अनजान जवान लड़कियों की कामुकता भरी गुलामी-1

हैलो फ्रेंड्स, मैं सिद्धार्थ, मैं 26 साल का हूँ, कद 5 फिट 8 इंच एकदम फेयर और औसत जिस्म है. मेरे लंड का साइज़ 9 इंच लम्बा है और मेरा लंड मोटा भी बहुत है.
अब मैं बिना टाइम वेस्ट किए अपनी रियल सेक्स स्टोरी पर आता हूँ. यह मेरी पहली सेक्स कहानी है, इसलिए कोई ग़लती हो तो माफ़ कीजिएगा.
बात 3 साल पहले की है, जब मैं 23 साल का था. मैं दिल्ली में एक प्राइवेट फर्म में जॉब करता था और चूंकि मेरी फैमिली यूपी से है, तो मैं वहाँ अकेला रहता था. मुझे फ़िल्में देखने का काफ़ी शौक था. दिल्ली मेरे लिए नई जगह थी तो यहाँ मेरे फ्रेंड्स भी काफ़ी कम थे. कुछ साथ में काम करने वाले साथी थे मगर उनसे बहुत दोस्ती नहीं थी. सो अधिकतर मैं फिल्म देखने अकेले ही जाया करता था. शनिवार ऑफ होने के कारण मैं उस दिन नाइट शो ही देखता था, साथ ही बाहर खाना भी खा लेता था और आउटिंग भी हो जाती थी.
यह बात तब की है, जब मैंने एक बार एक हॉलीवुड फिल्म का टिकट लिया था. शो का टाइमिंग 9-50 शाम का था और मेरे सीट लास्ट रो में कॉर्नर की थी. रात का शो होने की वजह से ज़्यादा भीड़ नहीं थी. मैं अपनी सीट पर जाकर बैठ गया. मेरे बगल वाली सीट पर 9-45 पीएम तक कोई नहीं आया था और 6-7 सीट छोड़ कर एक अंकल बैठे हुए थे. मुझे लगा शायद आज आराम से लेट के मूवी देखूँगा क्योंकि भीड़ नहीं थी.
तभी 3 लेडीज जिनकी उम्र लगभग 35-40 के अराउंड होगी, मेरी बगल वाली सीट पर आकर लाइन से बैठ गईं. मेरी सीट कॉर्नर वाली थी तो एक लेडी मेरे बगल में थी और बाक़ी 2 मुझसे फासले पर थीं. वो तीनों ही जीन्स और टॉप में थीं और उनमें से 2 ने ब्रांडेड शूज पहने हुए थे और एक ने सैंडिल पहनी हुई थी. सच कहूँ तो दिखने में तीनों किसी माल से कम नहीं थीं. बड़े-बड़े चुचे भरी हुए गांड और फेयर कलर.किसी भी मर्द को पागल कर दें. पर मैं थोड़ा शर्मीला हूँ तो मैंने उनको डायरेक्ट नज़र करके नहीं देखा, बस साइड से देख रहा था.
तभी मूवी शुरू हुई और धीरे-धीरे सारी लाइट्स ऑफ हो गईं. जो लेडी मेरे पास वाली सीट पे थी, उसने मुझे मूवी शुरू होने से पहले बस इतना पूछा था- आप अकेले आए हैं क्या?
तो मैंने स्माइल करते हुए हाँ बोला तो उसने भी स्माइल दिया और कहा- गुड.
फिर मूवी शुरू हो गई वो तीनों भी आराम से कंफर्टबली बैठ कर मूवी देखने लगीं और मैं भी.
पूरे हॉल में लगभग 40-50 लोग होंगे… और हमारी रो से 3 आगे की रो में कोई नहीं था. वो अंकल जो लास्ट वाली सीट पर थे वो भी आगे खाली होने की वजह से नीचे जाकर बैठ गए थे.
मैं भी मूवी देख रहा था और बार-बार साइड से उनको भी देख रहा था कि वो क्या कर रही हैं.
लगभग आधा घंटा तक सब कुछ सही चल रहा था. सब मूवी देख रहे थे वो भी और मैं भी. मूवी थोड़े स्लो टाइप थी. सो मजा कम आ रहा था.
फिर अचानक मेरे बगल वाली लेडी ने धीरे से पूछा- आपका नाम क्या है?
मैंने नाम बताया. तो बोली- क्या करते हो?
मैंने कहा- जॉब करता हूँ.
उसने पूछा- नेटिव प्लेस क्या है?
मैंने कहा- यूपी का हूँ, यहाँ जॉब करता हूँ.
उसने पूछा- अकेले रहते हो?
मैंने कहा- जी!
फिर उसने कहा- ओके!
इसके बाद वो मूवी देखने लगी.
फिर थोड़े देर बाद मैंने नोटिस किया कि वो अपने पर्स से निकाल कर कुछ पी रही थी, पता नहीं क्या था मगर स्मेल वाइन जैसी आ रही थी. मुझे लगा हॉल में वाइन कहाँ से कोई ला सकता है. लेकिन मैं समझ नहीं पाया वो क्या पी रही थी. वो पी रही थी और पॉपकॉर्न खा रही थी.साथ ही मूवी भी देख रही थी.
मैं भी मूवी देखने में लगा हुआ था. लगभग एक घंटा और कुछ मिनट के बाद इंटरवल हुआ.लाइट्स ऑन हुईं और मैंने देखा कि वो तीनों सामने वाली सीट पर पैर रख कर आराम से बैठी हुई थीं, उनके शूज खुले हुए थे और हेयर क्लिप भी निकला हुआ था. वो सब एकदम रेस्ट के मूड में लग रही थीं.
मैंने उनसे कहा- प्लीज़ जरा पैर हटा लीजिए, मुझे बाहर जाना है.
तो उसमें से एक लेडी ने पूछा- कहाँ जा रहे हो?
मैंने कहा- कुछ खाने को लाने.
तो उसने कहा- अरे हमारे पास है ना. हम शेयर करके खाएँगे.
मैंने कहा- इट्स ओके एंड थैंक्स फॉर आस्किंग. लेकिन मुझे थोड़ा निकलने दीजिए.
तो उन्होंने कहा- ज़रूर..
उन्होंने अपने पैर हटा लिए और मैं बाहर आ गया. मेरा कुछ खाने का मूड नहीं था क्योंकि मुझे खाना बाहर खाना था. इसलिए मैं वॉशरूम से होकर आया और हॉल में जाने लगा. जब मैं ऊपर गया तो मैंने देखा कि मेरी सीट पे जो लड़की मेरे बगल में बैठी थी, वो बैठी हुई है और उसकी सीट खाली थी. उस खाली सीट के बगल में वो 2 लड़कियाँ थीं.
मैंने कहा- अरे आप मेरी सीट पर बैठ गई हैं.
तो उसने कहा- हाँ तो?
मुझे पता नहीं क्यों उस सीट पर कंफर्टबल फील नहीं हो रहा था.
तभी उसने कहा- मैं यहाँ बैठ गई ये कंफर्टबल है. आप यहाँ बैठ जाइए.
मैंने कहा- मैं यहाँ कैसे बैठ सकता हूँ?
तो वो बोली- क्यों क्या हुआ. कोई प्रॉब्लम नहीं है, आराम से बैठिए, हम तो अब फ्रेंड्स हैं ना.
मैंने कुछ सोचा, फिर बैठ गया. मूवी शुरू हुई तो लाइट फिर से ऑफ हो गईं. जैसे ही लाइट ऑफ हुईं, जिस लड़की ने मुझे कहा था कि खाने का सामान है, उसने मुझे पॉपकॉर्न ऑफर किया. मैंने मना कर दिया और बोला- नो थैंक्स.
तो उसने कहा- ले लो थोड़ा सा.
मैं थोड़ा सा हाथ में लेकर खाने लगा.
फिर 5-10 मिनट बाद मेरे राइट साइड में जो लड़की थी, उसका पैर मेरे पैर से टच होने लगा. पहले तो मुझे अजीब लगा लेकिन फिर मैंने अपना पैर हटा लिया और सीधे होकर बैठ गया. अब मेरे लेफ्ट साइड में जो लड़की थी, उसने धीरे से मुझसे पूछा- वर्जिन हो क्या?
मैं एकदम शॉक्ड रह गया. मैं कुछ नहीं बोला. उसने फिर से पूछा तो मैं चुप रहा और मूवी देखने लगा.
जो मेरी राइट साइड की लेडी थी उसने बोला- ज़्यादा ही भाव खा रहा है मादरचोद.
उसके मुँह से ऐसा सुन के मैं डर गया और मैंने बोला- प्लीज़ आप अपनी सीट पर बैठ जाओ.. मैं आगे जाके बैठ जाता हूँ.
जैसे ही मैंने ये बोला उसने एक जोरदार थप्पड़ मेरे मुँह पे मारा. मेरे तो होश उड़ गए. वैसे ही मुझे लड़कियों से डर लगता था. मैं एकदम से डर गया.
मैंने कहा- सॉरी लेकिन हुआ क्या?
तो जो मेरे सेकेंड लेफ्ट में बैठी थी, उसने मुझसे कहा- देखो मेरी पहचान बहुत ऊपर तक है और अगर तुम हमारी बात नहीं मानते हो तो हम तुम्हारे खिलाफ रिपोर्ट कर देंगे कि तुमने बदतमीज़ी की और भी बहुत कुछ किया.
अब मैं एकदम डर गया था, मेरी हालत खराब हो गई थी. मैंने कहा- प्लीज़ मैं एक सीधा लड़का हूँ.प्लीज़ मुझे माफ़ कीजिए, आप कहें तो मैं हॉल से उठ कर अपने घर चला जाता हूँ.
मैंने फिर से जैसे ही अपने बात ख़त्म की, मेरे राइट साइड वाली लड़की ने फिर से मुझे एक थप्पड़ मारा और कहा- बहुत बोलता है भैनचोद… सुन बे या तो हमारी बात मान ले या फिर जो तुम्हें सही लगे तुम करो, जाओ.. फिर हम बताते हैं कि हम क्या कर सकते हैं.
मैं बहुत घबरा गया था, मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूँ.डर भी लग रहा था उनकी बातों से कि कहीं वो मुझे फंसा ना दे, मैं तो बर्बाद हो जाऊंगा.
मैंने कहा- मुझे क्या करना है.
उन तीनों के चेहरे पे एक स्माइल आ गई और बोलीं- दैट्स लाइक माय ब्वॉय. यार हम इतने भी बुरे नहीं हैं, जितना तू सोच रहा है साले भड़वे..
मूवी ख़त्म होने में लगभग आधा घंटा बचा था. मैंने सोचा तब तक चुप रहता हूँ..फिर अपने घर चला जाऊंगा.
उन्होंने कहा- तो रेडी हो कुत्ते.
मैंने कहा- जी बोलिए, क्या करना है?
तो मेरे लेफ्ट वाली ने मेरे गाल पर एक जोरदार चांटा मारा और बोला- नीचे बैठ हरामी.
मैंने कहा- नीचे क्यों?
तो फिर से एक चांटा. मेरे गाल लाल हो गए थे.
मैं तुरंत नीचे बैठ गया.
‘चल मेरे सॉक्स उतार और तलवे चाट.’
मैं यह सुन कर एकदम हैरान था कि ये क्या है.
लेकिन मेरे पास कोई ऑप्शन नहीं था; मैं उसकी सॉक्स उतार कर तलवे चाटने लगा. कुछ मिनट तक चाटे, फिर यही बाकी की दोनों लड़कियों के साथ किया.
फिर मूवी ख़त्म होने को 5 मिनट बचे थे, मैं खुश था. तभी 2 लड़कियाँ जो मेरे लेफ्ट में थीं, पीछे की सीट पर जाकर बैठ गईं. मेरी राइट वाली वहीं बैठी थी. अब मुझे ऊपर बैठने को कहा गया. फिर अचानक उस लड़की ने मेरे हाथ पकड़ कर अपने टॉप पर रखे और उसे पूरा फाड़ दिया. मैं एकदम डर गया और पूछा- क्या हुआ?
उसने कहा- अभी पता चल जाएगा.
तभी उसने अपने बैग से एक टॉप निकाला और चेंज किया. फिर मूवी ख़त्म हो गई, सब जाने लगे तो मैं भी जाने लगा.
उन तीनों में से किसी ने मुझे रोका नहीं. मैं खुश था कि चलो मैं बच गया. मैं ऑटो से मूवी देखने आया था और अभी लगभग 12 बज रहे थे. मैं सोच रहा था कि क्या खाया जाए. फिर घर जाऊं.
तभी एक कार आकर मेरे पास रुकी, उसमें वो ही तीनों लड़कियां बैठी थीं. एक ने कहा- हैलो.आओ मैं ड्रॉप कर देती हूँ.
मैंने कहा- नहीं इट्स ओके.
उसने कहा- रूको एक चीज़ दिखाती हूँ. फिर उसने अपना मोबाइल दिखाया और एक वीडियो दिखाया, जिसमें मैं अपने राइट साइड वाली लड़की का टॉप फाड़ रहा था. अब मेरी एकदम फट के हाथ में आ गई.
मैंने कहा- ये क्या है?
उसने बोला- या तो अन्दर बैठ जाओ या हम ये पुलिस को दिखाते हैं.
मैं तुरंत अन्दर बैठ गया तो उसमें से एक ने बोला- अगर किसी के साथ रहते हो तो फोन करके बोल दो कि आज नहीं आओगे.
मेरी हवा खराब हो गई.

More Sexy Stories  कॉलेज गर्ल सविता की हॉट चुदाई