी उसकी चूत मे अपनी उंगली डॉल दी. हम दोनो ने अपना अपना पानी निकाला.

अब हम दोनो मे पूरी आग लग चुकी थी. हम दोनो एक दूसरे के साथ सेक्स करना चाहते थे. पर मुझे एक अच्छे मौके की तलाश थी. इसी बीच मैने उसे कह दिया, की मुझे उसकी चूत अब एक दम चिकनी ही देखनी है.

तभी मुझे पता चला की मेरे घर वालो को अगले वीक मे पूरे दिन के लिए बाहर जाना है. ये सुन कर मैं खुशी से झूम उठा. मैने रूपा को तयार होने के लिए कह दिया. फिर बहुत इंतज़ार के बाद आख़िर वो दिन आ ही गया.

मैं घर मे उसके आने का वेट कर रहा था. रूपा मेरे घर सुबह 11 बजे आ गई. वो आज बहुत ही खूबसूरत लग रही थी. उसने आज खुद अपने मूह से काहा, की मैं तुमसे अब बहुत प्यार करती हूँ.

Pages: 1 2