बॉस के साथ चुदाई

Desi Indian Gandi Kahani Meri Chudai Boss Ke Sath Chudai हेलो दोस्तो कैसे हो आप! मेरा नाम अंजलि है और मैं आज आपको अपनी एक सच्ची देसी इंडियन गंदी कहानी मेरी चुदाई सुनाने जा रही हूँ जिसको सुनकर लड़कियो के जिस्म के रोंगटे खड़े होज़ाएँगे और लड़को के लंड खड़े होज़ाये.

तो दोस्तो चलो अब मैं आपका ख्याल रखते हुए कहानी पर आती हूँ.

सो लेट’स स्टार्ट.

दोस्तो मेरा नाम अंजलि है और मेरी उमर 21 साल है और मैं अपने मम्मी दादी के साथ हरयाणा के गाओं मे रहती हूँ और मेरी स्टडी भी कॉलेज से हो रही है और मैं घरवालो की हेल्प के लिए पार्ट टाइम जॉब भी कर रही हूँ जिसका टाइम 5 से 8 है.

दोस्तो मैं दिखने मे ज़्यादा सुंदर भी नही हूँ पर मेरे फीचर और मेरी फिगर पर हर लड़का दीवाना है. कॉलेज मे भी मुझे बहोत से ऑफर आए पर मैने किसी को भी हाँ नही करी.

दोस्तो मैं कॉलेज के बाद ही अपनी जॉब पर चली जाती हूँ क्योकि गाओं जाकर फिर आना कुछ ज़्यादा मुश्किल लगता है. जॉब पर आकर मुझे बहोत अछा लगता है क्योकि मुझे यहा ज़्यादा काम नही करना पड़ता बल्कि अकाउंट का ही वर्क है जो की कुछ ज़्यादा भी नही होता. हर कंपनी की तरह मेरी इस कंपनी के भी बॉस है जिनका नाम विजय कुमार है और वो मुझे बहोत पसंद करते है, मेरे काम मे मेरी हेल्प भी करते है.

जॉब के ख़तम हो जाने के बाद बॉस मुझे अपने कॅबिन मे बुला लेते है और मुझे उनकी बात मानते ही उनके पास बैठना पड़ता है और वो घरवालो से रिलेटेड बात करके अपने बारे मे भी कुछ ना कुछ बताते है. बॉस मुझे ऐसे ही डेली बुलाते रहते है और इसी के चलते अब 8 बजे छुट्टी होने के बावजूद भी मुझे घर पहोचते हुए 10 बज जाते है.

More Sexy Stories  Bhai Ki Shaadi me Behen Bani Randi

धीरे-धीरे ये देरी का सिलसिला बढ़ता गया और मैं डेली रात को घर 10 बजे तक आने लग गई तो मम्मी ने मुझे बहोत ड़ाट भी लगाई और साथ ही साथ जॉब छोड़ देनेको कह दिया. मैने तब मा की बात को समझते हुए उनकी बात मान ली और कह दिया की कल कंपनी मे जाकर बात करूँगी.

अब जैसे तैसे सुबह हुई तो मैं कॉलेज गई और वाहा पर मेरा मूड भी सही नही था क्योकि मुझे अछा नही लग रहा था की मैं जॉब छोड़ू इसलिए मैं आज स्कर्ट और शर्ट पहनकर आई थी. अब कॉलेज ख़तम होनेके बाद मैं कंपनी मे गई और अपना काम ना करते हुए सीधा बॉस के कॅबिन मे गई.

बॉस ने मुझे देखते ही अपने काम को जल्दी से ख़तम किया और जोभी ऑफीसर वाहा बैठे थे उन्हे बाहर भेज दिया और मुझे अंदर बुलाते हुए कहा ‘ हाँ अंजलि क्या हुआ’.
मैं- सर कल रात घरवालो से खूब ड़ाट पड़ी और उनके कहने पर मैं रेसिग्नेशन लेटर लेकर आई हूँ क्योकि मुझे घर पोचते हुए10 बज जाते है और वो घरवालो को पसंद नही.

सर – ओह ये बात है तो चलो बैठोतो सही.

मैं उनके कहने पर बैठ गई.

सर- कुछ हो सकता है या नही.

मैं- सर मैने रात को समझाने की कोशिश भी करी पर उन्होने मेरी बात नही मानी.

सर – ओके ये बात है तो तुम मेरा साथ दोन्गि.

मैं – हांजी सर, ज़रूर.

सर – तो तुम पहले मुझे मेरे नाम से पुकारना शुरू करो.

मैं – ओके सर.

सर- फिर सर.

मैं- जी.

सर – अब बात ये है की तुम ऑफीस मत छोड़ो ऐसेही आती रहो.

मैं उनकी बात सुनकर खड़ी हुई तो उन्होने मेरे कंधे पर हाथ रख दिया और मुझे बैठने को कहा. मैं उनकी बात मान कर वाहा पर बैठ गई और फिर वो भी मेरे पास आकर एक चेर पर बैठ गये. वो इतने करीब बैठे थे की मैं आपको क्या बताउ, उनके इतने करीब बैठनेसे मेरे शरीर मे करेंट दौड़ने लग गया और रोंगते भी खड़े हो गये.

More Sexy Stories  Beti Ne Samjha Mera Dard

ये देख कर सर बोले – तुम घबरा क्यो रही हो?

मैं – आज से पहले कभी ऐसा हुआ नही इसलिए.

सर – अंजलि तुम डरो मत आज के टाइम मे कॉंपिटिशन बहोत है इसलिए अपने मन से ये डर निकाल दो और किसी के करीब बैठनेसे या हाथ लगानेसे डरो मत.

मैं उनकी बात समझ गई और मूह नीचे करके सिर्फ़ सिर हिला दिया.

सर – चलो अब ये सब छोड़ो, और बात करते है.

मैं – हांजी.

सर – अछा ये बताओ कभी पहले सेक्स किया है?

मैने पहले 3 बार कर रखा था इसलिए चुप थी तो बोली – हांजी एक बार.

सर – इसका मतलब तुम जानती हो सेक्स के बारे मे!

मैं – हांजी.

सर – तो तुम मेरे साथ सेक्स करना चाहोगी.

मैं उनकी बात सुनकर खुश हो गई और मेरी चूत मे तो खुज़ली हो गई.

अब सर ने अपना हाथ मेरे बूब्स पर रख दिया और दूसरा हाथ मेरी टाँगो के बीच लाकर टाँगे खोलने लग गये. मुझे अछा तो लग रहा था पर डर भी लग रहा था की कोई अंदर ना आ जाए.

सर – तुम चिंता मत करो, मैं प्यार बाद मे ही करूँगा.

उनकी ये बात सुनकर मैने अपनी टाँगे खोल दी और उन्होने अब अपना हाथ मेरी चूतपर रख दिया. मेरी पैंटी के अंदर हाथ जाते ही चूत मे अजीब सा कुछ हुआ और मेरे तो मज़े मे ही सिसकारी निकल गई. पर उन्होने मेरी चूत पर सिर्फ़ उंगली फेरी और तभी फोन बज गया तो उन्होने फटाफट हाथ निकाल लिया और रिसीवर को उठा कर रिसेप्षनिस्ट से बात करी तो उसे कहा- हाँ 5 मिनिट मे भेज दो.

Pages: 1 2