कामुकता कहानी मॉं के साथ बस का सफ़र

Mother Sex Story : सभी लंड धारियों को मेरा लंडवत नमस्कार और चूत की मल्लिकाओं की चूत में उंगली करते हुए नमस्कार।
फ्रेंड्स, मेरा नाम संजीव है, उमिद है मेरी कामुकता स्टोरीस आपको पसंद आएगी. कुछ दिन पहले जब मई मम्मी के साथ पटना से घर आ रहा था बस से , तब जो हुआ वो बताने वाला हू. मेरी मम्मी की 45 एज है. नाम उर्मिला झा. फिग. 36 32 38.

उस दिन मम्मी ने रेड सारी पहनी थी और मेकप भी कर रखा था. कान मे बाली और नाक मे नथ पहना था. बहुत ब्यूटी लग रही थी और हाथ मे मेहदी भी लगाए हुए थी. जब ह्मलोग पटना से चले तब बस मे ज़्यादा मर्द लोग ही थे. औरत सब धीरे-धीरे उतरती गई और न्यू पॅसेंजर मे सब मर्द लोग ही थे.
12 बजे को चली बस , 6 बजे ह्मलोग घर पहुच जाते. लेकिन रास्ते मे बस खराब हो गया और मेकॅनिक को बुलाने मे और ठीक करने मे 3 घंटे लग गया. जहा बस रुका हुआ था वो विलेज एरिया था और सुनसान था. बस मे गर्मी लग रहा था तब मम्मी के साथ मै भी उत्तर गया और थोरी दूर पे लोगो के साथ खड़े हो गये.
तब मैने देखा की सब लोग मेरी मम्मी को ही देख रहे थे. ड्राइवर कंडक्टर और मेकॅनिक भी. मम्मी ने सारी पहना था और उनकी नाभि दिख रही थी. ब्लाउस मे आर्म्पाइट के पास भी गीला गीला हो गया था पसीने से. लोग वही देख रहे थे और मज़ा ले रहे थे. मुझे तो डर लग रहा था की मम्मी के साथ कुछ बुरा ना हो जाए.

सब मम्मी का मस्त फिगर देख के मान ही मान चोद रहे थे. कुछ अंकल ने और भी मज़ा लिया. वो सब जहा मै और मम्मी खड़े थे वही पास के झाड़ी मे पेसाब करने आ गये. वो बार बार मम्मी के तरफ देख रहे थे और लॅंड भी दिखा रहे थे. मम्मी भी देख रही थी.
तीनो अंकल का लॅंड बहुत बड़ा था. मम्मी ने भी कनखियो से देखा और मज़ा लिया. मै भी चाहता था की कुछ हो इसलिए मम्मी से तोड़ा दूर खड़ा था ताकि सबको लगे वो अकेली है. मै दूर से ही पूरी नज़र रख रहा था.

More Sexy Stories  दोस्त की मॉं को सिड्यूस किया

जब बस ठीक हुआ और चलने लगी तब सब नॉर्मल हो गया लेकिन कंडक्टर बार बार मम्मी की तरफ देखता था मूड़ के. मुझे कुछ दौगत हुआ. 4 घंटे चलने के बाद अचानक मम्मी को उसके मयके से फोन आया की किसी रिलेटिव का तबीयत खराब है देखने के लिए जल्दी आ जाओ.
मेरे मम्मी के मयका रास्ते मे ही था तब मम्मी मुझे बोली की बेटा मै रास्ते मे ही उतार जाती हू ,तुम्हारे नानी के घर जाना होगा. तुम यहि बस से घर चले जाओ मै कुछ दिन मे आ जाउगी. मैने बोला ठीक है.

तब मम्मी कंडक्टर के पास गई और बोली की उसको टिकेट का पैसा कुछ पैसा वापस कर दे क्यू वो अब जहा का टिकेट था वाहा नही जा रही है. उसको पहले ही उतरना है.
कंडक्टर ने माना कर दिया और बोला की ऐसा नही होता है. तब मम्मी को गुस्सा आ गया और कंडक्टर से झगड़ा कर ली. बात बात मे उन्होने बोला की तुम्हारे बस मे बहुत गंदा स्मेल आता है और फेसिलिटी और मैनटानेंसे भी ठीक नही है लेकिन पैसा पूरा लेते हो ठगते हो सबको.

इतने में मम्मी का स्टॉपेज आ गया और बस रुकवा के उत्तर गई. कंडक्टर गुस्सा गया था और कुछ बोलना चाहता था. जब मम्मी उत्तर गई तब वो जो बोला सुनकें मै शॉक्ड रह गया.
बोला” जब तुम किसी गंदी लॅंड से चुदवाती होगी तब नही गंदा स्मेल आता है तब तो खूब मज़ा लेके उछाल उछाल के लॅंड खाती होगी” सब लोग हासणे लगे और मज़ा लेने लगे. उसको पता नही था की ह्म उसके साथ है शायद या जान बुझ के बोला था.

फिर बोला” साली बाज़ार मे सबका लंड खाया होगा और अभी स्मेल आ रहा है. मेरे लंड से चुदवालो स्मेल भी नही आएगा और ऐसा मज़ा पति भी नही दिया होगा”.
बस मे लभाग 30-35 लोग थे. सब हसणे लगे. मेरा लॅंड ये सुन के खड़ा हो गया था. ह्म कुछ बोल नही पाए सोचा कोन मार पीट करेगा . उसके बाद आगे बैठा ही एक अंकल बोला”अरे कंडक्टर साहब जब ये पैसा माँग रही थी तब हम को बोलते ना हम लंड भी चुस्वते और डबल पैसा देते. ” फिर सब लोग हसणे लगे. मै हैरान था.
तब एक और अंकल बोला – ” अरे भाई उसकी गंद और मूह देखा आप ने खूब चुदवाती होगी और चुस्ती भी होगी लोगो का तब इतना बड़ा हो गया है. और सबलोग मेरे मम्मी के बारे मे बात करने लगे. जो अंकल मम्मी के पास पेसाब किया था झाड़ी मे जब बस खराब हुई थी.

More Sexy Stories  अपनी बहेन की चूत की सील तोड़ी

वो बोला -” यार जब मै पेसाब कर रहा था तब वो मुझे देख रही थी मेरे लॅंड को भी. एसक़ा मतलब है ये बाज़ारु औरत थी. “
तब अचानक कंडक्टर जो बोला सुनके और हैरान रह गये ह्म -“भाई जब बस खराब हुआ था तब ये रंडी पेसाब करने गए थी झड़ी मे कुछ दूर पे और ह्म भी वही पेसाब करने गये पीछे पीछे.

साली बैठी हुए थी सारी उठा कर और रेड चड्डी दिख रा था और उसका गोरा झांग देख के पागल हो गये थे और उसका गंद भी गोरा था और उसका दरार भी दिखा. पूरा चिकना था उसका सरीर. एक बाल नही था. मान किया वही चोद दे और उसका पेसाब का आवाज़ बहुत ज़ोर से आ रहा था. लगता है इसके चूत मे अभी भी बहुत गर्मी है. “.
ये सुन मेरा बाकी लोग शॉक्ड रह गये और पूछने लगे फिर क्या हुआ.. और क्या देखा. तब कंडक्टर वोला. ” भाई उसके वो अपने चूत पे बोतल से पानी देके शू. और उठ गए. ” ये सब सुन कर मै अंदर तो हिल गया. बाकी लोग मज़ा ले रहे थे. तब कोए पूछा. यार और कुछ देखा क्या बस मे.
वो बोला” हा जब टिकेट का पैसा दी थी बस के बाहर तब अपने स्तन मे हाथ डाल के पैसा निकली और उस टाइम उसका पूरा बूब्स का क्लीवेज दिखा था. रेड कलर का ब्रा पहनी थी. बहुत बड़ा था चुचि कुतिया का.
अभी 2 घंटे तो मेरी मम्मी की ही बाते करते रहे सब और मै सुनता रहा. असल मे मुझे भी मज़ा आ रहा था. सबने मम्मी के बारे मे गंदी गंदी बाते की. और फिर मेरा स्टॉप आ गया ओर मै उतर गया.

Pages: 1 2