सेक्सी मॉडेल स्नेहा की चुदाई

indian model ki chudai kahani सभी लंड धारियों को मेरा लंडवत नमस्कार और चूत की मल्लिकाओं की चूत में उंगली करते हुए नमस्कार। नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम के माध्यम से आप सभी को अपनी स्टोरी सुना रहा हूँ। मुझे यकीन है की मेरी सेक्सी और कामुक स्टोरी पढकर सभी लड़को के लंड खड़े हो जाएगे और सभी चूतवालियों की गुलाबी चूत अपना रस जरुर छोड़ देगी।

ही, मेरा नाम पंकज है और मेरी उमर 22 साल है. मैं दिखने मे काफ़ी हॅंडसम हूँ. मैं मुंबई शहर मे रहता हूँ और मैं एक फिल्म मेकर हूँ. वैसे तो आप सब लोग जानते ही होंगे की फिल्म मेकर होता कौन है पर फिर भी मैं आपको बता देता हूँ.

फिल्म मेकर वो होता है जो अपनी पूरी मेहनत के साथ, अपने दिमाग़ से मूवी बनाता है. जिस तरह एक बीज के बोने पर उसकी सेवा करनी पड़ती है ठीक वैसे ही फिल्म मेकर की ज़िंदगी भी वेसी ही होती है.

चलो ये सब छोड़ो, आपको मेरी लाइफ का भी धीरे-धीरे पता चल जाएगा पर फिलहाल के लिए मैं आपको वो बताने जा रा हूँ जिसके लिए अब मैं आया हूँ. तो दोस्तो बिना कोई देर किए हम कहानी पर चलते है.

दोस्तो मूवी की दुनिया मे ही एक दिन मेरी मुलाकात प्रीति से हुई थी. जब मैने उसको देखा तो बस देखता ही रह गया. उसका रंग गोरा था और उसकी हाइट 5″7 इंच थी. उसका बॉडी फिगर बहुत ही कमाल का था और उसकी बॉडी मे सबसे मस्त उसके होंठ थे और उसके बूब्स थे जो की हर किसी को अपना दीवाना बना रहे थे. और उसके इसी जिस्म का सबसे बड़ा दीवाना मैं बन रा था.

और फिर ऐसे ही हम मिलते रहे, हम एक साथ शूट भी करने लगे तभी मेरी उससे पहली बार बात भी हुई. मैने उसे हेलो बोला और फिर उसने भी मुझे हेलो का जवाब ही मे दिया और ऐसे ही थोड़ी थोड़ी पर धीरे-धीरे करके हमारी बात शुरू होने लग गयी. मुझे ये सब बहुत अछा लगने लग गया था.

More Sexy Stories  स्टाफ की बेटी नेहा के साथ चुदाई

अब ऐसे ही हम मिल कर काम करने लग गये थे और हमने फिर एक दूसरे के साथ टाइम स्पेंड करना भी शुरू कर दिया था. मुझे उसके साथ बहुत ही ज़्यादा अछा लगता था और शायद उसे भी ठीक यही फीलिंग आती थी जो की मैं महसूस कर रा था.

ऐसे ही हम मूवी के बाद कॉफी पीने के लिए कही बाहर भी चले जया करते थे और हम ऐसे ही एक दूसरे के साथ टाइम स्पेंड किया करते थे. वो और मैं बहुत ही क्लोज़ आने लग गये थे और फिर हमारी बात धीरे धीरे फोन पर भी होने लग गयी थी जिससे की मैं उससे खुल कर बात भी कर लिया करता था. और वो भी अब मेरे काफ़ी क्लोज़ होने लग गयी थी. हम कई बार एक दूसरे के जिस्म को टच भी कर लिया करते थे जिसका वो कभी बुरा न्ही मानती थी और ऐसे ही सब अछा अछा चलने लग गया था.

फिर एक दिन प्रीति ने मुझसे मूवी देखने को कहा तो मैने भी उसे हाँ करदी और फिर हम मूवी देखने भी चले गये और वहाँ पर वो मेरे इतना क्लोज़ बैठी थी जिससे मैं पागल हुए जा रा था और मेरा लंड तो और भी ज़्यादा पागल हो रा था.

अब हम मूवी देखने के बाद किसी बार मे चले गये और फिर हम वहाँ पर बैठ कर बाते करने लग गये. बाते करते हुए मैने उसे ड्रिंक ऑफर करी पर उसने माना कर दिया. पर बाद मे उसने मेरी ज़िद के आगे उसे झुकना पड़ा और फिर उसके बाद उसने भी एक पेग पी ही लिया.

उधर म्यूज़िक लाउड होने की वजह से उसके पैर थिरकने लग गये और उसके बाद वो मुझे डॅन्स फ्लोर पर जाने को कहने लग गयी. तब मैने भी उसकी बात मान ली और फिर उसके साथ डॅन्स फ्लोर पर चला गया और हम डॅन्स करने लग गये. हमे एक दूसरे से बात करने मे भी बहुत करीब होना पड़ रा था इसलिए वो मेरे कानो मे आ कर बोलती थी जिससे उसकी गरम साँसे मुझे पागल कर रही थी और मैं आउट ऑफ कंट्रोल हुए जा रा था.

More Sexy Stories  बॉस के बेटे से दुबारा चुदाई करी

मुझे उसके जिस्म की खुश्बू भी बहुत अच्छी लग रही थी और फिर हम कपल डॅन्स करने लग गये थे. वहाँ पर इतना अंधेरा था सबकी सिर्फ़ शॅडो ही नज़र आ रही थी.

तब मैने उसकी कमर पर हाथ रख रखा था और फिर ऐसे ही आउट ऑफ कंट्रोल होते हुए मैने उसके होंठो पर किस कर डाला जिससे की वो भी मुझे कुछ न्ही कह पाई और फिर थोड़ी देर और डॅन्स करके हम बाहर आ गये और उसी कार मे आ कर बैठ गये.

कार प्रीति चला रही थी और मैं उसके साथ बैठा उसे ही देखा जा रा था. उसके बूब्स सीट बेल्ट की वजह से दब रहे थे जो की बहुत अच्छे लग रहे थे. उधर वो भी गरम हो रखी थी तो मैने उससे किस का सीन याद दिलाया जिससे की वो मुस्कुरा पड़ी और फिर मैने उसे किस कर डाली.

थोड़ी देर किस करने के बाद हम पिछली सीट पर आ गये. हल्की बारिश हो रही थी जिस वजह से मौसम बहुत अछा बना हुआ था. हम दोनो अब भी बहुत गरम हो चुके थे. मैने बड़े प्यार से प्रीति का वन पीस थोड़ा सा उपर किया और उसकी पानटी को उतार दिया.

उसकी पनटी मैने उसके सिर के पास ही रख दी थी. पानटी उसकी चूत के पानी से पूरी तरह से भीग चुकी थी. मैं उसके उपर आया तो प्रीति ने धीरे से मुझसे पूछा की कॉंडम है ना तुम्हारे पास. कॉंडम तो मैं हर दम अपने पास ही रखता हूँ मैने उसे झट से हन कह दिया.

Pages: 1 2