गरम आंटी को चोद के शांत किया

हेलो दोस्तों मेरा नाम राहुल है. में अभी 29साल का हूँ और अभी कॉलेज मे हूँ. मे पुणे का हूँ। मेरे घर के पास वाले घर मे एक आंटी रहती हैं मालती, उम्र है 39 साल, वो बहुत ही मस्त औरत है. क्या फिगर है उसके उपर से ले कर नीचे तक बहुत मस्त माल है बस मन करता है की देखते ही

रहो, क्या गजब का बदन है उसका. जब भी देखता हूँ मेरा लंड खड़ा हो जाता है बस मन करता है चोद दूं साली को. बस दिन रात ये ही सपना देखता रहता था।
में कभी कभी उनके घर जाया करता था जब मम्मी किसी काम से भेजती थी. उसका एक बेटा है जो 8th क्लास मे पढ़ता है उसकी गणित बहुत कमजोर थी तो उन्होने मुझसे पूछा की क्या मे उसको गणित पढ़ा दूँगा तो मे तुरंत तैयार हो गया. फिर मे रोज दोपहर को उसको पढ़ाने जाने लगा 2 बजे। अब मेरी मालती से काफ़ी बात होने लगी. अब जब भी मे पढ़ाता तो वो मेरे पास ही रहती. अब मेने उसकी तरफ ज्यादा ध्यान देना शुरू कर दिया तो मुझे लगा की वो अब काफ़ी सेक्सी कपड़े पहनती है. जब कभी साड़ी पहनती है तो उसका ब्लाउज काफ़ी कसा हुआ होता था।

जिसकी वजह से उसकी 40 साइज़ की चुचियाँ तनी हुई रहती थी और साड़ी भी चूतडो पर भी काफ़ी कसी हुई रहती थी. उसकी चुचियाँ बहुत बड़ी बड़ी थी। जिसे देख कर ही मेरा लंड बुरी तरह से खड़ा हो जाता था. और जब कभी सलवार पहनती थी तो वो भी बहुत कसी हुई और जिसकी वजह से उसकी चुचियाँ बहुत ही सेक्सी लगती थी. और गांड भी एकदम कसी हुई रहती थी उसकी गांड का साइज़ भी 44 था और कमर 34. पूरा का पूरा जबरदस्त माल थी. आस पास के काफ़ी लोग उसके चक्कर मे थे।

एक दिन जब मे उसके लड़के को पढ़ा रहा था तो वो मेरे सामने वाले सोफे पर बैठी थी. उस दिन उसने गुलाबी रंग की साड़ी पहनी हुई थी और बहुत ही कसा हुआ ब्लाउज पहना था. लगता था की वो उसकी चुचियो के साइज़ से काफ़ी छोटा था तब भी उसने पहन रखा था. बड़ी ही मस्त लग रही थी।

More Sexy Stories  सीनियर के साथ सेक्स ओर प्यार

मे थोड़ी देर मे उसको देख लेता था कभी कभी उससे नज़र भी मिल जाती थी. वो कोई किताब पढ़ रही थी तभी वो किताब गिर आई तो वो उसको उठाने की लिए झुकी. हाय क्या गजब का नज़ारा था एकदम कसी हुई दो बहुत ही मोटी चुचिया मेरे सामने थी. उसने ब्लाउज बहुत ही लो कट का पहना था तो उसकी काफ़ी चुचिया दिख गयी। फिर वो किताब लेकर पढ़ने लगी पर उसने अपना साड़ी का पल्लू उपर नहीं किया अब उसकी कसी हुई मोटी चुचियाँ ब्लाउज मे कसी हुई सॉफ दिख रही थी. वो ऐसे ही काफ़ी देर तक पढ़ती रही और मेरे लंड का बुरा हाल होता रहा. फिर वो बाद मे उठ कर चली गयी।

एक दिन जब मे उसके घर गया तो पता चला की उसका लड़का कहीं गया है अपने फ्रेंड के यहाँ. तो मेने कहा की ठीक है तो मे चलता हूँ तो वो बोली की चले जाना थोड़ी देर रूको. में रुक गया अब मेने उसको गौर से देखा उसने आज नाईटी पहनी हुई थी वो भी काफ़ी सेक्सी उसके अंदर का सब कुछ सॉफ दिख रहा था. उसने अंदर काली ब्रा और पेंटी पहनी हुई थी. पेंटी तो उसके चूतडो मे एकदम फसी हुई थी मेरा लंड पूरी तरह से तन गया था जो मेरी पैंट के उपर से साफ दिख रहा था।

वो भी मेरे लंड को ही देख रही थी काफ़ी ध्यान से. उसने मुझसे पूछा की तुम कुछ लोगे तो मेने कहा की कोल्ड ड्रिंक. तो वो कोल्ड ड्रिंक लाने के लिए चल दी. अब में उसके चूतडो को देख रहा था वो इधर उधर मटक रहे थे वो गजब की सेक्सी लग रही थी। वो कोल्ड ड्रिंक लेकर आई और मुझे दिया. देने के लिए वो झुकी तो उसकी चुचियाँ की दरार दिखाई देने लगी मे उसको ही देखने लगा और ड्रिंक लेना भूल ही गया. वो भी कुछ नहीं बोली उसको पता चल गया की में उसकी चुचियों को देख रहा हूँ। फिर मुझे याद आया की मुझे ड्रिंक लेना है तो मेने जल्दी से ले लिया तो वो बोली इतनी भी क्या जल्दी है आराम से देख लो फिर ले लेना. में उसकी बात सुन कर हैरान रह गया. अब मेने समझ गया की वो भी तैयार है तो मेने कहा नहीं अब मे ड्रिंक पी कर फिर इन्हे अच्छे से नंगी करके देखूँगा… तो वो बोली इसमे कौन सी बात है मे ही दिखा देती हूँ तुझको अपनी चुचियाँ… और फिर वो अपनी नाईटी उतारने लगी तो मेने कहा अभी नहीं मेरी जान..।

More Sexy Stories  पढ़ाई के बहाने चुदाई

तुझको मे अपने हाथो से नंगा करूँगा… तो वो बोली हा.. ये भी ठीक है मुझको नंगा करते समय तुम अच्छे से मज़े ले लेना मेरी जवानी के… फिर वो मेरे पास आ कर बैठ गयी और में उसके बदन को छूने लगा. आज मेरी दिल की मुराद पूरी हो रही थी. उसका बदन वाकई मे काफ़ी गजब का था। एक दम मुलायम चिकना. उसको सहलाने मे बहुत मज़ा आ रहा था। फिर मेने उसकी नाईटी को उपर सरकाना शुरू किया और धीरे धीरे उसकी नाईटी उतार दी. अब सिर्फ़ ब्रा और पेंटी ही रह गयी थी. क्या गजब का माल लग रही थी।

मेने उसके होंठ चूमने शुरू किए और उसकी चुचियों को भी दबाने लगा. अब वो धीरे धीरे गर्म हो रही थी. फिर उसने मेरी शर्ट और पैंट उतार दी. फिर वो मेरे खड़े हुए लंड को देखने लगी जो अंडरवियर से बाहर आ गया था. मेरा लंड बहुत ज़्यादा मोटा और लंबा नहीं है. सिर्फ़ 7.5 इंच लंबा है लेकिन एक बात उस दिन मालती की चुदाई करने के बाद मुझे पता चली कि मे काफ़ी देर तक चुदाई कर सकता हूँ. खेर फिर उसने धीरे से मेरा लंड बाहर निकाल लिया और उसको चूसने लगी। मुझे भी मज़ा आने लगा. मेने भी धीरे से उसकी पेंटी उतार दी और फिर ब्रा भी उतार दी. अब वो बिल्कुल नंगी थी मेरे सामने. बहुत ही गजब की लग रही थी।

Pages: 1 2