घर वाली और बाहर वाली

मैं – वा क्या सोच है तुम्हारी मेरी जान.

काजल – और क्या, अब तुम हम दोनो को ही देख लो. इस टाइम हम दोनो एक दूसरे के बराबर है. यहाँ कोई एक दूसरे का मालिक न्ही है. इसलिए हम दोनो एक दूसरे की सेवा प्यार से करते है. अच्छा मैं आपको एक बात बता दु ?

मैं – हा मेरी जान बताओ ना, आज तो तुम्हारी एक एक बात मेरे दिल मे बस रही है.

काजल – न्ही मुझे शरम आ रही है.

मैं – अरे प्लीज़ ना बताओ ना प्लीज़.

काजल – बात ये है की, जब भी मैं अपने पति की बाहों मे जाती हूँ. तब मुझे तुम्हारी याद आती है.

मैं – सच मे और मेरी बाहों मे किस की याद आती है ?

काजल – तुम्हारी बाहों मे तो मैं एक आज़ाद पंछी की तरह होती हूँ. जो जी मे आए वो मैं कर लेती हूँ.

फिर हम दोनो ने मेरी वाइफ अंजलि की बात करना शुरू कर दिया. हम दोनो अंजलि की बातो को काफ़ी सीरीयस होकर कर रहे थे. शायद आज काजल मुझे अंजलि के बारे मे कुछ बताना चाहती थी.

उसकी बातें सुन कर मुझे लगा, की सच मे यार अंजलि के अंदर घर परिवार संभालने के गुण कूट कूट कर भरे हुए है. देखा जाए तो जैसी एक वाइफ एक पति को चाहिए होती है. सेम वैसी ही अंजलि है, मैं थोड़ा और पीछे जा कर अंजलि के बारे मे सोचने लग गया.

मेरी शादी को 10 साल हो गये थे, पर मुझे एक बार भी ये याद न्ही आया की कब लास्ट टाइम अंजलि ने मुझसे उँची आवाज़ मे बात करी थी. वो हमेशा मुझसे नीची आवाज़ मे बात करती थी.

More Sexy Stories  रास्ते मे मिली एक मस्त रंडी

काजल – देखा तुमने कितनी अच्छी है अंजलि कभी एक बार अंजलि की छोटी छोटी इच्छा पूरी करके देखो. फिर देखना वो तुम्हे अपना प्यार कैसे देती है. अंजलि एक छोटी सी बच्ची है. उसके लिए छोटी सी खुशी ही एक बहुत बड़ी खुशी हो सकती है.

मैं – हा मुझे याद है, एक बार उसने मुझसे एक प्रिंट सूट की माँग करी थी. पर मैने उसे वो दिलाने से मना कर दिया था.

काजल – अच्छा फिर उसने घर आकर क्या किया ?

मैं – कुछ न्ही उसने करेले की सब्जी बनाई.

काजल – वो सब्जी उसे पसंद है ?

मैं – न्ही उसे वो पसंद न्ही है, पर मुझे बहुत पसंद है.

काजल – देखा वो आपकी पसंद को अपनी पसंद मानती है. चाहे उसे वो पसन्द हो या ना हो.

काजल की ये बात सुनते ही मैं पुरानी बतो मे खो गया, क्योकि काजल ठीक कह रही थी. मेरी आँखो के सामने वो सब आने लग गया, जब जब मैने अंजलि को दुख दिया था.

काजल – अच्छा तुम घर मे कितने बार पैसे देते हो ?

मैं – मैं सिर्फ़ एक बार देता हूँ.

काजल – देखो वो कैसे अकेली कितना काम करती है. पूरा महीना इतने से पैसो मे कैसे चलता है. ये सिर्फ़ उसे ही पता है, तुम तो सारे पैसे दे कर टेन्षन फ्री हो जाते.

मैं – यार काजल थॅंक यू सो मच. आज तुमने मेरी आँखें खोल दी यार आई लव यू.

ये कह कर मैं अपने कपड़े डाल कर सीधा मार्केट मे गया. और जो सूट अंजलि को पसंद था, वो मैने लेकर अच्छे से पॅक करवा लिया. घर आकर मैने अंजलि को वो गिफ्ट दे दिया.

More Sexy Stories  18 साल की उम्र में सेक्स का मजा सिस्टर के साथ

अंजलि ने जब वो खोला तो वो देख कर काफ़ी खुश हो गई. उसके चेहरे का रंग एक दम चेंज हो गया. उसका खुशी से भरा हुआ चेहरा आज ही देख कर मैं काफ़ी खुश हो गया.

मैं कुछ न्ही बोला और चुप चाप अपने रूम मे जा कर सो गया. रात करीब 12 बजे मेरे पास अंजलि आई और मुझे अपनी बाहों मे ले लिया. मैं उसका ये रूप देख कर पागल हो गया. फिर उसने मुझे किस करना शुरू कर दिया.

दोस्तो उस रात अंजलि काजल बन चुकी थी. मुझे ऐसा लग रा था, की मैं काजल के साथ ही सेक्स कर रहा हूँ. उस रात के बाद हम दोनो मे एक वो प्यार हुआ, जो एक हज़्बेंड वाइफ के बीच मे होना चाहिए था.

मुझे उमीद है आपको ये कहानी पसंद आई होगी

Pages: 1 2