पड़ोसन आंटी की चोदन कहानी

तो मैं थोड़ी देर रूका और स्लो स्लो शॉट्स मारने लगा फिर जैसे ही आंटी नॉर्मल हुई मैने अपनी स्पीड बढ़ा दी और आंटी भी अब उछल ने लगी, अब हम जन्नत की सहर करने लगे थे.

मैं आंटी के बूब्स कभी कभी बाइट भी करता तो आंटी को और भी नशा चढ़ जाता था, आंटी बोलने लगी चोद इस रंडी को चोद चोद के भोस से भोसड़ा बना दे तो मेरा ज़ोर और भी बढ़ गया और मैं ज़ोर ज़ोर से शॉट्स मारने लगा, करीब 15 मिनिट्स बाद मैं तक गया तो मैं नीचे आया और आंटी को उपर बुला दिया.

आंटी ने मेरा लॅंड चूत मे डाला और उच्छल उच्छल कर चुदवाने लगी, उस टाइम आंटी 2 बार पानी छोड़ चुकी थी और मेरा निकलने वाला था तो मैने आंटी को कहा की मेरा निकलने वाला है.

तो आंटी ने कहा की अंदर मत छोड़ना तो मैने आंटी को नीचे उतारा और मेरा लॅंड उनके मूह मे दे दिया, आंटी ने मेरा लंड चूसने लगी और मैने सारा पानी उनके मूह मे डाल दिया, आंटी ने एक ज़ोर आआ भरी और मेरा सारा पानी पी गयी और मेरा लॅंड को चूस कर सॉफ कर दिया.

कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट सेक्षन मे ज़रूर लिखे, ताकि देसीकाहानी पर कहानियों का ये दौर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

थोड़ी देर हम नंगे ही बेड पर लेटे रहे और फिर आंटी घर का काम करने चली गयी और मैं उनके रूम मे सो गया और दोपहर के लंच के बाद हमने फिर से सेक्स चालू किया, उस दिन मैने आंटी को 4 बार चोदा.

More Sexy Stories  Docter Ne Maa Ki Chudai Ki

Pages: 1 2