मामा के लड़के ने मेरी चुदाई की

हेलो दोस्तो कैसे हो मेरा नाम रिंकी है एक कॉलेज स्टूडेंट बहुत ही सुंदर और अट्रॅक्टिव हूँ यह मेरी पहली स्टोरी है पर आखरी नही आपको बहुत स्टोरीस मिलेंगी मेरी क्यूंकी मैं सेक्स गोडेस हूँ आई लव सेक्स. और मेरा तो यह मानना है की अगर लड़की चाहे तो कुछ भी कर सकती है और करवा सकती है मेरी एज 22 है फिगर है 34-30-34 रंग गोरा काले बाल तो अब मैं ज़यादा बोर ना करते हुए स्टोरी पे आती हूँ. ये बात 2 साल पहले की है जब गर्मियों की चुट्टिया पड़ी थी मुझे और मैं घर वालों के साथ (मेरे घर मे मैं भाई छोटा और मॉम डॅड हैं ) के साथ गाओं जाने का प्रोग्राम बना मेरे मामा के घर. मेरे मामा के 2 लड़के और एक लड़की है लड़की नेहा 16 साल की उनका बड़ा लड़का 24 विजय का और छोटा दीपक मेरी ही एज का दोस्तो मैं सेक्स की बहुत भूखी हूँ और एक बड़े सिटी से हूँ तो सेक्स का सब जानती हू तो गाओं मे भी मैं यही ढूँढने लगी की कैसे सेक्स किया जाए और किसके साथ तो एक दिन मुझे उनके छोटे लड़के दीपक के पास कंप्यूटर का पास्वोर्ड पता चला तब वो बाहर गया था.

तो मैं सिस्टम खोल के सरफिंग करने लगी और उसमे एक फोल्डर मिला स्पेशल नाम जब मैने ओपन किया तो उसमे बहुत सी न्यूड फोटोस और वीडियोस थी तभी मैने सोचा की दीपक को फसाना आसान रहेगा और हान मामा जी का घर बहुत छोटा है तो जब रात हुई वो तो हम सोने जाने लगे डिन्नर करके पर जघा कम थी तभी मामी मेरे पास आई और कहने लगी तुम और दीपक और नेहा एक रूम मे साथ मे सो जाओ एक रूम शेयर कारलो मैं खुश हो गई, हमारे पास बेड नही था, तीनों एक एक मेट्रेस्स ज़मीन पे बिछा के सोने लगे पर नेहा का पता नही क्या सूजी और छत पे चली गई सोने शायद बीएफ से बात करनी होगी या कुछ और “मामा के लड़के से” मैं और दीपक वही लेटे रहे वो सिर्फ़ अंडरवेर मे सोता था, क्यू की उस टाइम मे बहुत गर्मी थी, और कूलर या एसी तो थी नही तो हम बाते करने लगे करते करते हम पॉर्सनल बाते करने लगे कहने लगा रानी मुझे नींद नही आती रात मे तो मैने कहा क्यू कुछ गड़बड़ मत करना. उसने कहा क्यू घबराती हो ऐसा कुछ नही होगा, घबराव मत. मैं बिस्तर पे लेट गयी,. उसने अपना शर्ट उतारा, बनियान उतारी, पैंट उतारा. वाय्लेट कलर का अंडरवेर, काफ़ी फूले फूले, बोल्स से पता लग रहा था, लंड बहुर बड़ा होगा.

More Sexy Stories  हब्बी ने नीशी को रंडी बनाया

दीपक एक दम दुबला पतला, गोरा चिटा, लाल आला गाल, गुलाबी होट, दिखता बहुत सुंदर है दीपक, दीपक ने लाइट बुझाई और मेरे बगल मे सो गया, फिर उसने मुझे कहा पिंकी, मेरे सर मे थोड़ा हाथ फेर दो नींद नही आ रही है. मैने उसके सर पे हाथ फेरना शुरू किया. पिंकी तुम कितनी अछी हो,मैं तुम पे फिदा हू, बहुत प्यार करता हू, मानो मेरी बात. फिर उसने कहा याद है, मैने तुम्हे क्लास सिक्स मे रहते अपना लंड दिखाया था, और तुम कैसे उसमे हाथ लगाने देने के लिए कह रही थी. मैने शर्मा के कहा, हा ठीक है, अब सो जाओ, पर मन ही मन खुश हो रही थी मैं तो सर पे हाथ फेर रही हू ना.उसने कहा एक बार लंड देखो ना, उस दिन के बाद मुझे बहुत अफ़सोस हुआ, तुम किस तरह ज़िद कर आ रही थी, और मैने मना कर दिया था. आज मुझे माफ़ कर दो, ये लो देखो, आछे से, जितना मर्ज़ी देखो, पिंकी प्लीज़ देखो ना, कैसा खड़ा है, उसने अपने लंड को अंडरवेर के बाहर निकाला और मेरे बाटलॉक पे लगाया, देखो पिंकी कैसे हैं, देखो, रोड हो गया है, देखो ना. मुझ से और रहा नही गया, मैं तुरंत उसके तरफ़ करवट बदल कर उसके लंड को पकड़ ली. आआआआआः., इसे खेलो ना, ईइईसी मज़े दो, बहुत प्यासा है, इसे तुम्हारा प्यार चाहिए. इसे प्यार करो.

मैं लंड को मुठ्ठी मे लेके खेल रही थी, सूपड़ा खुला था, सूपड़ा गीली हो चुकी थी. दीपक ने कहा रानी इसे मूह मे लो एक बार, मैं भी तुम्हारे चूत के मज़े करूँगा, तुम नाइटी उतारो, फिर उसने मेरी नाइटी उतारी, पैंटी उतारी, और मेरे चूत मे किस किया, जीभ चुत के सुराख पे डाली, और अंदर घुसा घुसा के खेलने लगा. उसने कहा मेरे लंड मे कुछ हल चल करो ना, मूह मे लो, चाटो, चूसो. मैं लंड को किस करने लगी, फिर मैने सूपाडे मे जीभ लगाई, आआआआआ आआआआआ आआआआअ आआआआआ पिंकी, इसे मूह मे लो चूसो, मैने अब कमहोल मे लगाया, तो उसने लंड को मेरे मूह मे घुसा के कहा चूसो ना, मज़ा आएगा, मैं भी तुम्हारे चूत के क्लियीवेट को चाटता हू. आधे घंटे मे दोनो झड़ गये, उसने मेरे मूह मे पिचकारी मार दी. गरमा गरम तरल गढ़ा धातु–पूरा मैं निगल गयी. फिर हम 2 बजे सो गये करीब एक घंटे के बाद मैने महसूस किया मेरे बूब्स मे दीपक, हाथ फेर रहा है, दबा रहा है, मसल रहा है, नाइटी के बटन खोल रहा है.

More Sexy Stories  दीदी की चुदाई की घर पर 3

मैने ऐसी आक्टिंग की मुझे पता नही चल रहा है, और गहरी नींद मे हू. फिर उसने अपने लंड के मोटे सूपाडे को मेरे चूत मे टीकाया, और झटके देने लगा, आआआआआ आआआआअ आआआ, दीपक धीरे, ऐसे थोड़ी करते है, बहुत दर्द हो रहा है, दीपक- पिंकी सबर करो, बहुत मज़ा आअरहा है. काफ़ी मुशक्कत के बाद लंड अंदर चला गया, लेकिन मेरी सील टूट गयी, ब्लीडिंग होने लगी. मैं दर्द से चिल्लाने लगी, दीपक प्लीज़, बहुत दर्द हो रहा है, दीपक ने कहा 2 मिनिट माल निकलने वाला है, चुदाई पूरी होने दो. 2 मिनिट मे माल पूरा चूत मे गिर गया, एंड पॉइंट मे उसके चुदाई की राअफ्तर तेज हो गयी, और वो वाइल्ड सेक्स करते हुए पूरा माल चूत मे डाल दिया. अगले दिन दीपक ने मुझे कॉंट्रॅसेप्टिव पिल दिया, और कहा आज के बाद हम अनसेफ नही करेगे जानू, अपना ख़याल रखना. मैने कहा ओके. इस तरह हम एक वीक रहे और खूब मजे किए यह है दोस्तो मेरी पहली स्टोरी प्लीज़ रिप्लाइ मेरी मैल आईडी है मैं सबको रिप्लाइ करूँगी बाय लव यू ऑल. अब नेक्स्ट स्टोरी मे बताउन्गा की कैसे मैने अपनी सेक्स भूख को बढ़ाया और किससे चुदि किस फॅमिली मेंबर से किसी बाहर से सब बताउन्गि और आप सब भी अपनी लाइफ बीती मुझसे शेयर करना. कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट्स मे ज़रूर लिखे, ताकि हम आपके लिए रोज़ और बेहतर कामुक कहानियाँ पेश कर सके – डीके

Pages: 1 2