हॉट आंटी की चूत मारी

मैने एक झटका मारा और लंड भाभी की चुत मे समा गया, भाभी उउउउउह्ह्ह !!! निकल गई और मैने जल्दी जल्दी भाभी को चोदना शुरू कर दिया, भाभी की चूत इतनी ज़्यादा टाइट नही थी जिस बात की मुझे बहुत हैरानी हुई, मैं ज़ोर ज़ोर से उनको झटके मार रा था तभी मेरी नज़र बेड के पास एक कोने मे गयी जहाँ एक मोटा सा क्यूकमबर पड़ा हुआ था.

मैं समझ गया की ये क्यूकमबर यहाँ क्यू पढ़ा है, मैने भाभी की गॅंड पर हाथ रखे और बिल्कुल अंदर तक उनकी चूत चोदने लगा, भाभी सीई सस्सस्स उह्ह्ह्ह्ह्ह्ह की सिसकियाँ भर रही थी.

15 मिनिट भाभी को घोड़ी बना के चोदने के बाद मैं उनको बेड पर उल्टा लेटाया और उनके उपर आ के पीछे से उनकी चुत मे लंड डाल दिया और उनके बूब्स हाथो मे ले लिए, ये मेरा फेवरेट पोज़ भी है इसलिए मेरा जोश आसमान छुने लगा था.

भाभी बोली बहुत मज़ा आ रहा है रॉबिन यार इस पोज़ मे तो मैं कभी नही चुदि, मैं अब भाभी की चूत मे लंड अंदर बाहर करने की जगह अपनी बॉडी को भाभी की बॉडी के साथ चिपका के लंड उनकी चूत मे रगड़ने लगा.

भाभी बोली यार जल्दी जल्दी कर काफ़ी टाइम हो गया है, मैने कहा भाभी अब तो आपको तस्सल्ली से चोदुन्गा, मैने भी सोचा की कहीं आंटी जाग ना जाए इसलिए मैं उनको सीधा लेटाया और लंड उनकी चूत मे डाल के उनके दोनो पैर अपने कंधो पर रख लिए और ज़ोर ज़ोर से भाभी को चोदने लगा.

More Sexy Stories  Meri Bhabhi Chudai Ke Liye Tadap Rahi Thi

भाभी की सिसकियाँ तेज हो गई, आअह्ह्ह्ह उउउह्ह्ह्ह्ह आअह्ह्ह्ह्ह उम्म्म्मम करते करते वो अब दो बार झड़ चुकी थी, उन्होने अपना दुपट्टा अपने मूह मे ले लिया थे की आवाज़ नीचे ना जाए.

मैंने अपना काम जारी रखा, उनकी टॅंगो को अपनी बाहों मे भर के मैने लंबे लंबे झटके मारने शुरू किए ता की मैं झड़ जाउ, पर मेरे लंड को शायद जल्दी झड़ने की आदत नही थी.

भाभी भी बोली जल्दी कर रॉबिन ज़ालिम आज जल्दी चोद दे बस, फिर कभी चोद लेना मुझे तुझसे ही तो चुदवाना है, उनकी चुत भी पूरी तरहा गीली हो गई शायद वो फिर से झड़ गई तभी मैं भी झड़ने वाला था, मैने भाभी से पूछा चुत मे डाल दू भाभी बोली नही नही प्लीज़, दो दिन पहले ही पीरियड्स ख़तम हुए हैं कहीं कोई पंग्गा ना खड़ा हो जाए.

कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट सेक्षन मे ज़रूर लिखे, ताकि देसीकाहानी पर कहानियों का ये दौर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

मैने लंड बाहर निकाला और हिला हिला के उनकी चूत के उपर छोड़ दिया, भाभी के सारे बाल बिखर गये थे, भाभी बोली अब तू जल्दी से निकल और संडे को आना, मम्मी अपनी बहन के यहाँ जाने वाली है, तब देखती हू तुझे कमिने कही के चूत का बुरा हाल कर दिया है, मैं हस्ते हुए भाभी को बाय कहा और अपने घर भाग गया.

Pages: 1 2