मामा ससुर की लड़की को चोदा

Indian Sexy Story Mama Sasur Ki Ladki Ko Choda हाय दोस्तो मैं साहिल आपके लिए एक और नयी सच्ची कहानी लेकर आया हू, आपने मेरी पिछली सेक्स स्टोरी “सासू मा के साथ एक रात” पड़ी होगी और आई होप की आपने खूब एंजॉय किया होगा, मेरी पिछली स्टोरी की तरह ये भी मेरी लाइफ के यादगार पल है.

ये कहानी मेरी वाइफ के मामा की लड़की यानी मेरी साली और मेरे बारे मे है, उसका नाम चारू है, वो थोड़ी मोटी है और उसका फिगर 34-32-34 है, दोस्तो जब मैने उसे पहली बार देखा था तभी से उसे चोदने के बारे मे सोचता था पर कभी मौका नही मिलता था लेकिन मैं उसको चोदना ज़रूर चाहता था और ऐसे ही किसी मौके की तलाश मे था.

एक दिन मेरे घर मे मेरे मम्मी पापा आउट ऑफ स्टेशन एक फंक्षन मे गये हुए थे तो मैने अपनी वाइफ को कहा की आज चारू को बुला लो एक दिन अपने साथ रह लेगी हम भी अकेले नही होंगे.

तो मेरी वाइफ ने उसे कॉल किया और कहा की आज की रात तूने हमारे साथ रुकना है क्यूकी हम दोनो घर पे अकेले है तो वो अपनी मोम से परमिशन लेकर एवेनिंग मे हमारे घर आ गई. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

फिर हमने थोड़ी देर बाते की, मार्केट घूमने चले गये, एंजॉय किया और फिर खाना खाकर हम तीनो हमारे रूम मे सो गये, वाहा तीनो इसलिए सोए बिकौज रूम मे एसी था और इसलिए हमने सोचा की सब यही अड्जस्ट हो जाते है, मेरी वाइफ और चारू बेड पे सो गये और मैने जानबूझ कर मेरी चारपाई चारू वाली साइड लगा ली और हम ऐसे ही बैठकर बातें करने लगे.

क्यूकी हम लोग आपस मे गेम वगहरा खेल रहे थे तो मेरी चारपाई चारू के साइड बेड के एकदम साथ लगी हुई थी, थोड़ी देर बाद हम गेम खेलने की वजह से थक गये तो हमने सोचा की अब सोना ही बेटर होगा सो मैने उठकर रूम की लाइट ऑफ कर दी और सुबह सो गये पर मुझे नींद कहाँ आनी थी मैं तो चारू को चोदने का प्लॅन कर रहा था.

More Sexy Stories  मम्मी को हलवाइयों ने मिल के चोदा

रात को करीब 12 बजे जब मुझे लगा की सब सो गये मैने अपना एक हाथ चुपके से चारू के बूब्स पर रख दिया, उसके चुचे बड़ी नरम थे, मैं उस पर हाथ फ़िराने लगा और आराम से प्रेस करने लगा, उसने ये सब महसूस कर लिया और मेरा हाथ अपने बूब्स से हटा दिया.

फिर मैने थोड़ी देर वेट किया और फिर से अपना हाथ उसके बूब्स पे फेरना शुरू कर दिया. वो मेरी इस हरकत से थोड़ा सा डर सी गयी और मेरा हाथ हटा कर अपने उपर कपड़ा डाल कर सो गई लेकिन मैं कहा मानने वाला था मैने अपना हाथ उसी कपड़े के अंदर डालकर अब उसके बूब्स की जगह उसकी जाँघो पे लगाना शुरू किया.

क्या मस्त जांघे थी उसकी लेकिन उसने फिर मेरा हाथ हटा दिया और पलट कर सो गई लेकिन उसके पलट कर सोने का फ़ायदा ये हुआ की उसकी मोटी गॅंड मेरे सामने थी तो मैने पीछे से उसकी केफ्री थोड़ा सा नीचे सरका दी जिसकी वजह से उसकी मेहन्दी कलर की पैंटी मुझे सॉफ दिखाई देने लगी सो मैने जल्दी से अपना लंड बाहर निकाला और उसके थोड़ा और करीब हो गया.

जब वो अपनी केफ्री उपर करने के लिए अपना हाथ पीछे लाई तो मैने जल्दी से उसका हाथ पकड़ कर अपना लंड उसके हाथ मे दे दिया..उसे कुछ समझ नही आया की क्या हो रहा है लेकिन थोड़ी ही देर बाद उसे पता चल गया की उसके हाथ मे मेरा मोटा लंड है क्यूकी मेरा लंड उस वक़्त बहुत गरम था जिस वजह से मैने गौर किया की चारू की सांसो की आवाज़ तेज़ हो गयी थी.

मैं समझ गया की अब वो भी कुछ कुछ मज़ा लेने लगी है, अब मैं इतमीनान से उसके चुचे दबाने लगा क्योंकि वो अब कोई विरोध नही कर रही थी, धीरे धीरे मैं अपना हाथ उसकी टाँगो की तरफ ले आया और उसकी केफ्री मे हाथ डाल दिया, चारू ने एक लंबी साँस ली, वो मेरे हाथो का पूरा मज़ा ले रही थी.

More Sexy Stories  रंडी सास ने कैसे अपने दामाद से हवस मिटाई

मेरा हाथ उसकी पैंटी पे घूमने लगा मैने उसकी पैंटी के अंदर हाथ डाला पर पैंटी बहुत टाइट थी, मेरा हाथ उसकी चुत तक नही पहुँचा, मेरा लॅंड एग्ज़ाइट्मेंट मे और ज़्यादा टाइट हो गया था, थोड़ी देर बाद मैने चारू की गॅंड पे हाथ रख दिया, मैं धीरे धीरे उसकी गॅंड प्रेस करने लगा, उसने टी शर्ट के अंदर ब्रा नही पहनी थी, इसलिए मैने गॅंड से हाथ हटा कर उसकी टी शर्ट के नीचे से हाथ उसके बूबो पे रख दिए.

उसने फिर भी कोई रैयेक्ट नि किया तो मुझे फील हुआ की वो भी इस चीज़ को एंजॉय कर रही है सो मैने बिना किसी दर के उसकी केफ्री नीचे कर दी और उसकी पैंटी को भी हल्का सा नीचे कर दिया जिससे उसकी गॅंड मेरे सामने थी तो मैने उसकी गॅंड पे हल्का हल्का जीभ फिराना शुरू कर दिया चारू अब भी सोने का नाटक कर रही थी क्यूकी उसने आँखे नही खोली थी पर उसकी सांसो को स्पीड बढ़ गयी थी.

मैने करीब 10 मिनिट तक उसकी गॅंड चाटी फिर मैने केफ्री को थोड़ा और नीचे से उठाना शुरू कर दिया और उसकी जाँघो पे हाथ फेरने लगा हाथ फेरते हुए मेरा हाथ डाइरेक्ट उसकी चिकनी चुतपर पड़ा उसने पैंटी टाइट पहन रखी थी बट मैने केफ्री को थोड़ा सरका दिया.
उसकी चुत पे एक भी बाल नही था , एकदम मक्खन सी मुलायम चुत थी उसकी, चुत पे हाथ लगाते ही वो मचल उठी पर उसने अभी तक आँख नही खोली और मेरा लॅंड तो अकड़ कर लोहे की राड हो चुका था जो अभी तक उसकी गॅंड के पास था और वो इस बात को महसूस कर रही थी.

Pages: 1 2