दोस्त की चाची की जमकर चुदाई

Chachi Chudai Kahani : सभी लंड धारियों को मेरा लंडवत नमस्कार और चूत की मल्लिकाओं की चूत में उंगली करते हुए नमस्कार। हेलो फ्रेंड्स मैं ज़हान फिर से चुदाई का नशा एसा सिर चड़ा है की क्या बतौ अब तो ज्ब भी किसी की गान्ड देख लेता हू तो लंड खड़ा हो जाता है मन करता है पीछे से ही गान्ड चोद दू.

मेरे बारे मे तो सब पता ही है अब मेरे दोस्त की चाची के बारे मे बताता हू नाम रोहिणी (नामे चेंज्ड) एज 30 होगी गोरी सेम हाइट बड़े बड़े बूब्स, बाहर निकली हुई गान्ड पतली सी कमर बस यू मान लो एक नंबर की माल है यार.

सीधा स्टोरी पे आता हू अब बात लास्ट मंत की है मैं अपने दादा के पास गया हुआ था , पास ही मे 4 मकान छोड़ कर मेरा फ्रेंड रहता है सुमित (नामे चेंज्ड) उसके घर मे उसके मम्मी पापा छोटी बेहन ओर चाचा चाची रहते है. उसके पापा गवर्नमेंट जॉब मे है मा टीचर है बेहन *** मे पढ़ती है ओर चाचा प्राइवेट कंपनी मे जॉब करते है, मेरा उसके घर मे आना जाना लगा हुआ रहता है उसकी चाची ओर मेरी खूब पटती है.

उस दिन उसके घर पे वो ओर उसकी चाची थे मैं उससे मिलने गया थोड़ी देर बाते करने के बाद उसके चाचा का कॉल आया तो वो उन्हे कोई फाइल देने गया. अब घर मे मैं ओर उसकी चाची थे, उसकी चाची मेरे लिए चाय बनाने गयी टाइट चूड़ीदार मे वो किसी बॉम्ब से कम न्ही लग रही थी, उसकी मटकती गान्ड ने मेरा लंड रोड की तरह खड़ा कर दिया.

थोड़ी देर बाद उसकी चाची ने मुझे आवाज़ लगाई ओर किचन मे बुलाया जब मैं पहुँचा तो वो सूट को कमर के पीछे से पकड़े हुई थी शायद कुछ चला गया था मैंने जब पूछा तो वो बोली” मेरी कमर के पीछे कुछ चला गया है निकाल उसे.

More Sexy Stories  गलती की सज़ा मजे में बदली

मैं बोला- मैं केसे निकालु इसके लिए तो मुझे हाथ अंदर डालना होगा.

“तो डाल लेना मैं कुछ थोड़े ही बोल रही हू तुझसे” रोहिणी ने जवाब दिया.

मेने अपना हाथ बिंदास उसके पीछे कमर मे डाल दिया ओर ये क्या उसने तो ब्रा भी न्ही पहनी हुई थी मेने भी मोके का पूरा फय्दा उठाया ओर हाथ इधर उधर फेरने लगा.

थोड़ी देर बाद उसने कहा- चल रहने दे हो गया , ओर एक सेक्सी स्माइल दी. पहले तो मैं कुछ न्ही समझा पर जब वो चाय लेकर आई तो साथ मे चाय पीने लगे.

तब वो बोली- इतने प्यार से अगर सहलाएगा तो मैं क्या कोई भी राज़ी हो जाएगी तेरे साथ.

उसकी ये बात सुनते ही मेने उसे पकड़ लिया ओर ज़ोरदार किस करने लगा क्या किस करती है वो यार क्या बतौ होंटो को पूरा चूस लिया उसने मेने भी अपनी जीभ उसके मूह मे डाल दी.

मेने दोनो हाथो से उसके बड़े बड़े बोबे मसलना शुरू कर दिया उसके कुर्ते के उपर से ही उसकी साँसे गरम होने लगी ओर उसके मूह से आआहह आआईइ ऊओह की आवाज़े निकलने लगी मैं भी उसका पूरा मज़ा ले रहा था मेने भी कोई जल्दी न्ही की ओर 20 मिनिट तक यही सब चलने दिया.

मेने उसका कुर्ता ओर अपनी टी-शर्ट निकाली ओर उसे कस के चिपका लिया उसकी निपल एकदम कड़क हो गयी मई उसे काटने लगा एक हाथ से उसका एक बोबा मसल रा था दूसरे हाथ से उसकी चूत सहला रा था पिजामा के उपर से ही उसका दूसरा बोबा मेरे मूह मे था.

आअहह क्या मज़ा आ रा था फिर उसने मुझे धक्का दिया ओर मेरे उपर चॅड गयी मेरे लंड को पॅंट से बाहर निकाला ओर उसे हिलने लगी आअहह मैं तो आँखे बंद किए हुए था.

More Sexy Stories  ट्यूशन की सबसे सेक्सी लड़की सुजाता की पार्क में चुदाई

फिर उसने खुद ही मुझे नंगा करके खुद भी नंगी हो गयी उसकी गुलाबी चूत मे एक भी बाल न्ही था मक्खन लग रही थी मैं तो जल्दी से 69 की पोज़िशन मे आ गया ओर उसकी चूत को चाटने लगा ओर मेरा पूरा लंड मूह मे ले रही थी किसी रंडी की तारह गले तक.

मेने उसकी चूत मे अपनी जीभ घुसा दी वो भी पूरा साथ दे रही थी मैं उसके चूत के दाने के साथ खेल रा था कभी इसे चाट्ता तो कभी उसे काटता. मूह चुदाई मे ही दोनो ने अपना अपना पानी एक दूसरे के मूह मे ही निकाल दिया. क्या मज़ा था यार उम्म्महा.

उसने फिर से मेरे लंड को खड़ा किया ओर मेरे सामने लेट गयी पहले तो मेने उसकी चूत मे उंगली की फिर अपना लंड उसकी चूत पे रगड़ने लगा वो तो पागल सी होने लगी ओर मिन्नते करने लगी- चोद दे यार अब ओर सहन न्ही हो रा कसम से आग लगी पड़ि है चूत को चोद देना.

उसे लगा मैं आराम से डालूँगा पर मेने बिना कोई रहम खाए अपना लंड घुसेड दिया जिससे वो एकडम से सकत हो गयी ओर चिल्लाने लगी रोने लगी- छोड़ दे मुझे न्ही चुदना तुझसे हरामी छोड़ दे मुझे बेह्न्चोद रंडी समझ रखा है क्या जो खुला खांचा मिलेंगा मदर्चोद निकाल इसे बाहर.

मेने भी उसके होंटो पे अपने होंठ रखाओर एक धक्का ओर लगाया अब पूरा लंड उसकी चूत मे था ओर चूत से खून निकलने लगा.

मेने पूछा तू सील पके तो न्ही है यो बोली इसके चाचा 3 महीने से न्ही चोदे है मुझे जब भी मैं मूड मे होती हू तो हरांखोर को वर्क का टेन्षन होता है भोसदिका चोदता ही न्ही है उपर से थोड़ी देर मज़े लेकर सो जाता है.

Pages: 1 2