दोस्त की मॉं नीता को चोदा

maa ki chudai in sex jodi dost ki maa neeta ko choda हेलो फ्रेंड्स, ये मेरी कहानी हैं कैसी मेरी और मेरे फ्रेंड की मा की चुदाई होगाई, आई एम फ्रॉम गुजरात एंड स्टडिंग इन कॉलेज, मेरे हाइट 5’8″ हैं, मैं देखने मैं भी ठीक हूँ एंड एवरेज फिट बॉडी एंड आई लाइक द भाभिस एंड आंटी मोर टू हॅव सेक्स दॅन न्यूली फर्स्ट टाइम, बिकॉज़ ऑफ दे आर वेल नोन बट नाउ आई वॉंट न्यू टाइट गर्ल्स और भाभी और आंटी टू हॅव सेक्स नेक्स्ट टाइम. मा की चुदाई इन सेक्स जोड़ी

सो नाउ लेट्स स्टार्ट स्टोरी..

तो मैं जब कॉलेज मे अड्मिशन लिया तब वाहा सब कुछ नया था बिकॉज़ मेरे सब पुराने दोस्त दूसरे कॉलेज मे अड्मिशन मिला था और मेरेको दूसरी कॉलेज मे, तो वाहा नये क्लास नये फ्रेंड्स भी बन चुके थे.

तो अब मेरा एक फ्रेंड था जो मेरे घर के करीब रहता था, तो मैं और मेरा दोस्त अब डेली साथ मे रहने लगे थे काफ़ी टाइम, कॉलेज से घर आके भी हम साथ मे रहते थे मीन्स घूमना, खाना, एट्सेटरा.

मेरे दोस्त का घर काफ़ी बड़ा था, उनके घर मे उनके मम्मी – डॅडी, एक छोटी बहन, अंकल आंटी,दादा दादी,और कज़िन्स थे, ओह मैं आपको बता दू मेरे दोस्त की मोम दिखने मे ठीक थी पर उनकी गॅंड एंड बूब्स बड़े थे, तो उसे देखके किसी का भी मन बन सकता हैं चुदाई करने का. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

तो मैं उनके घर भी आना जाना हो गया था कभी कभी लेट नाइट तक उनके घर मे होता हूँ, और कभी कभी उनके घर पे ही सो जाता था मेरे दोस्त का प्राइवेट बेडरूम था तो कोई प्राब्लम नही होती थी.

ऐसे ही कॉलेज के 2 ईयर ख़तम हो गये थे और अब मेरे दोस्त की मोम के साथ भी अछी पहचान हो गई थी, और फ्रेंड की मोम का नेम नीता आंटी था, तो नीता आंटी घर मे सलवार और कमीज़ पहनती थी और काम करते समय वो चुन्नी नही डालती थी.

More Sexy Stories  Bachpan Mai Maami Ki Chudai Ki

तो काफ़ी टाइम उनके बूब्स दिख जाते थे मुझे और मुझे बूब्स और गॅंड ज़्यादा आकर्षित करती है, तो मेरी नज़र उनके बूब्स के उपर चली जाती ऐसा बहूत बार चला और कई बार आंटी ने मुझे पकड़ भी लिया था, पर जॉइंट फॅमिली थी उनकी इसीलिए शायद कुछ कहती नही थी.

अब मेरा मन उनके प्रति बिगड़ने लगा अब मैं नीता आंटी को चोदना चाहता था और कई बार उनके बूब्स देखे और याद करके मूठ मार लिया करता था.

एक बार मेरे दोस्त के कमरे मे हम दोनो बैठे थे और मेरा दोस्त कुछ कामसे बाहर गया क्यूंकी उसके अंकल का फोन आया था, तो उसने बोला तू बैठ मैं 1 अवर्स मे वापस आता हूँ.

तो वो चला गया और नीता आंटी आई कमरे मे सॉफ सफाई करने और पोछा लगाने तो मैं बेडपर था और वो फ्लोर पे पोछा लगा रही थी झुकके तो उनके बूब्स आस युज्युअलि दिख रहे थे तो मेरे नज़र इनके बूब्स पर थी तो नीता आंटी ने मुझे देख लिया पर मुझे पता नही चला की उन्होने मुझे देख लिया हैं तो नीता ने मेरा नाम लिया और बुलाया तो जैसे उनके सामने देखा.

नीता आंटी – क्या देख रहे हो.

मैं – कुछ नही आंटी.

नीता आंटी – मुझे क्या पागल समझा हैं की कुछ समझ नही आता, रूको आने दो तुम्हारे दोस्त को शिकायत करती हूँ.

मुझे मालूम था की एसी कोई नही बोलता अपने फॅमिली मे जबकि मामला अपने आप सुलजता हो वो सिर्फ़ मुझे डराने के लिए बोल रही थी.

मैं – नही आंटी एसा कुछ मत करना आई एम सॉरी ऐसा दुबारा नही होगा.

नीता आंटी – इट्स ओहके कहके फिर से काम करने लगी.

More Sexy Stories  बहिणीची सील पेक पुच्ची

पर मैं कहा मानने वाला था मैं फिरसे उनके बूब्स देखने लगा.

आंटी ने फिर से मूझे पकड़ लिया.

नीता . – ऐसा क्या हैं मेरे बूब्स मे की कबसे तुम देखे जा रहे हो.(थोड़ा उँची आवाज़ में)

मैं – सॉरी आंटी सॉरी.

नीता आंटी – तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नही हैं क्या मुझे देखते हो.

मैं – नही आंटी एक गर्लफ्रेंड थी पर ब्रेकप हो गया अभी सिर्फ़ फ्रेंड्स हैं.

नीता आंटी – फिर मेरे साइड आके बैठी और बोली तुम मुझे देखते हो तो मुझे भी अजीब लगता हैं क्यूंकी मैं पिछले 7 – 8 साल से नही चुदि हूँ, तुम्हारे अंकल बिज़्नेस मे इतना बिज़ी हैं की हमारी चुदाई नही होती उपर से जॉइंट फॅमिली मे कुछ बोल भी नही सकती उनके साथ ज़्यादा कुछ.

मैं – (लाइन क्लियर मर्दे शॉट) आंटी अंकल भी ना बड़े मूर्ख हैं इतनी अछी पत्नी मिली हैं इतने आछे फिगर वाली उनको कोई फिकर नही, मैं होता तो कभी ऐसा नही करता बहूत प्यार करता आंटी अगर मैं आपका पति होता तो.

आंटी – नॅवूटी बड़े बदमाश हो तुम.

मैं – आंटी सच बता रहा हूँ, आपकी फिगर क्या मस्त हैं, और मैं दीवाना हो गया हू आपका, आंटी आई लव यू, ( उनकी नज़दीक जाके उनके हाथ पकड़ के और उन्हे देखते देखते बोल दिया)

आंटी भी एमोशनल हो गई और बोल दिया आई लव यू टू.

फिर क्या मैने आंटी के होंठ पे मेरे होंठ रख दिए और किस करने लगा आंटी भी साथ दे रही थी 10 मीं किस किया और आंटी, अलग हो गई और बोला की अभी नही.

मैं – क्यूँ आंटी क्या हुवा, कुछ ग़लत नही हैं.

आंटी – ऐसा नही कोई आ जाएगा सब घर पे हैं, और आंटी चली गयी जिस्म मे आग लगा के और आंटी भी जल रही थी.

Pages: 1 2