मामा की लड़की को कामुकता शांत की

Indian Incest Sex Stories Behan Mama Ki Ladki Ki kamukta shant ki हेलो फ्रेंड्स. फर्स्ट मैं अपने बारे मे बताता हू ,माय नेम ईज़ राहुल और मैं महाराष्ट्रा से हू. मैं प्रोडक्षन इंजिनियर हू. मेरी एज 25ईयर है और मेरा लंड 6.5 इंच का है और अगर कोई भी आंटी या गर्ल मूज़से चुदवाना चाहती हो या फोन सेक्स करना चाहती हो तो मुझे मेसेज कर सकते है मैं उसे सॅटिस्फाइ करूँगा. इंडियन इन्सेस्ट सेक्स स्टोरीस बेहन की चुदाई

मेरे मामा आर्मी मे है. उनकी 1 बेटा ओर 1 बेटी है. उनके बेटी का नाम पूजा है.

मामी दोनो को साथ लेकर गाओ मे रहती है. मेरा भाई और मैं बचपन से छुट्टियो मे गाओ जाया करते थे. पूजा उसका भाई. मैं ओर मेरा भाई बचपन से साथ खेलते थे.

अब लेकिन मेरी एज 25 हो गई और पूजा की एज 23 है. वो दिखने मे. बोहोत अछी और गोरी है. उसकी फिगर 32 – 28 – 32 है. कमर पतली होने के कारण बोहोत मज़ा आता है. उसके बूब्स गोल गोल मस्त है.

मेरा उसके लिए कुछ ग़लत ख़याल पहले नही था लेकिन जब मैं इंजिनियरिंग मे गया तब से मेरे मन मे उसके लिए ख़याल आते थे. आप को पता होगा. इंजिनियरिंग मे जाने के बाद लड़को का लंड पूरे जोश मे रहता है.

मेरे एग्ज़ॅम होने के बाद मैं मामा के घर छुट्टियो के लिए गया. मामा को छुट्टी नही थी इस लिए वाहा पर सिर्फ़ मामी. उसका बेटा. मैं ओर पूजा थे. मामी और पूजा मुझे देख कर खुश हो गये.

मैं 5 – 6 दिन सिर्फ़ रिलॅक्स हो गया. लेकिन इस छुट्टियो मे मैने नोटीस किया पूजा काफ़ी बड़ी हो गई है. मैं अब उसके साथ खेलते समय उसको जान बुझ कर टच करता था. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

उसके बूब्स मेरे नज़रो से अब हट नही रहे थे. अब उसकी बाते भी बदल गई थी. हम हसी मज़ाक बोहोत करते थे.

More Sexy Stories  मोहल्ले की रंडी बनी मेरी बहन

एक दिन ऐसेही हसी मज़ाक मे मैने उसे पूछा.

मैं – कॉलेज कब स्टार्ट हो रहा है

पूजा – अभी टाइम है

मैं – तो बाय्फ्रेंड की याद नही अत्ती?

मैं हसने लगा.

पूजा – आती है ना पर क्या करू.

मैं – तो मिलती कब हो?

पूजा – 2 महीने से नही मिले. तुम्हारी गर्लफ्रेंड?

मैं – मेरी कोई गर्लफ्रेंड नही है.

पूजा – झट मत बोलो. इतने फिट हो. हॅंडसम हो और इंजिनियर की गर्लफ्रेंड नही ये हो नही सकता.

मैं – मन मे अब इसे कोन बताए इंजिनियर मूठ मारनेका काम करते हैं गर्लफ्रेंड की चक्कर मे कहा पड़ते है.

उसका बाय्फ्रेंड है समज़मे आने के बाद मेरा मूड ऑफ हो गया.

रात हो गई. हम खाना ख़ाके सो रहे थे. मामा नही होने के कारण हमेशा मामी मेरे और पूजा और उसके भाई के बीच सोती थी.

लेकिन कॉलेज मे जाने के बाद से मुझे मूठ मारे बिना नींद नही आती थी. मेरी नज़र पूजा पे पड़ी. लेकिन साइड मे मामी होने के कारण मैं कुछ नही कर पा रहा था.

सास लेते समय उसके बूब्स उपर नीचे होते देखने के बाद मेरा लंड खड़ा हो गया. मुझे रात भर नींद नही आई. मामी को जल्दी उठने की आदत है. तो वो 4 बजे उठ गई. अब मेरी लाइन क्लियर थी.

मैं पूजा के कंबल मे घुस गया. पूजा वन साइड पे सो रही थी. मेरा लंड तो उसकी गॅंड को टच करने को तरस रहा था. मैने उसकी गॅंड को मेरा लंड कपड़ो के उपर सही टच किया. वो आगे हुई. मैं घबरा गया. मुझे समाज आया की वो जाग रही है.

तो मैं घबरा गया और सोने का नाटक करने लगा. बाद मे मैने फिर से टच किया. अब वो 2 मिनट नही हिली तो मुझे लगा ग्रीन सिग्नल है. तो मैं मेरा लंड उसकी गॅंड पर रब करने लगा. लेकिन अब वो उठ के चली गई.

More Sexy Stories  दोस्त की शादी, मेरी चाँदी – पार्ट 3

मैं पूरी तरहा घबरा गया. मुझे लगा अब वो मामी को बता देगी. लेकिन मामी मुझसे ठीक से उस दिन बात कर रही थी. तो उसने नही बताया ये तो कन्फर्म था. लेकिन पूजा मुझसे बात नही कर रही थी.

मामी ने मुझे पूजा को लेकर उसकी कॉलेज की अड्मिशन करने को बोला.

मैं ठीक है बोला और मैं और पूजा उसकी कॉलेज मे गये. अड्मिशन की लाइन बड़ी थी तो मैं पूजा को लेकर लाइन मे खड़ा हुआ. कल रात की वजह से मैं ज़्यादा हिम्मत नही कर पा रहा था उसको टच करने की. लेकिन लाइन मे धक्का मुक्की की वजह से मेरा टच पूजा को होने लगा.

अब मेरा लंड खड़ा हुआ ओर पूजा की गॅंड की दरार मे जाने लगा. वाआअहह क्या मज़ा आ रहा था. अब पूजा किधर जा भी नही सकती थी. बाजू मे लड़के थे इस लिए मैने पूजा को अपने हातो से कवर किया.

मेरे हात को उसके बूब्स का टच हो रहा था. इस वजह से मेरा लंड और उसकी गॅंड मे मैं दबाने लगा. मुझे बोहोत मज़ा आ रहा था. कोई देख भी रहता तो मैं फुल फॉर्म मे था.

उसका अड्मिशन हो गया. बाहर बारिश शुरू हो गई.

मैं और पूजा बोहोत देर से बारिश तमनेका इंतजार कर रहे थे. पूजा की नज़र मुझपर थी अब. मेरा खड़ा लंड जीन्स के उपर से भी दिख रहा था. मेरी भी नज़र उसपर थी. बारिश और मेरे गर्म करने की वजह से उसके निप्पल ड्रेस के उपर से दिख रहे थे. मुझे तो उसके बूब्स ड्रेस के उपर सही चूसने का मन कर रहा था लेकिन देर बोहोत हो गई थी बारिश बंद नही हो रही थी.
7 बजे हम दोनो बारिश मेही चले गये. गाड़ी पर अब उसके बूब्स मुझे टच कर रहे थे. मैं जानबूझ कर ब्रेक मार रहा था.

Pages: 1 2