होली का मज़ा चाची के साथ

Hindi Sex Story Pyaar Parivar Holi Ka Maja Chachi Ke Sath हाय मेरा नाम चंदन है, मैं 24 साल का एक हट्ता कटा लौंडा हूँ और चुत चोदने को मिलजाए तो मैं खुशी से पागल हो जाता हूँ और जिसे चोदता हूँ वो सारी उमर मेरा लंड को याद करता है और चोदने के स्टाइल को. मैं किसी भी चुत मे भेद भाव नही करता. हिन्दी सेक्स स्टोरी प्यार भरा परिवार

मतलब चाहे वो 18 साल की लड़की हो या 30 -50 के भिच की औरत या कोई बूढ़ी हो मुझे सिर्फ़ चुतसे मतलब है चाहे वो दिखने मे कैसी भी हो काली हो,गोरी हो,मोटी हो,पतली हो, दिखने मे सुंदर हो या फिर बदसूरत मैं सबको चोदता हूँ .अपनी तारीफ तो बहुत हो गया अब कहानी पे आता हूँ.

इस साल होली मे अपने चाचा के घर गया,ठीक होली के पहले दिन जाके उनके घरमे पहुँचा तो मैं चाचा और चाची मुझे देख के खुश हो गये तो मैं चाचा से उनके बेटे के बारे मे पूछा तो चाचा बोले दोनो नही है अपने नानी के घर गये हैं.

मैं बोला तो फिर आना बेकार होगया दोनो कोई नही है अब कल का होली नही खेल सकते तो चाचा बोले अरे क्या करे कल सुबह मुझे अर्जेंट कामसे देल्ही जाना है 2 दिन के लिए अब तू बता क्या करते तो चाची पीछेसे बोली कोई बात नही इस साल हम दोनो मिलके होली एंजॉय करेंगे चाचा बोले ठीक है करो तुम दोनो जो करना है करो.

चाचा ने कुछ होली के प्रेपरेशन के लिए पैसे दिया और बोले मैं कामसे बाहर जा रहा हू तुम्हे होली के लिए जो चाहिए खरीद लेना .चाची और मैं दोपहर को मार्केट निकल पड़े मार्केटिंग के लिए. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

चाची ने अपने लिए सारी खरीदने चली गयी और मैं होली का समान लेने चलागया चाची का कॉल आया और बोले क्या कर रहा है मैने कहा कुछ नही समान खरीद रहा हू तो बोली ठीक है एक काम कर भांग लेके आना कल होली मे मज़ा आयेगा.

More Sexy Stories  Docter Ne Maa Ki Chudai Ki

मैने कहा ठीक और सारे समान खरीद के हम वापस घर आए. होली के दिन चाची ने आके मुझे उठाने लगी जब मैने आँखे खोली तो देखा की चाची थोड़ी झुकी हुई थी और उनका क्लीवीयेज सॉफ दिख रहा था क्या मस्त था नज़ारा कुछ देर असे देख रहा था.

तो चाची बोली उठ जा सुबह होगेयी और तेरे चाचा भी चले गये हैं होली की तैय्यारि कर फ्रेश होके सारा समान छत पे लेके चल और एक बात मेरी एक सहेली आएगी होली खेलने तू जल्दी तैय्यार हो मैं भांग की तैय्यारि कर रही हूँ.

मैने सारी तैय्यारि करके छत पे चला गया कुछ देर बाद चाची और उनकी सहेली छत पे आई दोनो क्या मस्त लग रही थी उपरसे वाइट कलर की सारी मैं तो पागल हो गया था फिर चाची ने उनको इंट्रोड्यूस किया उनका नाम तारा था फिर चाची बोली एक बात बोलना चाहती हूँ कोई शरमाएगा नही हम यहा एक दोस्तो की तराहा खेलेंगे और तू चंदन समझ लेना की हम तेरे दोस्त है अच्छी तरह से हम एंजॉय करेंगे.

दोनो का ड्रेसअप देख के मेरा दिमाग़ खराब हो रहा था उपर सुबह चाची की बूब्स का क्लीवीयेज दिमाग़ से जा नही रहा था मैने कहा ठीक है और चाची लस्सी जब रख रही थी मैं उनके पास गया और उनसे पीछे से चिपक गया और उन्हे पीछे से पकड़ा उनकी हाइट बहुत कम हैं इस लिए जब मैने चाची को पीछेसे पकड़ा.

तो उनका बूब्स मेरे हाथ मे आ गया और उनको पीछेसे पकड़ के होली लगाना सुरू किया मैने नोटीस किया की मेरा हाथ चाची की बूब्स पे है लेकिन बो कुछ नही बोल रही है और खुशी खुशी रंग लगाने दे रही हैं मुझे और मेरा लंड भी उनके दोनो गॅंड के बीच मे चिपक गया है.

More Sexy Stories  मेरे सामने मेरे परिवार की चुदाई

मैने आछे से होली लगाया फिर तारा आंटी को भी आछेसे लगाया तो चाची बोली क्या रे मुझे पीछे से हमला करके एक बाहों मे जकाड़ के होली लगाई और उन्हे ऐसेही मैने और क्या करू तो चाची ने मुझे एक धक्का दिया की मैं उनके उपर गिर गया वो नीचे और मैं उनके उपर.

और चाची बोली अब लगा होली और मैं उनके उपर बैठ के होली लगाया जब मैं होली लगा रहता तो मेरा हाथ उनके बूब्स को टच कर रहा था और मेरा लंड खड़ा हो गया था मैने सोचा की लगता है आज होली बहुत मे मज़ा आएगा तो फिर मैं उनके उपर से उतरके खड़ा होगया फिर चाची और तारा आंटी अपना पल्लू निकाल उनके वेस्ट मे घुसा दिया.

मैं तो देख के पूरा सरप्राइज था क्या मस्त बड़े बड़े बूब्स थे और इतना बड़ा क्लीवीयेज मानो थोड़ा और नीचे करदो तो पूरे बूब्स दिखेंगे मेरा तो दिमागा खराब होगया फिर दोनोने पिचकारी उठाई और मुझेपे अटैक करने लगी फिर मैने भी पिचकारी उठाया और सीधे उनके बूब्स पे अटॅक कर दिया दोनो ने शायद ब्रा नही पहनी थी तो उनका निपल का शेप पूरा पता चल रहा था.

तारा ने पिचकारी सीधे मेरे लंड पे मारी और ये देखके चाची हसने लगी और मेरे लंड पे पिचकारी मारने लगी मैं हाथ उपर कर के खड़ा होगया और बोला मारो कितना मारना है दोनो हसने लगे और पिचकारी मारने लगे जब उनका पिचकारी मे पानी ख़तम हो गया तो दोनो घूमके पिचकारी को फिल कर रहेते तो मैं दोनो की गॅंड मे मारने लगा और पूरा भीगा दिया.
ऐसेही कुछ देर खेलनेके बाद हम भांग पीने लगे जब वो दोनो भांग पी रहे थे तो मैं उनके बूब्स देख रहा था तो चाची बोली क्या देख रहा है मैने कहा कुछ नही क्या देखूँगा तो वो हसने लगे और कुछ देर बाद सबको चढ़ गया भांग का नशा.

Pages: 1 2