गाँव से शहर तक का सफ़र

फिर उसने मुझसे मेरा नंबर लिया और चला गया.

अब मेरे अंदर अजीब सी खुशी थी.

फिर मैं घर आ गयी.

जॅसमिन ने पूछा – आज बहुत खुश लग रही हो?

मैं – कुछ नही.

वो तो खुद खेली हुए खिलाड़ी थी, उसने तुरंत पूछ लिया – सरवर से मिल कर आ रही हो.

मैं बोली – हा.

उसने कहा – तभी तो इतनी खुश हो, क्या कुछ हुआ या सिर्फ़ मिली हो?

मैं बोली – आज मेरी जिंदगी मे पहली बार मुझे किसी लड़के ने हग किया.

उसने पूछा – कैसा लगा?

मैं बोली – अच्छा लगा.

वो बोली – चल तू शुरू हो ही गयी, आज हग करवा कर आई हो कल कुछ और फिर सब कुछ.

मैं शर्मा गयी बोली – नही होगा कुछ इससे ज़्यादा.

उसने एक हाथ मेरे लिप्स पे रखा और दूसरा बूब्स पे और बोली – अब इसकी बारी है.

तभी मैं वाहा से साइड हो गयी और सोचने लगी, कितना जल्द सब कुछ बदल गया, आज से 2 साल पहले मैं एक गाव की साधारण लड़की थी, और आज कितनी हॉट लगती हू. कुछ टाइम पहले सोचा भी नही था की मेरा भी बाय्फ्रेंड होगा पर आज है, पहले मैं कितनी शरमाती थी और अब बाय्फ्रेंड की बात भी खुल कर बोलती हू.

अब मुझे थोड़ा डर लग रहा था, वो सब भी ना हो जाए जो मैं नही चाहती हू, यानी मेरी चुदाई.

जॅसमिन ने पीछे से आ कर मेरे कंधे पे हाथ रखा, फिर जब मैने पीछे देखा तो बोली – क्या सोच रही हो?

मैं बोली – कुछ नही.

फिर उसने फोर्स किया तो मैने बता दिया.

ये सुन का वो मुस्कुरा कर बोली – शहर मे जिंदगी ऐसे ही बदलती है.

फिर उसने पूछा की तुम्हे भी अपनी चुदाई का ख़याल आने ही लगा.

मैं कुछ नही बोली.

फिर वो बोली – जा करवा ले आज, नही तो कल करवाना ही है तो क्यो ना आज ही मज़ा लिया जाए, वो तुझे खूब मज़ा देगा.

More Sexy Stories  गर्लफ्रेंड की चुदाई उसके घर

मैं बस सब सुन रही थी.

इस तरह दिन ख़तम हुआ और रात हो गयी.

रात 10 बजे के आस पास बी.एफ का फोन आया और हम बात करने लगे. शुरूवात मे तो सब नॉर्मल बाते की, पर धीरे धीरे रोमॅंटिक बाते होने लगी.

फिर उसने मुझे कल पार्क मे चलने के लिए कहा और मैं तैयार हो गयी.

कल होने पर हम कोचिंग से पहले पार्क मे गये, मॉर्निंग के टाइम ज़यादा लोग नही था एक्का दुक्का थे.

वाहा जा कर हम एक बेंच पर बैठ गये और बाते करने लगे. उस दिन मैने जीन्स और शर्ट पहनी हुई थी. जीन्स और शर्ट दोनो टाइट थी, इसलिए मैं बहुत हॉट लग रही थी.

मैं उसकी जाँघ पे सर रख उससे बात कर रही थी, अचानक वो अपना हाथ मेरी गर्दन पे फेरने लगा, जिससे मुझे अच्छा फील हो रहा था.

फिर वो अपनी उंगली मेरे होटो पे फेरने लगा.

मैं उसे रोकना चाह रही थी, पर रोक नही पा रही थी. क्योकि मुझे भी अच्छा लगने लगा.

फिर उसने मुझे अपने घर चलने को बोला.

मैने एक शर्त रखी की वो मेरे साथ कुछ नही करेगा. वो मान गया और मैं उसके घर आ गयी.

उसने मुझे बैठने के लिए बोला और पूछा – क्या पियोगी?

मैने मना कर दिया, लेकिन फिर भी वो स्प्राइट ले आया और हमने पी.

फिर वो मुझे अपने रूम मे ले गया, वाहा हम बेड पे बैठ कर बात करने लगे, मुझे कुछ अजीब फिल हो रहा था.

उसके बाद उसने टीवी ऑन कर दिया और एक रोमॅंटिक मूवी लगा दी. मैं समझ गयी की इसके दिमाग़ मे क्या चल रहा है, पर मैं कुछ नही बोली.

मूवी मे एक किस्सिंग सीन आया जिसे देख कर मैं भी गरम होने लगी.

More Sexy Stories  सोमया के चक्कर मे चुदी उसकी दीदी

अब वो मेरे तरफ मुस्कुरा कर देख रहा था, मैने भी मुस्कुरा दिया.

फिर उसने अपने होठ मेरे होठों की तरफ बढ़ाए और उसने अपना हाथ मेरे सर के पीछे ले जाकर मुझे थोड़ा उपर की और मेरे होठों पे अपने होठ रख दिए.

पहले तो मैं उसे हटाने लगी, पर फिर मैं उसका साथ देने लगी. जैसे ही उसने होट अलग किए, मुझा लगा मैने बहुत ग़लत कर दिया और वाहा से जाने लगी पर उसने मुझे जाने से रोख दिया .
उसने मुझे पीछे से पकड़ा था जिस से मेरी गांड पे उसका तन्ना हुआ लंड लग रहा था और उसके हाथ मेरे बूब्स पर थे जो की मुझे बहुत ही गरम कर रहे थे.
उसने मेरे बूब्स को दबाना शुरू कर दिया और अब मुझे अच्छा लगने लगा मैं भी उसके लंड को हाथो से मसलने लगी . अब उसने मुझे पलटा कर मेरी टॉप उतारी और मेरे बूब्स चूसने लगा . दांतो से काटने लगा अब मैने भी उसका पेंट उतारा और उसका लंड चूसने लगि. 10 मिनिट मे ही उसका सारा गरम माल मेरे मूह मे ही निकल गय.फिर उसने मुझे और खुद को नंगा
कर अब वो मेरी चूत चाटने लगा और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था,
फिर उसने अपना लंड मेरी चूत पे रखा और एक ही झटके मे पूरा 7 इंच का लंड मेरी चूत मे उतार दिया,और मैं दर्द से चिल्लाने लगी पर उसने कोई भी परवाह ना करते हुए धक्के चालू रखे. अब धीरे धीरे मुझे भी मज़ा आने लगा और मैं भी अब चुदाई मे उसका साथ देने लगि. करीब 20 मीं की चुदाई के बाद उसका और मेरा पानी निकल गय. उसने उस दिन 4 बार चोदा. उसके बाद से 2साल तक हमारा अफेर चल्ला उन दो साल्लो की चुदाई मैं आज तक नही भूल पाई हू.

Pages: 1 2 3