अनजानी जवान लड़कियों की कामुकता भरी गुलामी-2

अनजान जवान लड़कियों की कामुकता भरी गुलामी-1

अब तक आपने मेरी इस सेक्स स्टोरी में पढ़ा था कि तीनों लड़कियों ने मुझे फंसा लिया था और अब मैं उनके चंगुल में था.
अब आगे.
मैंने बोला- नहीं मैं अकेला ही रहता हूँ, लेकिन घर जाना चाहता हूँ.
तो उसने स्माइल दिया और बोली- चले जाना, हम कौन सा तुम्हें खा जाएँगे.
फिर मैं चुपचाप बैठा रहा और गाड़ी चलने लगी. लगभग बीस मिनट के बाद कार एक अपार्टमेन्ट तक आई, गाड़ी वहाँ अन्दर चली गई. मैं समझ गया ये इनका घर होगा.
उन्होंने बोला- चलो आज हमारे साथ रुक जाओ, कल घर चले जाना और अब प्लीज़ कोई बकवास मत करना वर्ना बहुत बुरा होगा. वैसे ही तुम बहुत पका चुके हो.
मैंने हाँ में सर हिला दिया. फिर मैं लिफ्ट से उनके साथ ऊपर गया. उनका घर 9वीं फ्लोर पर था. हम सभी घर के अन्दर गए. अन्दर जाने के बाद उन्होंने मुझसे बोला- नीचे कोने में बैठ कुत्ते. हम अभी आते हैं.
मैं साइड में बैठ गया. फिर लगभग 20 मिनट बाद वो तीनों आईं. उनको देख कर मैं शॉक्ड था. तीनों ने सिर्फ़ ब्रा-पेंटी पहनी हुई थी.क्या माल लग रही थीं तीनों.. बड़ी चुचियाँ लगभग 36 साइज़ की होंगी और तीनों की मस्त गांड थीं.
दो मिनट तक मैं देखता ही रह गया. उनके हाथ में एक कुत्ते का पट्टा भी था. एक लड़की ने वो पट्टा मेरे गले बाँध दिया और तीनों सोफे पे आराम से बैठ गईं. उन्होंने मुझसे कहा- तुम्हें बहुत बुरा लग रहा होगा लेकिन अगर तुम हमारे साथ सहयोग करोगे तो हम तुम्हारी लाइफ बना देंगी.
मैं कुछ नहीं बोला.
फिर उन्होंने कहा- चल मादरचोद यहाँ हमारे पास आके हमारे तलवे चाट.
मैंने पहली लड़की के तलवे चाटना शुरू किए.कोई 5 मिनट तक चाटने के बाद एकदम से उसने मेरे मुँह पे लात मारी और मैं नीचे गिर गया. फिर उन 2 लड़कियों ने मेरे मुँह पर थप्पड़ों की बारिश शुरू कर दी. मैं 10-12 तक तो गिन पाया, फिर भूल गया. मेरे गाल एकदम लाल हो गए थे. मेरी आँखों से आँसू निकल रहे थे और वो तीनों हंस रही थीं.
फिर एक लड़की ने बोला- चल नंगा हो जा.
मैं एक मिनट तक खड़ा रहा. तो उसने बोला- सुनाई कम देता है भोसड़ी के.जल्दी कर या और मारूं?
मैंने तुरंत अपने सारे कपड़े उतार दिए और एकदम नंगा हो गया. पहली बार किसी लड़की के सामने नंगा खड़ा था तो मेरा लंड तन गया.
मेरा लम्बा मोटा लंड देख कर एक लड़की ने बोला- अरे वाह क्या लंड पाया है, कसम से देख कर मजा आ गया.
तभी दूसरी बोली- आज इसे छोटा कर देते हैं.साले का ज़्यादा ही बड़ा है.
यह सुन कर मेरी हालत खराब हो गई. तभी एक लड़की ने बोला- नीचे लेट जा.
मैं फर्श पर लेट गया तो तीनों मुझे घेर कर खड़ी हो गईं. फिर एक तो मेरे ऊपर अपना पूरा वजन रख कर खड़ी हो गई, एक मेरी बाल्स को दबाने लगी और एक ने अपने तो मेरे मुँह पर अपनी गांड रख दी और चाटने को बोला.
मैं बिना कुछ कहे उसकी गांड चाटने लगा. मेरे बॉल्स पे लगातार लातें पड़ रही थीं जिससे मैं दर्द से कांप रहा था.
ये सब लगभग आधा घंटा तक चला.
फिर उन तीनों ने अपनी ब्रा पैंटी भी उतार दी. बला की खूबसूरत थीं वो सब.फिर एक अपनी गांड मेरे मुँह पे रख कर बैठ गई और बोली- चाट मादरचोद..
मैं उसकी गांड चाटने लगा, मुझे मजा आ रहा था. एक लड़की ने मेरी दोनों टांगें फैला दीं और मेरी गांड में उंगली डालने लगी. तीसरी लड़की मेरा लंड चूसने लगी.
अब मेरी हालत एकदम खराब हो चुकी थी. दो मिनट में ही मेरा लंड छूट गया, जिसको देख कर एक बार फिर से मेरे ऊपर लातों और थप्पड़ों की बरसात शुरू हो गई.
फिर उन तीनों ने मुझे बेडरूम में कुत्ते की तरह चलने को कहा. एक बोली- बेड पर लेट जाओ.
मैंने वैसा ही किया, फिर एक लड़की ने मेरे दोनों हाथ बेड के साइड से रस्सी से बाँध दिए, मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि मेरे साथ अब क्या होने वाला है.
एक लड़की मेरे मुँह पर अपनी गांड रख कर बैठ गई और मुझे चाटने को बोला. एक लड़की मेरे निप्पलों को काटने लगी और तीसरी वाली मेरे लंड को पागलों की तरह चूसने लगी. बीच-बीच में वो मुझे मारती और गालियाँ देती रहीं.
काफ़ी देर तक ऐसा होने के बाद मेरे साथ जो हुआ, मैं कभी सोच भी नहीं सकता था. जो लड़की मेरे मुँह पर बैठी थी वो मेरे मुँह पर ही पूरी झड़ गई और मुझसे अपना चुत रस चाटने को बोला. मैंने वैसा ही किया.
क्या मस्त टेस्ट था उसके चुत रस का. मजा आ गया.
फिर उन तीनों को पेशाब आई और उन्होंने मुझसे कहा कि तुम काफ़ी प्यासे हो गए हो और हम सब तेरे मुँह में ही मूतना चाहेंगे.
ये सुन कर मैं डर गया.
और उन्होंने धमकी दी कि मादरचोद यदि हमारा बेड खराब हुआ हो तुम्हारी खैर नहीं.
मैं और भी डर गया.
फिर एक-एक करके तीनों ने मेरे मुँह में मूता, मैंने बड़ी सावधानी से एक-एक ड्रॉप पी लिया.
अपनी लाइफ में पहले बार किसी का मूत पिया था. अजीब तो था लेकिन मुझे बहुत मजा आ रहा था.
उसके बाद उन्होंने मुझे बाथरूम में जाकर फ्रेश होने को बोला और कहा- अभी 15 मिनट का ब्रेक है..
सुबह के 5 बज चुके थे और ये सब थकने का नाम नहीं ले रही थीं.
फिर 15 मिनट बाद उन्होंने मुझे छत पर चलने को बोला, वहाँ काफ़ी कम जगह थी. उन्होंने मेरे पैर को हवा में करके सामने वाली विंडो में बाँध दिया और मेरे हाथ बाल्कनी की साइड से बाँध दिए. अब मैं एक तरह से हवा में लटका हुआ था. जैसे लोगों के गाडर्न में रस्सी वाला झूला होता है. मैं बिल्कुल भी अनुमान नहीं लगा पा रहा था कि अब क्या होने वाला है.
तभी एक लड़की ने मेरी गांड पर जोर-जोर से मारना शुरू किया और दूसरे ने मेरे मुँह पर.मैं दर्द से चिल्ला रहा था. कोई 15-20 मिनट तक मारने के बाद मेरा बुरा हाल था. फिर उन्होंने मुझे छोड़ा करीब 2 मिनट बाद मैंने नोटिस किया कि मेरे गांड पर एक लड़की कोई जैल लगा रही है. मेरी हवा खराब हो गए कि अब पता नहीं ये क्या करने वाली हैं.
तब एक लड़की मुस्कुराई और बोली- अबे गान्डू इतना मत सोच. अभी सब समझ आ जाएगा.
मैं डर गया.
कुछ देर तक जैल लगाने के बाद मुझे आराम फील हो रहा था लेकिन वो आराम नहीं, मेरे लिए हराम था. मुझे वहीं छोड़ कर वो अन्दर चली गईं. मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था. करीब 20 मिनट वो तीनों आईं. अब तक बाहर थोड़ी थोड़ी रोशनी हो गई थी तो कुछ लोग अपार्टमेन्ट में दिखने लगे थे. मेरी तो हालत खराब हो गई.ये शायद उन्हें भी सही नहीं लगा तो उन्होंने मुझे वहाँ से अन्दर ले जकर बेड पे लेटा दिया. और वैसे ही मेरे हाथ बाँध दिए. फिर दो लड़कियाँ मेरे पैर के पास आईं और मेरे पैर को काफ़ी फैला कर अपने हाथ से जोर से पकड़ लिया. तीसरी लड़की वहाँ नहीं थी, मेरी कुछ समझ नहीं आ रहा था.
तभी तीसरी लड़की वहाँ आई. उसने स्कर्ट पहना हुआ था, वो मेरे पास आई और अपनी पेंटी उतार कर मेरे मुँह में अन्दर तक भर दी और बोली- सुन बे मादरचोद ज़रा भी आवाज़ की ना तो समझ जाना.
मैंने हाँ में सिर हिला दिया. फिर उसने बाकी की दोनों लड़कियों को बोला- जाओ अन्दर जो रखा है पहन कर आओ.
वो अन्दर गईं और जब बाहर आईं तो उन्हें देख कर मेरी तो हालत खराब हो गई. उन्होंने बहुत बड़े बड़े साइज़ के डिल्डो वाले लंड लगाए हुए थे.
अब मैं समझ गया ये मेरी गांड मारने वाली हैं. ये सोच कर ही मेरी फट रही थी. फिर जो लड़की मेरे पास थी, उसने अपना स्कर्ट उतारा, मैं देख कर हैरान था कि उसने पहले से ही डिल्डो पहना हुआ था. फिर उसने अपना डिल्डो रूपी लंड मेरे मुँह में दे दिया और कहा- चूस इसे कुत्ते.
मैं नकली लंड चूसने लगा.
उसे काफ़ी देर चूसने के बाद 2 लड़कियों ने पहले के जैसे ही मेरे पैरों को फैलाया और तीसरी लड़की ने अपना डिल्डो में मेरी गांड में डालना शुरू किया. मेरी हवा खराब थी, मैं चिल्ला भी नहीं सकता था. पहले तो वो धीरे-धीरे अन्दर डालने की कोशिश कर रही थे. लेकिन एकदम से उसने बहुत तेज झटका मारा और पूरा लंड मेरी गांड में चला गया. मेरे मुँह से चीख निकल गई. इस पर सामने बैठे लड़की ने मेरे मुँह में अपना लंड दे दिया.और चूसते रहने को बोला.
फिर क्या था. वो तीनों बारी-बारी से मेरी गांड मारती रहीं. कम से कम 1 घंटा से ज़्यादा उन्होंने मेरी गांड मारी होगी.
अब लगभग सुबह के 7 बज रहे थे, तीनों ने मेरे मुँह में अपना चुत रस छोड़ा. और पूरा चाट जाने को कहा. मैंने वैसा ही किया.
फिर उन्होंने मुझे छोड़ा और कुछ खाने को दिया और एक ग्लास जूस भी दिया. फिर उन्होंने मेरा फोन नंबर अड्रेस सब नोट किया और बोला- देख जब भी हम बुलाएं तुझे आना पड़ेगा, अगर मना किया तो वो वीडियो कभी भी दिखा देंगे और हमारे पास तेरी गांड मारने का वीडियो भी है. तेरे ऑफिस में जाकर सबको दिखाएँगे कि तू गान्डू भी है.
तब से लगभग 2 साल तक मैं महीने में 5-6 बार उनका कुत्ता बनता रहा. और इस सबके बाद से मुझे अब औरतों का कुत्ता बने रहना ही पसंद है.

More Sexy Stories  चाची की जमकर चुदाई

Pages: 1 2