मेरे ही दोस्त मेरी मेरी सगी बहन के साथ क्या सेक्स

mere hi dost ne meri sagi bahan ke sath kiya sex

mere hi dost ne meri sagi bahan ke sath kiya sexहेल्लो दोंस्तो मेरा नाम राहुल है, और यह कहानी मेरे दोस्त और मेरी बड़ी बहन की चुदाई की है। कहानी का शीर्षक है मेरे ही दोस्त मेरी मेरी सगी बहन के साथ क्या सेक्स। मेरा एक स्कूल का फ्रेंड है, उसे कुछ काम से मैंने घर बुलाया था। बहुत गर्मी पड़ रही थी, मेरे घर में सभी लोग काफी मॉर्डन टाइप के हैं तो हम सब छोटे छोटे कपड़े पहनते थे।

मैं अपने दोस्त का परिचय करा दूं, उसका नाम अजय गुप्ता है, हाईट में बहुत छोटा है, चेहरे पर निशान पड़े हैं, लगभग बिल्कुल भी स्मार्ट नहीं दिखता, वो अपने दोस्त को लेकर मेरे घर आता है, क्योंकि हमारा घर काफी बड़ा है और सबके अपने पर्सनल रूम है। वह दोनों गलती से मेरी बड़ी बहन के रूम में घुस जाते हैं, पहली बार अजय ने मेरी बहन को देखा था।

मेरी सबसे बड़ी बहन का नाम अर्चना है, दिखने में एकदम गोरी फिगर ३४-२८-३४ हे, मेरे घर में सभी का फिगर अच्छा है।

क्योंकि गर्मी बहुत थी तो मेरी बहन मैं उस दिन टी शर्ट और लूज स्कर्ट डाली हुई थी, और अपने पेट के बल वह बेड पर लेटी हुई थी, जिस से उस ने मेरे दोस्त को नहीं देखा था।

वो दोनों मेरी बहन की गांड देख रहे थे, अजय अपना लंड बहार से सहलाने लगा, उसका दोस्त जो उस के साथ आया था, उसके बारे में भी बता दूं, वह बहुत लंबा चौड़ा हट्टा कट्टा था।

और वह बहुत हरामी भी था यानी लड़ाई झगड़ा, नशा सब करता है। और लड़कियां उनके लिए बस चूत देने के लिए है और वह लोग लड़कियों की इज्जत तक नहीं करते थे।

तो वह दोनों मेरी बहन की गांड देख रहे थे इतने में मैं आया और मैंने कहा यहां नहीं वहां है मेरा रूम आ जाओ।

More Sexy Stories  दीदी के साथ जीजू ने मुझे भी चोदा

अजय बोला सॉरी यार गलती से यहां आ गए।

फिर हम तीनों मेरे रूम में चले गए

मेरे रूम की एक खासियत है। मेरे रूम की विंडो में एक छोटा सा होल है जो खुद मैंने किया है, जिससे वह रूम दिखता है जहां बाथरूम है और सब चेंज भी वही करती है। दूसरा मैंने बाथरूम की डोर में भी एक छोटा सा होल किया हुआ है ताकि मैं नहाते हुए भी देख सकूं।

अब मैंने सोचा क्यों नहीं उनके दिमाग में बात डाली जाए? वैसे भी मेरी बहन अब चेंज करने जाने वाली थी, मैंने बोला यार तेरी नजर में कोई कारपेंटर है, मेरे बाथरुम के गेट में होल हो गया है।

मैंने उसको वहां ले गया दिखाने। मैंने उसको होल दिखाते हुए कहा कि इस को बंद करवाना है, वरना नहाते हुए डर लगता है कोई देख ना ले। फिर हम वापस आ गए, अब बाथरूम में किसी के घुसने की आवाज आई, तो मैंने बोला यार मुझे बाथरुम जाना था अर्चना को भी अभी घुसना था नहाने।

फिर २ मिनट के बाद बहाना करके निकल गया और बोला मैं २० मिनट में आऊंगा।।

जैसे ही मैं निकला कुछ सेकंड में वो दोनों हरामी भी उस रूम में घुस गए और मैं वापस अपने रूम में आकर विंडो से देखने लगा, मैंने देखा दोनों ने एक एक बार होल में देखा और उनकी आंखें फटी रह गई, दोनों एक दूसरे को अजीब नजरों से देख रहे थे। अजय उसको इशारे कर रहा था कि बूब्स बहुत अच्छे हैं, अब दोनों ने अपना लंड निकाल लिया और बारी बारी देखकर हीलाने लगे।

१५ मिनट तक यह सब चलता रहा, फिर दरवाजा खुलने वाला था इसलिए वह दोनों बाहर आ गए अभी जो मैंने देखा में भी हील गया, बाथरूम में अर्चना नहीं मेरी मां थी।

उसके बाद वह दोनों चले गए और लगभग रेग्युलर आना शुरू कर दिया, उन्होंने सबसे थोड़ी जान पहचान भी कर ली थी। लेकिन मुझे मेरे दोस्त ने बताया कि वह लड़का जो मेरे दोस्त के साथ आया था, उसने मेरी सिस्टर को प्रपोज मारा और उसने हां कर दी। मुझे पता था इतना हट्टा-कट्टा है वह कोई भी हां कर देगी।

More Sexy Stories  प्यासी भाभी की चूत मे आग

एक दिन मैंने देखा उसको फोन पर किसी से बात करते हुए, मैं बस इतना सुन पा रहा था कि ठीक है लेकिन अजय को बोलो जय को कुछ नहीं बताए, मैं समझ गया कुछ गड़बड़ है। तो मैंने उसका पीछा किया। तो देखा वह एक बेसमेंट पार्किंग में घुस गई और एक स्कॉर्पियो में जाकर बैठ गयी। मैं अंदर जाने लगा तो पार्किंग वाले ने मुझे रोक लिया।

उसने बोला सर कौन सी कार है बताओ मैं खुद बाहर ले कर आ जाऊंगा, मैंने कहा नहीं ऐसे ही जा रहा हूं, उसने बोला सर ऐसे मत जाइए। मैंने कहा क्यों? उसने कहा सर किसी ने मना किया है। किसी को भी अंदर आने को। पूछने पर पता चला की अजय के दोस्त ने बोला है यह सब और बोला है उसे भी मजे करने देगा।

मैंने कहा मैं तुझे पैसे दूंगा, कोई भी काले शीशे वाली गाड़ी में मुजे बैठाकर स्कोर्पियो के साइड में लगा दो, थोड़ी देर में वह मान गया। उसने अजय के दोस्त को फोन किया है सर अभी मत करना, बस एक लास्ट कार लगानी है, यह कहते हुए गाड़ी अंदर ले गया और मैं उसी में था। उसने वह चार ऐसे लगाई कि मुझे सब आराम से दिख रहा था।

अब मैंने जो देखा वो देखकर हक्का बक्का रह गया, उस दिन अर्चना ने सूट पहना था, मैंने देखा कि अजय ने अर्चना की सलवार पकड़ी और खींच ली। अब वह पेंटि में थी। अर्चना का सर अजय के दोस्त की गोद में था, और पैर अजय की गोद में थे।

Pages: 1 2