मामा के लड़की की चुदाई हॉट सेक्स स्टोरी

Mama ke ladki ki chudai hot sex story

Mama ke ladki ki chudai hot sex storyदोस्तो मेरा नाम अक्षय है। मेरी उम्र 22 और में मुंबई मे रहता हूँ और में एक प्राइवेट कंपनी मे काम करता हूँ। मेरे माता पिता गावं मे रहते है। मेरी हाईट करीब 6 फीट है और में दिखने मे बहुत अच्छा लगता हूँ और में एक अच्छे ख़ासे लंड का मालिक भी हूँ। दोस्तों मेरी ये कहानी मेरे मामा की बेटी हेमा और मेरी है।

दोस्तों अब में आपको सबसे पहले हेमा के बारे मे बताता हूँ। दोस्तों उसकी उम्र 24 साल की है और वो एक शादीशुदा लड़की है, उसका फिगर 36-26-38 है और उसकी हाईट 5.6 फिट और दिखने मे बहुत सुंदर है। में जब कभी भी बातों बातों मे उसे छूता और तभी मेरा लंड खड़ा हो जाता था, में हमेशा उसके गदराये हुए बदन के बारे मे ही सोच सोच कर दीवाना हो गया था और हमेशा उसे चोदने के मौके की तलाश मे रहता था। अब चलो कहानी पर आते है।

हेमा जब 18 साल की थी, तब मेरा अपना एक साल डिग्री लेने के लिये पढ़ाई करने मे गुजरा था। उसी समय से में उसे चाहने लगा था। एक बार वो हमारे गावं भी आई थी और तभी मैंने उसे प्रपोज़ किया था और वो मान गयी थी। में बहुत खुश हुआ और दूसरे ही दिन वो उसकी माँ के साथ उनके गावं चली गई, बाद मे फोन पर बातचीत हो रही थी। लेकिन हम को अकेले मे मिलने का मौका ही नहीं मिल रहा था। में दो तीन बार उनके गावं भी गया था, लेकिन सिर्फ उस समय सिवाए ‘किस’ के कुछ काम नहीं बन पाया था। तभी एक दिन उसने मुझे मेरे नंबर पर कॉल किया था और उसने मुझसे कहा कि कल वो शॉपिंग की वजह से सिटी जा रही है, जो उनके गावं से दस किलोमीटर दूरी पर है। अगर तुम भी सिटी आ सकते हो तो हम अकेले मे मिल सकते है। अब में भी इसी मौके की तलाश मे था और मैंने उसे हाँ कर दी थी। अब दूसरे ही दिन मैंने कॉलेज बंक किया और सिटी चला गया और वो मुझे सिटी के मेंन बस स्टॉप पर मिली थी और वहाँ पर हम दोनों ने कुछ बातचीत की और बाद में हम दोनो शॉपिंग के लिए निकल पड़े थे। बहुत देर कपड़े देखने के बाद उसने कुछ कपड़े खरीदे और एक चूड़ी का सेट भी लिया और बाद मे हम एक होटल मे गये और वहाँ पर हमने खाना खाया और उसके बाद मैंने उससे पूछा कि क्या हम कोई फिल्म देखने चले? और उसने हाँ कह दी और फिर हम दोनो फिल्म देखने गये, कोई नये हीरो की फिल्म चल रही थी और थियेटर मे बहुत कम लोग थे। मैंने बालकनी के दो टिकिट लिये और अब हम थियेटर के अंदर चले गये थे।

More Sexy Stories  गरम आंटी को चोद के शांत किया

अब बालकनी के लास्ट यानी कि सब से ऊपर वाली लाइन पर जाकर हम दोनों बैठ गये थे। अब कुछ देर बाद फिल्म स्टार्ट हुई साथ साथ मे थियेटर के अंदर कि लाइट्स भी ऑफ हुई थी। अब फिल्म स्टार्ट होने के पांच दस मिनट के बाद मैंने उसके कंधे पर हाथ रख दिया और अब वो मेरी तरफ घूम कर एक मदहोश करने वाली स्माइल दे रही थी, अब मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसे मेरे और पास खींच लिया था और अब उसके गुलाबी होंठो पर मैंने अपने होंठ रख दिये और उसे किस करने लगा था और अब वो भी मेरा साथ देने लगी थी। करीब तीन चार मिनट के बाद मैंने अपने होठो को उसके होठो से अलग किया और उसके लेफ्ट गाल पर एक चुम्मा लिया था और अब वो मुस्कुराने के साथ साथ शरमा भी रही थी। अब में थोड़ी देर के बाद मेरा सीधा हाथ उसके कंधे पर से सीधा उसकी जिन्स के अंदर डालने की कोशिश करने लगा था। लेकिन उसने मुझे मना किया, तभी मैंने हाथ हटाया और कंधे से वापस उसके टॉप में डाला अब फिर से वो पहले कि तरह मना करने लगी और कुछ देर के बाद वो चुप हो गई और अब मैंने अपने हाथ को सीधा उसके टॉप के अंदर डाल दिया था और उसके बड़े बड़े बूब्स पर घुमाने लगा था। वाह क्या बूब्स थे, यारों इतने सॉफ्ट थे कि मुझे लगा कि कोई मख्खन से भी मुलायम चीज को हाथ में पकड़ा है और वो फिलिंग से मेरा लंड गरम होकर खड़ा होने लगा था। थोड़ी देर वैसे ही रहने के बाद में उसके बूब्स को दबाने लगा था, उसके बूब्स बहुत बड़ी साइज़ के थे, इतने बड़े कि में उन्हें अपने एक हाथ से आराम से नहीं पकड़ सकता था। अब में उसके बूब्स को मसलते मसलते बूब्स की निप्पल को मेरी दोनो उंगलियों से पकड़ कर खींचने लगा, लेकिन अब वो बहुत जोर से साँसे लेने लगी थी और उसके बूब्स का निप्पल हार्ड हो गया था।

More Sexy Stories  अपने मामा सें मैने सील तोड़ी

अब मुझे उसके बूब्स दबाने मे बहुत मज़ा आ रहा था और मन कर रहा था कि अभी इस वक्त उसके टॉप को निकाल कर उसके बूब्स को बहुत जोर से चूसूं लेकिन क्या करता थियेटर था इसकी वजह से मैंने अपने पर कंट्रोल कर लिया था। उसके राईट बूब्स को मसलने के बाद में उसके लेफ्ट बूब्स को मसलने और दबाने लगा था। अब दबाते दबाते मैंने उसकी निप्पल को थोड़ा जोर से खींच लिया तो अब उसके मुहं से ज़ोर से आह्ह्ह जैसी आवाज निकल गई थी और वो मुझसे कहने लगी कि इतनी ज़ोर से मत खींचा करो और तभी मैंने कहा की ठीक है।

Pages: 1 2 3 4 5