कज़िन साली की दिल्ली मे चुदाई

वापसी मे रिया मुझसे बोलने लग गई की चलो हम कोई मूवी देख कर आते है. तो मैने कहा की ज़रूर चलते है. पर फिर वो बोली की घर जा कर ड्रेस चेंज करके आएँगे तो हम घर आ गये. पर फिर हम कार मे नही बल्कि हुमने मेट्रो ट्रेन ली और ट्रेन मे चॅड गये.
मेट्रो ट्रेन मे काफ़ी भीड़ थी तो उसने मुझे अपने पीछे खड़े रहने को कहा था तो मैं वाहा ऐसे ही खड़ा रहा जिससे मेरा लंड उसकी गॅंड पर लग रा था और वो भी ये जान चुकी थी.
अब हम मूवी देखने पहुचे वहा गये तो वाहा पर सारी सीट बुक थी तो हमने 3डी देखनी पड़ी जिसमे हम अकेले ही होते है. मूवी देखने मे बहोट मज़ा आ रा था और उसमे लविंग सीन भी आ रहे थे जिसको देख कर मेरा मूड होने लग गया.

फिर हम घर आ गये तो उसने फिर से मुझे सब शॉट्स दिखाने को कहा जिसमे से एक उसने पसंद करी और फिर मेरे सामने वो पहन कर आ गई. तब तो मैं उसे देखता ही रह गया और ये देख कर तो मेरा लंड खड़ा का खड़ा ही रह गया.
अब वो मेरे पास आई और बोली की कैसे लग रही हूँ तो मैने उसे कहा की बहुत मस्त लग रही हो. ये कह कर मेरा हाथ अपने लंड पर चला गया जो की खड़ा हुआ था और मुझे काफ़ी देर से तंग कर रा था.

ये देख कर उसने मेरे लंड को पकड़ लिया और मैने उसके बूब्स को पकड़ लिया. अब मैने उसे अपनी बाहो मे भरा और किस करने लग गया. फिर मैने उसके कपड़े उतार दिए और वो अब मेरे सामने बिल्कुल नंगी थी और नंगी तो वो दिखने मे फटाका लग रही थी.

More Sexy Stories  कार मे की भाभी की चुदाई

फिर मैने भी अपने कपड़े उतार दिए और उसके हाथ मे लंड दे कर उसे चूसने को कहा तो वो मज़े से चूसने लग गई. करीब 10 मिनिट बाद मैने उसे बेड पर लेटया और उसे घोड़ी बना कर अपना लंड उसकी चूत पर रख दिया.
वो मज़े ले रही थी की मैने तभी ज़ोर के धक्के के साथ लंड अंदर घुसा दिया और वो चिल्लाने लग गई पर मैने उसकी कोई परवाह नही करी और चोदता ही चला गया. थोड़ी देर बाद अब वो भी मज़ा लेने लग गई थी की तभी मैने उसे थोड़ा और उपर उठाया और लंड को चूत मे उपर नीचे करते हुए लंड को निकल कर एक दम से गॅंड मे डाल दिया.

गॅंड मे लंड जाते ही उसकी आँखों से आँसू आने लग गये और वो रोने लग गई पर मैने तब भी कोई परवाह नही करी और उसे चोदता चला गया. फिर करीब 30 मिनिट की चुदाई के बाद हम दोनो का एक साथ निकल गया और फिर हमने एक साथ बातरूम मे शावर लिया.
अब मैं अक्सर उसके यहा आ कर उसे चोद देता हूँ और मज़े भी लेता हूँ,

Pages: 1 2