दीदी से प्यार हुआ

Didi Se Pyaar Hua हाय फ्रेंड्स, आज मैं आपको मेरे और मेरी दीदी के प्यार की कहानी बताना चाहता हू, मैं 20 साल का हू, मेरी दीदी 21 साल की है, हम अप्पर मिड्ल क्लास फॅमिली से है, घर मे पापा, मम्मी, मैं और मेरी दीदी 4 लोग रहते है.

घर मे किसी भी चीज़ की कोई कमी नही है, मैने आजतक मेरी दीदी जेसी सुंदर, टॅलेंटेड, सेक्सी लड़की नही देखी है, बचपन से लेकर आज तक मैं उनकी बहुत ही रेस्पेक्ट करता हू और हमेशा करता रहूँगा.

मुझे वो बहुत ही पसंद है, जैसे जैसे मैं बड़ा होता गया मैं उनकी तरफ आकर्षित होने लगा और धीरे धीरे उनसे प्यार हो गया, पर उनके साथ सेक्स करने की मैं कभी सोच भी नही सकता था, क्यूंकी इतनी उँची सोच वाली लड़की जो सबसे इतना प्यार करती है उनके साथ प्यार तो वोही कर सकता है जो खुद बहुत ही अछा इंसान हो.

एकदिन मैं क्रिकेट खेल कर आया तो मैने उन्हे सारी मे देखा, उन्होने ब्लू कलर की सारी पहनी थी, बाल खुले थे और कंधे पर लहरा रहे थे, उनकी आँखो मे अजीब सा तेज था, वो एकदम गॉडेस लग रही थी, मैने पूछा दीदी आप कही जा रही हो?

दीदी- हा आकाश, मेरे दोस्त की बिर्थडे पार्टी है, मैं वही जा रही हू, तू घर पे ही रहना, मम्मी बस अभी आती ही होगी.

मैं- ठीक है.

उस दिन मैने दीदी को देखा तबसे मुझे उनसे प्यार हो गया, मैने अपने मन को समझाने की बहोत कोशिश की, लेकिन मैं उनकी तरफ और आकर्षित होने लगा था,

उस दिन के बाद मेरी एक ही इछा थी- दीदी का प्यार पाना, उसके लिए मैं कुछ भी करने को तैयार था.

कुछ दिन बाद मेरे पेरेंट्स घर से बाहर गये थे, घर पे मैं और दीदी अकेले थे, वैसे दीदी पूरे दिन बिज़ी रहती थी, और मैं भी कॉलेज मे जाता था.

मम्मी भी घर पे होती थी तो मुझे दीदी के साथ अकेले ज़्यादा टाइम नही मिलता था, लेकिन आज अछा मौका था, मैं नीचे हॉल मे टीवी देख रहा था, दीदी वाहा आई.

More Sexy Stories  कामुकता क़हानिया दीदी के संग मस्तियाँ

मैं: दीदी, चलो कोई मूवी देखते है.

दीदी: ओके, कॉनसी स्वीटी?

दीदी की आदत थी की वो मुझे या फिर पेरेंट्स को हनी, स्वीटी कह कर बुलाती थी, खास कर मुझे, वो मुझे बहुत प्यार करती है.

मैने ज़ी सिनिमा पे देखा तो राउडी राथोड चल रहा था, मैने कहा चलो यही देखते है, वो सोफा पर आकर मेरे पास बैठ गयी.

फिल्म बस शुरू हुई थी, और थोड़ी देर मे अक्षय और सोनाकशी का रोमॅंटिक सीन आया, जब अक्षय कुमार सोनाकशी के पेट को छूता है, मैने ये सीन बहुत बार देखा था, लेकिन दीदी शायद पहली बार देख रही थी, वो थोड़ी एग्ज़ाइटेड हो गयी, पर कुछ बोली नही, कुछ देर बाद हमने लंच किया, मैं अपने रूम पर था, मैं आज दीदी को जी भरके प्यार करना चाहता था, पर समज मे नही आ रहा था कैसे करू?

मैं दीदी के रूम मे गया, वो कोई नॉवेल पढ़ रही थी, मैं उनके बेड पर बैठा.

मैं: दीदी, ये तो कोई लव स्टोरी की बुक लग रही है.

दीदी: नही आकाश ये तो बाइयोग्रफी है, इट’स नोट अ लव स्टोरी एट ऑल.

दीदी ने ज़्यादा रोमॅंटिक सीन्स नही देखे थे . उन्होने कोई लव स्टोरी पढ़ी थी, उन्हे प्यार का एहसास कभी हुआ ही नही था, इसीलिए वो आज टीवी पर रोमॅंटिक सीन देखकर एग्ज़ाइटेड हो गयी थी.

मैं: दीदी आप किसी से प्यार करती है?

दीदी: नही.

मैं: क्या आपको कभी प्यार का एहसास नही हुआ?

दीदी: नही हनी, आई वाज़ बिज़ी ऑल्वेज़.

उसके बाद मैं चला गया, मैं लगभग एक घंटा सोया अपने रूम मे, जब मैं हॉल मे आया तो वाहा का नज़ारा देख मैं चौंक गया, दीदी ने वोही ब्लू साड़ी पहनी थी जिसे देखकर मैं उनका दीवाना हो गया था, उन्होने कुछ ज्यूयेल्री भी पहनी थी, चूड़ियो की आवाज़ और ज्यूयेल्री की चमक मुझे और भी उत्तेजित कर रही थी, उन्होने मुझे देखा और मुझे बुलाया.

More Sexy Stories  कज़िन निशा की चुदाई

दीदी: देखना ज़रा ये साड़ी यहा कमर से ढीली है, मैं वाहा गया और साड़ी ठीक करने का ट्राइ करने लगा, तभी मुझे वो राउडी राथोड का सीन याद आया, मैं नीचे बैठा, दीदी का ध्यान साड़ी ठीक करने मे था, उन्हे लगा मैं भी साड़ी ठीक कर रहा हू, मैं नीचे बैठा और उनकी साड़ी पेट के उपर से ठीक कर रहा था, मैने धीरे से पेट के उपर से साड़ी हटा ली और वाहा पर एक किस कर दी.

अचानक हुए इस किस से दीदी चौंक गयी, और उन्होने मेरी तरफ देखा, मैं मौका खोना नही चाहता था, और नही उनसे बात करके मौका खोना चाहता था, मैं खड़ा हुआ और दीदी को गले लगा लिया, दीदी ने भी मेरे पीठ के पीछे हाथ लगा लिए, लेकिन उन्हे कुछ समझ मे नही आ रहा था की क्या हो रहा है.

तभी मैने दीदी के गले के पीछे के बाल हटाए और वाहा पर हल्के से किस किया और कहा आई लव यू दीदी, अब हम अलग हुए और पहली बार हमने एक दूसरे की आँखो मे देखा, मैं खुश था की दीदी ने अभी तक कुछ नही कहा, उन्हे पहली बार प्यार का एहसास हो रहा था, मैं उनके करीब गया, उन्होने अपनी आँखे बंद कर ली.

मैने उनके गले के पीछे हाथ डाला उनका सिर थोड़ा नीचे किया और उनके फोर्हेड पर किस किया और फिर गले लगा लिया, मैं अपने आप को बहुत ही लकी समझ रहा था की मैं अपनी दीदी से प्यार कर रहा हू, मैं उनसे रियल मे प्यार करता था, इसीलिए ये सेक्स सेक्स नही बल्कि प्यार और सेक्स का मिक्स फीलिंग था, मैं बस दीदी के प्यार मे डूब जाना चाहता था, एसा लग रहा था जैसे मैने पूरी दुनिया जीत ली हो.

Pages: 1 2