दोस्त की शादी, मेरी चाँदी 2

पहले यह भाग पड़ ले आप लोग दोस्त की शादी, मेरी चाँदी 

थॅंक योउ रीडर्स पहले पार्ट का रेस्पॉन्स काफ़ी अछा रहा. इसलिए मे कहानी का दूसरा पार्ट जल्दी लेकर आया. फर्स्ट पार्ट मे पढ़ा कैसे मई अपने दोस्त की शादी से पहले उसके गॅव आया. मेरा दोस्त एक भाभी से प्यार करता था.

वो शादी नही करना चाहता था. उनका मिलना कम हो गया. और उनकी बात अब मेरे ज़रिए होने लगी और मैने उन्हे झूठ बोला की जस्सी आज रात को आपसे मिलेगा. और उन्हे खुद चोदने के लिए बुलाया. अब कहानी आगे..

जैसा की आपको पता है मे रात को सबसे छिपता हुआ साहिबा भाभी क घर पहुचा. वाहा भेसो वाले कमरे मे भाभी का इंतेजार कर रहा था. मेरा भाभी को चोदने की सोचकर ही बुरा हाल था. लंड एक दम 16 तोपो की सलामी मार रहा था और दिल मे थोड़ा डर भी था.

क्योकि भाभी को मायने बोला था की जस्सी आएगा मिलने. मे ये सोच ही रहा था की शुरुआत कैसे करूँगा की तभी भाभी वाहा आई. अंधेरा काफ़ी था पर ये पता चल रहा था की उन्होने नाइटी पहन रखी है. वो मेरे पास आई और इससे पहले की मे कुछ बोलता.

उन्होने सीधा पाजामे के उपर से मेरे खड़े लंड को हाथ से पकड़ा और मेरे मूह से एक ज़ोर की सिसकी निकल गयी. वो मुझे अपनी तरफ खिचते हुए धीरे धीरे अंदर वाले रूम मे ले जाने लगी जहा तुडा(चारा) पड़ा हुआ था और दरवाजे को कुण्डी लगा दी. रूम मे बिल्कुल अंधेरा हो गया. मुझे बस भाभी और मेरी सासो की आवाज़ आ रही थी. जो काफ़ी तेज चल रही थी.

तभी भाभी ने वाहा लगे बल्ब को ऑन कर दिया. बल्ब की रोशनी काफ़ी कम थी. पर मुझे उस रोशनी मे जन्नत बिल्कुल सॉफ दिखाई दे रही थी. भाभी के लंबे काले बाल थोड़े भिकरे हुए से थे. भाभी की आँखें मेरी आँखो को ऐसे देख रही थी जैसे कह रही हो की लूट लो इस खजाने को.

More Sexy Stories  बस मे मिली भाभी की चुदाई

उनके होत और उनका तिल मेरी नज़र धीरे धीरे नीचे जा रही थी. क्या सेक्सी गर्दन थी उसपे थोड़े से पसीने और लोवे बाइट्स के गहरे निशान थे मानो किसी ने भाभी को काटने की कोशिश की हो.

मे अपने आप को रोक नही सका और भाभी को ढका मरके भाभी को वाहा दीवार पर चिपका दिया और अपने एक हाथ से भाभी की गर्दन के पीछे से पकड़ लिया बालो के पास. और भाभी की गर्दन चूमने लगा. कानो के नीचे सॉफ्ट वेल हिस्से को चूसने लगा. दाटो से दबा कर खिचने लगा.

दूसरा हाथ भाभी की गॅंड पे फिरने लगा. मुझे अहसास हुआ भाभी ने पनटी नही पहनी हुई. मेरा हाथ नाइटी के उपर से भाभी की गॅंड को सहला रहा था. कितनी मुलायम गॅंड थी उनकी. भाभी अपने एक हाथ से मुझे अपनी तरफ खिच रही थी और दूसरे से मेरे लोवर को नीचे कर रही थी.

मैने भी लोवर के नीचे कुछ नही पहना था मेरा लोवर थोड़ा नीचे होते ही भाभी ने अपनी एक टाँग उठाई और लोवर जोकि अभी थोड़ा ही नीचे हुआ था उसकी लस्टिक मे अटका दी.

टाँग उठाने के कारण उनकी झांघो तक की टांगे नाइटी के साइड के कट से बाहर नंगी निकल आई. भाभी बहोत गोरी थी. उन्होने अपनी टाँग को मुझसे रगड़ते हुवे मेरे पाजामे को बिल्कुल नीचे कर दिया.

अब भाभी ने अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ा और नाइटी के उपर से उसे अपनी चूत पर रख कर उपर नीचे रगड़ने लगी. भाभी एक अजीब तरीके की गर्मी पैदा कर रही थी. मे भाभी की गर्दन और बूब्स के उपर के हिस्से को ही चूस रहा था.

More Sexy Stories  अर्चना भाभी की चुदास और चूत चुदाई -1

फिर भाभी ने मेरे बाल को पीछे से पकड़ा और मेरा सिर उपर कर दिया और फिर अपनी जीभ को निकल कर मेरे पूरे चहरे पर फिरने लगी. मेरे होतो के पास. मेरी गर्दन के पास. और साथ साथ मेरा लंड अपनी चूत पर रग़ाद रही थी.

और फिर उन्होने मेरे होठ चूसे शुरू कर दिए. और अपनी जीभ मेरे मूह मे डाल दी. मैने अपने हाथ नाइटी के उपर से भाभी के बूब्स दबाने शुरू किए तो पता लगा की भाभी की ब्रा पहले से ही बूब्स के नीचे वाली जगह अटकी हुई है.

बूब्स ब्रा मे से बाहर निकले हुए है. थोड़ी देर ऐसे करने के बाद मे कंट्रोल नही कर सका और मेरा पहली बार भाभी की चूत पर रगड़ते हुए नाइटी पर ही निकल गया. मे थोड़ा शांत हुआ पर भाभी मुझे बुरी तरीके से किस कर रही थी.

उन्होने मेरी टी शर्ट निकालडी और फिर अपने हाथ से मेरे बालो को पकड़ते हुए मेरे मूह को बिल्कुल अपने पैरो के पास ले गयी और अपनी नाइटी को थोड़ा उपर उठाके मेरे सिर पर डाल दी. मैने उनकी लेग को किस करना शुरू कर दिया. वो मुझे धीरे धीरे उपर खिचने लगी.

मैं उनके घुटनो को किस करते हुए धीरे धीरे उपर आ रहा था. झंगो पर किस करते हुए मे उनकी चूत तक पहुचा और जैसे ही मैने पहली बार उनकी चूत को अपने होतो से छुआ उनकी सिसकारी निकल गयी. उनके पूरे शरीर मे एक अजीब सी कंपन पैदा हुई.

Pages: 1 2