दीदी की चुदाई की घर पर

झिमीदीदी – (मेरे लंड को हाफ पॅंट उपर पकड़ कर थोड़ा मस्ल दिया और बोली) आजा बैठ, लेकिन तू यहाँ से जल्दी जाएगा, कोई हमे इस वक्त देखेगा यहाँ तो मर जाएँगे हम., क्यूंकी मे इससे दूध पीला रही हूँ, मेरा बूब्स बाहर है न तू क्या कर रहा है यहाँ, ये गड़बड़ है, चल जल्दी कर जो करना है.

वो मेरा लंड को पकड़ी थी वैसे ही न सहला रही थी उपर से, मेरा तो खड़ा हो गया था पूरा, उसने अपने बेटी का मूह थोड़ा हटाया न कहा””” ले चूस ले”, मैने उसकी ये बात सुनके जल्द ही उसकी बूब्स को मु मे ले लिया निपल को चूस्ता रहा न दूसरी हाथ से उसकी दूसरी बूब्स को दबाया, फिर उसने कहा चल अब, जल्दी कर.

फिर उसने मुझे कहा – मुना( दीदी मुझे मुना बुलाती थी) देख कोई आ जाएगे, जा अब.

मे गुसा हो के उठा तो उसने मेरा लंड पकड़ के कहा – मे हूँ, कहीं नहीं जा रही हूँ, जब जब मौका मिलेगा मे तेरे साथ हूँ रे बाबा एसा क्यूँ होता है( मेरा लंड पकड़ के, हाफ पॅंट के नीचे से हाथ डालके चड्डी के उपर से पकड़ कर ज़ोर ज़ोर से सहलाई), जा अब.

दोपहर को मैने वही किया जो पिच्छले दिन किया,हम सारे टीवी रूम मे थे.अब बिना डरे मे उसकी नाइटी के अंदर हाथ डाल दिया न ब्रा के उपर बूब्स दबाया, उसने उठके चारो ओर देखा, मेरे लंड पकड़ी पॅंट के उपर से, (( सारे एक तरफ थे मे और झिमीदीदी एंड मे,हम टोटल 5 थे हमे मिलाके बाकी तीन पूरे सो रहे थे, , मे दीवार को लगा हुआ था मेरे बगल मे झिमीदीदी,रूम बंद था अंदर से)) , ((( अब धीरे धीरे कान मे बोल रही थी)))::

More Sexy Stories  मौसी की लड़की को रगड़कर चोदा

झिमीदीदी – आज बहुत कुच्छ हो पाएगा, धीरे से बोली, (( मेरे तरफ गान्ड करी न पिच्चे की नाइटी उपर कर ली पनटी थोड़ा नीचे कर ली))

झिमीदीदी – आज जितना हो पाएगा चोदेगा तू मुझे,, धीरे से बोली कान मे(( मेरे लंड मसल रही थी))

झिमीदीदी – चल अब नीचे हो जा,

मे समझ नहीं पाया

मैं – क्या??

झिमीदीदी – मुना नीचे हो के मेरी गान्ड को चाट, मेरी चूत चाट, तू कुच्छ नहीं जानता है क्या.,

मैं – दीदी तुम तो मेरी गुरु हो, जब तक सिख़ाओगि नहीं मे केसे जानूंगा,

झिमीदीदी – चल चल जल्दी कर,

मे नीचे हो के दीदी की गान्ड को चाटा पहले, फिर छेद मे मेरा मुह डाल के चाटा, सूँघा क्या स्वाद था, दीदी अपनी गांद दबा रही थी मेरे मुह पर न हिला रही थी गान्ड को, मे तो पागलों की तरह चाट रहा था, चूत के अंदर जीब डाल दिया जितना हो पाया, झिमीदीदी उपर उछल रही थी,

तभी अचानक किसीने डोर नॉक किया, गुस्सा होके हमलोग ठीक हुए जल्दी, दीदी जाके खोली, दीदी के अंकल आए थे, सब उठके वहाँ जा रहे थे, बात चीत चली, दीदी और मे कुच्छ देर बाद बाते कर रहे थे केसे क्या करें.,

झिमीदीदी – अरे मे तुझसे ब ज़्यादा प्यासी हूँ तेरे लंड को मैने बचपन से चाहा है,

मैं – क्या शादी के बाद ब?

झिमीदीदी – अरे वो कुच्छ नहीं करता है काम के बाद आके सो जाता है, मे सोच रही थी तुझे केसे पटाउँ, पर तू खुद आगया, हम दोनो को मिलना था,

More Sexy Stories  मेरी मौसी ओर जवान बहन की चुदाई

झिमीदीदी – अरे मे जा रही हूँ कल, अपने घर

मैं – कुच्छ दिन और रुक जाओ ना

झिमीदीदी – अरे वो खाना बनाने केलिए उसके पास कोई नहीं है, (( कंपनी के क़ुअटेर्स मे रहती है मेरी दीदी))

मैं – निराश हो के, मेरा क्या होगा

झिमीदीदी – तेरे लिए एक खुश खबर सुनौउ

मैं – तेरी जिस्म मिल रही है तो बता नहीं तो मत बोल,

झिमीदीदी– अरे मेरा पति 5 दिन के बाद जा रहा है कंपनी के काम से बाहर 7 दिन के लिए, मे तुझे बुला लूँगी, अब खुश हे ना, मेरी चूत फाड़ देना और गान्ड ब, जो मर्ज़ी करना, मे तो तेरी हूँ.,

मैं – खुशी से नाचने लगा, दीदी आइ लव यू सो मच दीदी कल से 5 दिन हम वीडियो कॉल करेंगे, तेरा तो वहाँ कोई नहीं है पति कंपनी जाने के बाद, चूत गान्ड दूध सबकी दर्शन चाहिए मुझे हमेशा.,

झिमीदीदी – ओके,

मेरा लंड को चूसने के लिए दीदी एक जगह ढूँढ ली न मेरा लंड को एक रंडी की तारह चूसी सारा पानी पी ली,

नेक्स्ट पार्ट मे बतौँगा केसे मैने चोदा दीदी को,

Pages: 1 2 3