कॉंडम नही तो गॅंड मार लो

हेलो दोस्तो, मेरा नाम निखिल है. और मेरी उमर 17 साल है और मेरे लंड का साइज़ 7 इंच है. मेरा रंग गोरा है और दिखने मे ठीक ठाक हूँ. जब मैं 8थ क्लास मे था. तभी से मुझे सेक्स के बारे पता चलने लग गया था. मैं देल्ही मे रहता हूँ.

और मेरे घर मे मेरे मम्मी पापा और मेरी एक बड़ी बहेन रहती है. मेरी बहेन मुझसे 4 साल बड़ी है. और वो एक कंपनी मे जॉब भी करती है. जब मैं घर पर अकेला होता था तब मैं अपने कंप्यूटर मे सेक्सी मूवीस देखता था. और बहोत मज़े मे मूठ मरता था. मुझे सेक्स की सारी नालेज यही से हुई थी.
मैं और मेरा लंड अब एक चूत के लिए तड़पने लग गये थे. मुझे किसी भी हालत मे एक चूत चाईए थी. जिसमे मैं अपना लंड डाल कर अपने लंड को शांत कर सकूँ. पर मुझे ये बात किसी से कहने मे बहोत ही शरम आती थी. मुझे समज नही आ रा था की आख़िर मैं करूँ तो क्या करूँ.
मेरी बेहन के साथ उसकी एक फ्रेंड काम करती थी. वो दोनो डेली एक साथ ऑफीस जाती और एक साथ ही वापिस आती थी. उसका नाम अंकिता था उसका रंग सांवला था. पर अगर कोई उसका फिगर देखे तो उसकी चूत मरने का दिल करने लग जाता था. मैं तो खुद साली के सेक्सी जिस्म के उपर फिदा हो चुका था. मेरा लंड उसकी चूत मे जाने को करता था.

वो डेली मेरे घर आती जाती थी इसलिए मैं उसे हर रोज आते जाते देखता था. और वो मुझे देख कर रोज स्माइल देती थी. मेरा मन उसको चोदने का करने लग गया था. मैं अब उसे चोदने के बहाने ढूंढ़ने लग गया. पर मैं कोई प्लान नही बना पा रा था.
एक दिन की बात है मेरे सारे घर के लोग एक पार्टी मे गये थे. सनडे का दिन था इस लिए दीदी भी पापा मम्मी के साथ पार्टी मे गई हुई थी. मैं नही गया क्योकि कल ही मेरे अपने दोस्त से 50 न्यू ब्लू मूवीस ले कर आया था. मुझे वो देख कर अपने लंड का पानी निकलना था. मैं आप को बता दूँ मुझे ब्लू मूवीस देखने का बहोत शौक है.

More Sexy Stories  पड़ोस की भाभी को तृप्त किया

बड़े मज़े मे मैं अपनी पैंट और अंडरवेर निकाल बेड पर लेटा हुआ था. और मेरे सामने ब्लू मोविए मेरे कंप्यूटर पर चल रही थी. मैं बड़े मज़े मे अपने लंड को उपर नीचे कर रा था सच मे बहोत ही मस्त माहॉल बना हुआ था. मेरे राइट हॅंड मे मेरे 7 इंच का लंड था. जिसे मैं मस्ती मे ज़ोर ज़ोर से उपर नीचे कर रा था.
इतने मे ही डोर बेल बाजी. मुझे बहोत गुस्सा आया क्योकि किसी मदारचोड़ ने मेरा सारा मज़ा खराब कर दिया था. मैं गलिया निकलते हुए अपने कपड़े पहन कर डोर तक गया. गुस्से मे मैं कंप्यूटर बंद करना भूल गया था.

जेसे ही गेट खोला तो मेरे सामने अंकिता खड़ी थी. उसने आज टाइट जीन्स टॉप डाला हुआ था. साली कयामत लग रही थी उसको देख कर मेरा सारा गुस्सा एक मिनिट मे ही गायब हो गया. मेरा दिल मे अब एक रोमॅंटिक का सॉंग चलने लग गया था. उसने मुझे पूछा की दीदी कहाँ है.
दीदी के बारे मे बताने से पहले मैं उसे अंदर आने को खा. वो अंदर चली गई और मैं गेट लगाने लग गया. जब मैं अंदर आया तो मेरी गांद फट गांड. क्योकि अंकिता मेरे रूम मे बेड पर बैठी ब्लू मूवीस देख रही थी. उसको ये सब देखते हुए मेरी गांड फट गई. मैं ये सोच रा था साले आज तो तू गया. मैं सोच रा था की आज किसी की गांड मारूँगा. पर अब ये मेरी गांड मेरे घरवालो से मरवा देगी.

फिर मैने जल्दी से कंप्यूटर का मेन पवर स्विच ही निकल दिया. और कंप्यूटर बंद हो गया. मैं फिर अंकिता के पैरो मे पड़ गया और उससे माफी माँगने लग गया. की वो किसी को इस बारे मे कुछ ना बताए वो मुझे जो करने को कहगी, मैं वो करने के लिए तैयार हूँ. बस जेसे तेसे वो मुझे इस बार माफ़ कर दे.
अंकिता ने मुझे उपर उठाया और बोली – देखो निखिल तुम्हारी उमर मे सब ऐसे करते है. इसलिए डरने वाली कोई बात नही है.

उसके मुह से ये सब सुनने के बाद मुझे सच मे बहोत शांति मिली. फिर मैने मौका देख कर उससे पूछा की क्या आप के भी दिल ये सब करने का करता है. उसने कहा हाँ पर मुझे अभी तक कोई अच्छा सा पार्ट्नर नही मिला. मुझे अभी 2 लड़को ने चोदा है और वो मुझे छोड़ कर चले गये है. अब मैं अकेली हूँ मेरा बहोत दिल करता है चुदवाने का पर डर लगता है.

More Sexy Stories  ससुरजी के मोटे लंड से चुदाई

अंकिता मेरे कंधे पर सिर रख कर रोने लग गई. मैं उसे चुप करने लग गया. और फिर उसे गोद मे उठा कर मैं उसे बाथरूम मे ले गया. और शवर ऑन करके हम दोनो उसके नीचे भीगने लग गये. बाथरूम मे ही बहोत रोमॅंटिक मोहल बन गया था.
देखते देखते हम दोनो की आँखें बंद हो गई और मैने उसे अपनी बाहों मे भर लिया. और फिर उसे किस करना शुरू कर दिया वो किस मे मेरा पूरा साथ दे रही थी. किस करते करते मैने उसके और अपने सारे कपड़े निकल दिए. अब हम दोनो पूरे नंगे शवर के नीचे पानी मे भीग रहे थे.

हम दोनो पूरे गरम हो चुके थे. अब मेरा लंड चूत मे जाने के लिए तैयार था. मैं अंकिता को उठा कर बेड पर ले आया और उसके बूब्स और चूत को अच्छे से चूसा. चूत के चूसने के बाद मेरे मूह मे उसकी चूत का पानी भर गया. जिसे मैं झट से पी भी गया.
उसके बाद मैं उसकी चूत मे लंड डालने लगा. पर उसने मुझे माना कर दिया क्योकि पिछली बार उसके बॉय फ्रेंड ने उसे मा बना दिया था. इसलिए वो डर रही थी पर इस टाइम मेरे पास कॉंडम भी नही था. पर मुझे तो चूत मारनी थी तब उसने मुझे खा चूत नही तुम मेरी आज गान्द मार लो.
गांड मारलो सुन के मेरा लंड और ज़्यादा जोश से भर गया. और मैं फिर उसकी गांड और अपने लंड को आयिल से भर दिया. और फिर मैने उसकी गांड मारनी शुरू कर दी. उसकी गांड मे से खून निकल रा था पर मैने उसे इग्नोर किया और उसकी गांड मैं 30 मिनिट तक मरता रहा. उस दिन मैने उसकी गांड को 2 घंटे तक मारा.

फिर वो मेरे लंड की दीवानी हो गई. और अब वो खुद ही मेरे घर कॉंडम ले कर आती है. और मेरे लंड से अपनी चूत को अच्छे से चुदवा कर जाती है.