मेरी मोटी पड़ोसन आंटी

हाई देसी काहानी रीडर्स और सभी हॉट आंटीस और भाभीएस को मेरा स्पेशल चुत पे किस मैं आशीष रायपुर सि.जि. से आप सबका अपना पहला चुदाई का एक्सपीरियेन्स बताने जा रहा हू की कैसे मैने अपने पड़ोस की आंटी को मस्ती के साथ चोदा, मेरी एज 21 है और मेरी ये हिन्दी सेक्स स्टोरीस 6 ईयर्स पहले की है जब मैं 10थ क्लास मे बोर्ड एग्ज़ॅम्स क्लियर कर के समर हॉलिडेज़ एंजॉय कर राहा था.

तो स्टोरी ये है की आंटी अपने हज़्बेंड और एक बेटी जो मुजसे पाँच साल बड़ी थी के साथ हमारे पड़ोस मे घर रेंट पे ले कर रहती थी. अंकल डेली जॉब पर जाते और रात 10:30 तक वापस आते और उनकी बेटी इंजिनियरिंग कर रही थी..

वो भी शाम को 6:30 बजे तक आती थी जिसके कारण आंटी पूरा दिन घर पे अकेली रहती थी इसीलिए अपना टाइम पास करने अपने पहचान वाली दूसरी लेडीस के घर चली जाती या उन्हे अपने घर बुला लेती.

आंटी घर पे सलवार सूट ही पहनती थी और डेली सुबह 11:30 के आस पास घर का आँगन धोती थी बिना दुपट्टा लिए जिससे उनके 36डी के साइज़ के बूब्स बाहर निकल आते वाउ दोस्तो आंटी के बूब्स का ऐसा व्यू तो किसी का भी लंड खड़ा कर के तंबू बनवा दे हमारे घरो की बाउंड्री वॉल्स छोटे थे तो मैं कूद कर आना जाना कर सकता था..

मैं वही वॉल पे बैठ कर आंटी के बूब्स घूरता था मैं ऐसा रोज़ करता था और इसकी वजह से आंटी ने भी ये नोटीस कर लिया था लेकिन कभी कोई रिएक्शन नही देती थी कुछ नही बोलती थी बस मुस्कुरा देती थी ऐसे ही दिन बीत रहे थे

फिर एक दिन मूज़े आंटी को चोदने का अपना सपना पूरा करने का मौका मिल ही गया वैसे भी गर्मी का मौसम था मे जून का मंथ था तो आंटी रोज़ शाम को सात बजे के करीब नहाती थी उनका बातरूम हमारे बाउंड्री वॉल से कनेक्टेड था तो मैं शावर से पानी के गिरने की आवाज़ सुनता था लेकिन दीदी तब तक घर आ जाती थी.

More Sexy Stories  Naukrani Kalyani Didi ki Chudai

तो मैं ऐसे ही मन मार कर रह जाता था लेकिन एक शाम को दीदी का वन कॉलेज फ्रेंड क साथ मूवी देखने चली गयी और आंटी घर पे तीन चार घंटो के लिया अकेली थी तो मैं मौका देख कर वॉल कूद कर आंटी के घर मे घुस गया और अंदर जो दूसरा बेडरूम था वाहा पे एक खिड़की थी जो खुली हुई थी तो मैं वही खड़े हो के अंदर देखा तो आंटी रूम मे नही थी और फिर बाथरूम से शावर की आवाज़ आई मैं समज गया की आंटी अंदर नहा रही थी तो मैं उनके बाहर आने का वेट करने लगा

आंटी थोड़ी देर मे बाहर आई उन्होने कमर के नीचे पेटिकोट बँधा हुआ था उपर कुछ नही पहना था उनके बड़े बड़े बूब्स वित ब्राउन कलर्ड निपल्स क्या मस्त ज्यूसी लग रहे थे मैं वही खड़ा हुआ सूखे पत्ते की तरह शिवेर कर राहा था क्योकि इतनी कम उमर मे कोई आंटी को ऐसे न्यूड देख रा था और उसके उपर आंटी की मस्त तूलतुली गॅंड मेरे सामने थी आंटी ने पेटिकोट काफ़ी लूझ बँधा हुआ था इतना लूझ की हल्का सा झटका दो और पेटिकोट खुल जाए आंटी की गॅंड की लाइन क्लियर्ली विज़िबल थी मेरी तो हालत खराब होती जा रही थी.

आंटी ड्रेसिंग टेबल पे खड़े हो कर अपने आपको ही चेकाउट कर रही थी फिर उन्होने अपने बूब्स प्रेस करना स्टार्ट कर दिया मैं तो हक्का बक्का खड़ा ये नज़ारा देख रा था की आंटी भी सेक्स की भूखी है मैं वही अपना लंड मसालने लगा फिर आंटी ने अपने पेटिकोट टाइट किया और अलमारी खोल कर अपना गाउन बाहर निकाला..

और जब उन्होने अलमारी बंद की तो मिरर पे मुझे देख लिया और जैसे तैसे कर के अपने आपको उपर से कवर कर लिया और पलट कर मुझसे बोली की मैं यहा खिड़की पे खड़ा होकर क्या देख रा था तो मेरी डर के कारण गॅंड फट क चार हो गयी तब मैने उनसे सॉरी बोला और ये कहा की आज से ऐसा कुछ नही करूँगा और वाहा से जाने लगा तो आंटी ने मूज़े रोका और बोला की अंदर आ मैं तेरे को कुछ समज़ाना चाहती हू

More Sexy Stories  मेरी सेक्सी बहन की शादी के बाद की चुदाई

फिर आंटी ने सामने वाले रूम का डोर खोला और मूज़े अंदर उसी बेडरूम मे ले गयी क्योंकि दो ही तो रूम थे ह्म दोनो वही बेड पे बैठ गये और आंटी अपने बाल सुखाने लगी मैं बस यूही बैठा उनके बूब्स घुरे जा रा था ये आंटी ने देख लिया..

और मिझे बोली देव क्या देख रा है इतने क्या तुझे मेरे मम्मे पसंद आ गये हैं जो तेरी नज़रे ही नही हट रही हैं (मेरा निक नेम देव है) मैं एक दम शॉकिंग्ली आंटी को देख रा था.

तो वो बोली इतना शॉक मत हो मैं सब जानती हू की तेरे दिमाग़ मे क्या खिचड़ी पकती रहती है जब तू सुबह मुझे आँगन धोते वक़्त घूरता रहता है मई जानती हू की तू मेरे बारे मे क्या क्या ख़याली पुलाव पकता रहता है.
मैं बोला आंटी मैं भी क्या करू आप के असेट्स इतने रिवीलिंग है की मैं मदमस्त हो जाता हू आपके बूब्स इतने बड़े है और आपकी गॅंड तो ओह मय गॉड क्या गॅंड है मैं भी अब खुल के जब शरम छ्चोड़के खुल कर बात करने लगा.

मैं बोला आंटी आपके बूब्स जीतने बड़े किसी और के मैने नही देखे आप बहुत सेक्सी हो आंटी इतना सुन कर बोली अच्छा मैं तुझे सेक्सी लगती हू और क्या क्या अच्छा लगता है तेरे को मुझमे और तेरी कोई गर्लफ्रेंड नही है क्या जो मुझपे इतना फिदा हुआ जा रा है तो मैं बोला आंटी आप के जैसी कोई और नही देखी.

Pages: 1 2 3