कानपुर की एक भाभी को चोदा

हाय फ्रेंड्स कैसे हो आप सब, मेरी चूतो की रानियो को मेरे खड़े लंड का चुम्मा, मुझे पता है आप सब को मेरी स्टोरी का वेट रहा होगा. तो आ गया मैं. मैं नवीन फिर से आपके लिए एक न्यू इंडियन सेक्स स्टोरीस लेकेर आया हू.

पहले मैं अपने बारे मे बता दू मैं नवीन सिंग कानपुर (यू.पी.) से हू अछा बिज़्नेस और घर है एज 30 है और लंड का साइज़ भी काफ़ी अछा 8″ 3 इंच जो सभी फीमेल्स को बहुत खुश करता है.वैसे मैं कॉल बॉय तो नही बट काम वही करता हू और पैसे भी सब कुशी से ही देती है मैं तो प्यार को देता हू और लेता हू.

अब मैं इंडियन सेक्स स्टोरी पे आता हू ये कहानी आज से कुछ 7 दिन पहले की है जो मेरे और मेरी पडोस मे रहने वाली एक भाभी की है जो 35 के आस पास की होंगी और लगती भी 30 की है. उनके दो बच्चे है और उनका नाम रिया है. हुआ यू की उनके हज़्बेंड से मेरी अछी पटती है तो उनके घर आना जाना लगा रहता है.

एक दिन वो खड़ी थी और शायद उनकी चूत मे खुजली हुई तो उन्होने खुज़ाया पर ध्यान नही था की मैं वही खड़ा था तो उनकी इस हरकत से मेरा मूड बन गया और मैं उन्हे और आछे से देखने लगा और उनके बूब्स को भी और वो मेरे खड़े लंड को घुराने लगी और पूछने लगी की यह क्या हो रहा है.

मैने कहा कुछ नही तो वो पास आई और लंड को सहलाने लगी इतने मे उनके पति की आवाज़ आई तो वो जल्दी से उठ गई मैं भी अपने घर चला गया और तब से मैं उनके बारे मे सोच रहा था उनके नाम की 2बार मूठ भी मारी.

फिर मैने उन्हे चोदने का पूरा प्लॅन बना लिया एक दिन जब वो अकेली थी उनके पति काम पे गये थे तो मैं गया तो वो मुझे उस दिन के बारे मे पूछने लगी तो मेरा लंड फिर खड़ा हो गया मैने फिर उन्हे अपनी और खीचा और किस करने लगा और वो भी मेरा बराबर साथ दे रही थी फिर मैने उनकी कमर मे हाथ डाल दिया और उनकी जीभ को कस कर चूस रहा था.

More Sexy Stories  कज़िन भाई से जी भर के चुदाई करी

अब मैने अपने हाथ उनकी हॅंड पर फेरने लगा क्या मस्त हॅंड थी यार क्या बताउ, फिर उनके पीछे आकर उनकी हॅंड मे लंड फेरने लगा और सूट के उपर से ही बूब्स को दबाने लगा और वो भी क्या मस्त तरीके से मेरा साथ दे रही थी मैं कस कस के बूब्स का मजा ले रहा था और वो हॅंड के बीच मे मेरा लंड दबा रही थी वाउ क्या फीलिंग थी.

फिर मैने उसके कपड़े उतार दिए अब वो सिर्फ़ ब्रा और पैंटी मे थी क्या लग रही थी मैने तुरंत उसकी एक पिक क्लिक की अब वो मेरे कपड़े उतारने लगी और मैं उसकी चुचि दबाने मे मस्त था मैं अब पूरा नंगा था और वो मेरे लंड से खेलने लगी.

तभी मैने भी उसकी ब्रा उतार कर फेक दी और उसकी पैंटी भी क्या मस्त खुशबू थी उसकी पैंटी की तभी मैने उसे लिटा दिया और उसके बूब्स के बीच लंड ले जा कर हिलाने लगा और वो भी पूरे मज़े ले रही थी मैने फिर उसे लंड चूसने को कहा तो उसने मना किया तो मैने उसे मनाया.

फिर उसके बालो को पकड़ कर लंड मूह मे दे दिया पहले मना कर रही थी फिर ऐसे चूस रही थी जैसे बड़ी एक्सपीरियेन्स हो फिर काफ़ी देर लंड चूसने के बाद मैने कहा की मेरा निकलने वाला है तो कहने लगी बाहर निकालना मैने लंड मूह मे ही रखा और पानी छोड़ दिया और जब तक उसने पानी अंदर नही लिया मैने लंड नही निकाला.

फिर मैं उसके उपर लेट गया फिर थोड़ी देर बाद मैं उसकी चूत पर आया और क्या चूत लग रही थी जैसे जंगल के बीच गली उसकी झाटे बड़ी बड़ी थी जो मुझे बहुत पसंद है.

More Sexy Stories  मम्मी को हलवाइयों ने मिल के चोदा

मैं उसकी चूत को बड़े प्यार से चाट रहा था कभी जीभ अंदर कभी बाहर करता वो भी हिल हिल कर मेरा साथ दे रही थी थोड़ी देर बाद वो भी अपना पानी छोड़ ढीली पड़ गई मेरा लंड कब से रेडी था चूत मे जाने के लिए और मैं सीधा चुत पर आया और टोपा रखा ही था की वो मचलने लगी.

अभी थोड़ासा लंड गया ही था की वो छटपटा पड़ी कहने लगी निकालो और मैने लंड से ज़ोर लगाने लगा और उसे किस करते करते लंड को पूरा डाल दिया अब वो कुछ ना कह सकी उसकी आवाज़ मेरे मूह मे दब गई और मैं ज़ोर ज़ोर से लंड अंदर बाहर करने लगा और पूरे कमरे मे पूछ पूछ की आवाज़े आ रही थी उसके बच्चो तक आवाज़ गई होंगी बट हम चुदाई मे व्यस्त थे.

करीब 25मीं बाद हम लोग अपनी चरम सीमा पर पहुचे इतने टाइम मे वो 3-4बार झड़ चुकी थी और फिर मैने सारा पानी उसके मूह मे गिराया और फिर हम एक दूसरे की बाहो मे लेट गये

और एक दूसरे को किस करने लगे मैं उसके बूब्स को चूसने लगा और दूसरे को दबाता फिर थोड़ी देर बाद मेरा लंड फिर खड़ा हो गया मैने उसे गॅंड मराने के लिए कहा वो मना करने लगी फिर मैने उसे मनाया.

फिर उसके साथ साइड करवट मे लेट कर लंड डालने लगा तो वो रोने लगी फिर मैने उसे चुप कराया और लंड डालने लगा तो वो थोड़ी चिल्लाई तो मैं उसकी चुचि दबाने लगा फिर थोड़ा लंड अंदर डाला आधा लंड गया होगा की वो ज़ोर से झटपटाने लगी फिर थोड़ा थूक लगा कर मैने पूरा लंड डाल दिया उसे थोड़ा दर्द हुआ पर.

Pages: 1 2