दूसरी शादी पर पहली बीवी की चुदाई

हेलो दोस्तो, मै राजेंद्र एक बार फिर हाज़िर हू अपनी कहानी लेकर, जैसा की आप सब लोग जानते है की मेरे घर मे हम 5 लोग रहने लगे थे, मेरी बेटी रागिनी, मेरी बीवी किरण और अनु भाभी और उनकी बेटी नगीना.

जैसा की आप सब लोग मेरी पिछली स्टोरी “बीवी की जगह बेटी को पकड़ लिया” से जानते है की मुझे और मेरी बेटी को उस दिन अनु भाभी ने सेक्स करते हुए पकड़ लिया था और उनकी एक ही डिमांड थी की मैं उनके साथ शादी करू.

लेकिन मैं ऐसा कैसे करता, एक तो मेरी बीवी भी अभी मेरे साथ ही थी और उपर से दूसरी शादी वो भी उस औरत के साथ जिसको मैं भाभी मानता था.

पर अब मैं क्या करता, क्योकि अगर शादी न्ही करता तो वो मेरे और मेरी बेटी के बारे मे सब लोगो को बता सकती थी और इससे हमारी बहुत बदनामी होती.

अब मेरे और मेरी बेटी के सामने एक ही समस्या थी मेरी बीवी, क्योकि हम दोनो तो राज़ी थे, लेकिन अब मेरी बीवी को राज़ी करना था मेरी दूसरी शादी के लिए.

उस रात मैने भाभी को कहा की हमे कल रात तक का समय दो, मैं किरण से बात करता हू. किरण मेरी बीवी का नाम है.

अनु भाभी ने कहा की करता हू न्ही करना पड़ेगा, कल के बाद लोग मुझे बस राजेंद्र मेहरा के नाम से जानने चाहिए.

उसके बाद मैने उनसे पूछा की आपकी बेटी नगीना को अगर कोई ऑब्जेक्षन हुआ तो.

उन्होने कहा की न्ही होगा, उसे बाप जो मिल जाएगा.

उसके बाद जब सुबह हुई, तो मेने अपनी बेटी से बात की अब क्या करे तुम्हारी मा से कैसे कहे.

उसने कहा की आप तो सीधा बोल दीजिए की अगर मुझे दूसरी शादी करनी है अनु भाभी के साथ, अगर तुझे मंजूर हो तो ठीक, न्ही तो मैं तुम्हे तलाक़ दे दूँगा.

उसके बाद मैने अपनी बीवी को कहा की वो मेरे रूम मे आए.

More Sexy Stories  हब्बी ने नीशी को रंडी बनाया

उसके बाद लगभग 5 मिनिट के बाद वो मेरे रूम मे आई.

मैने कहा की गेट बंद करो मुझे तुमसे कुछ बात करनी.

उसने गेट बंद किया और पूछा की बोलिए क्या काम था?

मैने कहा की मैं दूसरी शादी करने जा रहा हू.

पहले तो उसे लगा की मैं मज़ाक कर रहा हू, फिर जब मैने एक बार फिर सीरियस्ली कहा की मैं दूसरी शादी करने जा रहा हू.

वो तो जेसे एक दम शॉक हो गयी और फिर रोने लगी और बोलने लगी, मेरे होते हुए आप दूसरी शादी कैसे करोगे, मैं भी देखती हू कैसे करोगे.

मैने कहा की ठीक है अगर तुम्हे मेरी बीवी बनकर रहना हो तो रहो और इस शादी के लिए तुम्हारी रज़ामंदी दो, या फिर मैं तुम्हे तलाक़ दे दूँगा.

उसने कहा की आप ऐसे कैसे तलाक़ दे देगे?

मैने कहा मैं तुम्हारे नाम कोर्ट मे केस करूँगा, मेरी बीवी का कॅरक्टर ठीक न्ही है तो कोर्ट को भी मुझे तलाक़ देने से रोकने का कोई कारण न्ही दिखेगा.

वो अब ज़ोर ज़ोर से रोने लगी.

मैने कहा की जल्दी बोलो हा या ना.

उसने कहा की समाज वाले क्या कहेंगे?

मेने कहा मुझे उन लोगो से कोई मतलब न्ही है, तुम बोलो हा या ना.

उसने कहा की रागिनी न्ही मानेगी.

मैने कहा की मैं उससे पहले ही पुच्छ चुका हू उसकी हा है.

उसने पूछा की किसके साथ शादी करोगे?

मैने कहा की अनु के साथ.

उसने कहा उस साली को शर्म नही आई, अभी तो उसका पति मारा है और दूसरी शादी करने के लिए राज़ी हो गयी.

मैने कहा की जल्दी कहो वरना जाओ मेरा घर छोड़कर.

उसने कहा की ठीक है मैं राज़ी हू.

फिर मैने अनु भाभी को और नगीना अनु भाभी की बेटी को और मेरी बेटी को बुलाया ताकि यह डिसकस कर सके की शादी कहा करनी है.

रागिनी ने कहा की हम लोग आज शाम को पंडित जी को घर पर बुलाकर ही शादी करते है ताकि हमारा पैसा भी खर्च ना हो ओर शादी भी हो जाए.

More Sexy Stories  मेरा कमीना दोस्त और बेवफा बीवी

सब लोगो ने हा मे सिर हिलाया और उसके बाद रागिनी ने कहा की मैं अपनी नयी मा को थोड़ा सजाकर दुल्हन बना कर लाती हू, मैं और नयी मा हम दोनो ब्यूटी पार्लर जा कर आते है, मैं सीधा शाम को ही इन्हे दुल्हन बनाकर ले आउंगी, तब तक आप भी तैयार हो जाना.

नगीना ने कहा मैं पंडित जी को बुलाकर लाती हू.

उसके बाद वो सब लोग चले गये ,अब घर पर मैं और किरण ही थे, उनके सबके जाने के बाद किरण ने गेट लगाया और मुझे कहा की जो आपने कहा वो मैने किया, लेकिन आप से मेरी एक विनती है की थोडा सा प्यार मुझे भी दीजिएगा, आपकी दूसरी शादी के बाद.

उसने कहा की आज आपको मेरे साथ सेक्स करना पड़ेगा वो भी अभी.

मैने कहा की न्ही मैं अब सीधा सुहागरात ही मनाउँगा

उसने कहा की प्लीज़ मेरी एक बात तो मान लीजिए प्लीज़ सिर्फ़ एक बार मेरी चूत मे आपका लंड डाल दीजिए प्लीज़, क्योकि यह पिछले 4 महीनो से आपका लंड लेने के लिए तरस रही है.

मैने कहा की ठीक है आज जो तुम बोलो अगले तीन घंटे तक मैं वही करूँगा.

उसने कहा की प्रॉमिस करो?

मैने कहा की प्रॉमिस करता हू.

उसने कहा की आपको आपकी बेटी की कसम खानी पड़ेगी.

मैने कहा की मैं अपनी बेटी की कसम ख़ाता हू अगले तीन घंटे तक जो तुम बोलो वही करूँगा.

उसके बाद उसने मेरे होंठो पर अपने होंठ, या यू कहु की वो गुलाब की पंखुड़ी रख दी जिसे मैं पिछले 26 साल से चूस रहा था.

Pages: 1 2